Saturday, July 2, 2022
Homeदेश-समाज35 WhatsApp ग्रुप बैन, 10 गिरफ्तार: 'अग्निपथ' पर फेक न्यूज फैलाने वालों पर सख्त...

35 WhatsApp ग्रुप बैन, 10 गिरफ्तार: ‘अग्निपथ’ पर फेक न्यूज फैलाने वालों पर सख्त हुई मोदी सरकार, सोशल मीडिया पर बनी है नजर

मोदी सरकार ने 'अग्निपथ' योजना के बारे में फर्जी जानकारी फैलाने वाले 35 व्हॉट्सएप ग्रुप को प्रतिबंधित कर दिया। वहीं कुल 10 लोग अब तक स्कीम पर झूठी जानकारी प्रसारित करने और युवाओं को भ्रमित करने के आरोप में गिरफ्तार भी किए गए हैं।

मोदी सरकार ने रविवार (19 जून 2022) को ‘अग्निपथ’ योजना के बारे में फर्जी जानकारी फैलाने वाले 35 व्हॉट्सएप ग्रुप्स को प्रतिबंधित कर दिया। वहीं कुल 10 लोग अब तक सरकार की नई स्कीम पर झूठी जानकारी प्रसारित करने और युवाओं को भ्रमित करने के आरोप में गिरफ्तार भी किए गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स में टेलिकॉम मंत्रालय के हवाले से बताया गया कि केंद्र सरकार ने लोगों को आगाह किया है कि ऐसी भ्रांतियाँ फैलाने वालों पर कार्रवाई होगी। फिलहाल अभी 50 के करीब व्हॉट्सएप ग्रुप को भी खंगाला जा रहा है। गृह मंत्रालय ने सूचना दी कि केंद्र ने व्हॉट्सएप फैक्ट-चेकिंग के लिए 8799711259 नंबर को जारी किया है।

गौतमबुद्ध नगर कमिश्नरेट की ओर से प्रदर्शन की आड़ में शांति व्यवस्था भंग करने का प्रयास करने वाले असामाजिक तत्वों को कड़ी चेतावनी दी गई है। अपर पुलिस उपायुक्त कानून एवं व्यवस्था आशुतोष द्विवेदी ने कहा कि उन्हें सोशल मीडिया से पता चल रहा है कि 20 जून को कुछ असामाजिक तत्व भारत बंद और दिल्ली कूच करने के नाम पर कानून व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास कर सकते हैं। गौतमबुद्ध नगर में धारा 144 लागू है। अगर फिर भी किसी ने कानून व्यवस्था को बिगाड़ने की कोशिश की तो उसके विरुद्ध कार्रवाई होगी।

मालूम हो कि यूपी के सहारनपुर से पुलिस ने 5 लोगों को पकड़ा था। ये लोग सरकार की नई योजना के खिलाफ युवाओं को भड़काने का काम कर रहे थे। हालाँकि जब पुलिस ने इन्हें पकड़ा और अपनी जाँच की तो पाया कि ये लोग किसी राजनीतिक दल से संबंधित थे।

बता दें कि अग्निपथ योजना का सबसे ज्यादा विरोध बिहार में देखने को मिला था। ऐसे में बिहार सरकार ने 17 जून को सुरक्षा लिहाज से व झूठी जानकारी को फैलने से रोकने के लिए 12 जिलों में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया था। इसके अलावा पकड़े गए प्रदर्शनकारियों के मोबाइल फोन की जाँच में पाया था कि इन प्रदर्शनों में कोचिंग सेंटर्स की भी भूमिका है

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe