Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजराजस्थान में 'वन्दे भारत' को पलटाने की साजिश: पटरियों के बीच रखे पत्थर, लोहे...

राजस्थान में ‘वन्दे भारत’ को पलटाने की साजिश: पटरियों के बीच रखे पत्थर, लोहे की रॉड और लकड़ियाँ, पत्थर न गिरें इसका भी किया था इंतजाम

हालाँकि, पटरी पर नजर रखने के कारण लोको पायलट ने सही समय पर ट्रेन रोक दी और हादसा होने से बच गया। लोको पायलट ने ट्रेन रोक कर रेलवे के अन्य स्टाफ को सूचना दी और पटरी पर से पत्थर हटवाए।

राजस्थान के भीलवाड़ा में उदयपुर से जयपुर के बीच चलने ‘वन्दे भारत’ एक्सप्रेस को पटरी से पलटाने की साजिश का खुलासा हुआ है। ‘वन्दे भारत’ एक्सप्रेस के आने से पहले पटरी पर पत्थर, लोहे की रॉड और लकड़ियाँ रख कर इसे पलटने की साजिश की गई थी।

उदयपुर से जयपुर के बीच चलने वाली ‘वन्दे भारत’ सोमवार (2 अक्टूबर, 2023) को सुबह 7:50 पर उदयपुर से रवाना होकर दोपहर 2:10 मिनट पर जयपुर पहुँचती है। यह ट्रेन भीलवाड़ा दिन में 10:20 बजे पहुँचती है। इसी समय ट्रेन की पटरी पर यह पत्थर पाए गए। वीडियो में देखा जा सकता है कि ‘वन्दे भारत’ एक्सप्रेस रुकी हुई है और रेलवे के कर्मचारी पटरी पर से पत्थर हटा रहे हैं। पटरी पर कई जगह एक के ऊपर एक कई पत्थर रखे गए हैं। इस वजह से ‘वन्दे भारत’ एक्सप्रेस पत्थरों के हटने तक खड़ी रही।

ट्रेन के चलने के कारण पटरी पर होने वाले कम्पन के कारण पत्थर नीचे ना गिरे इसके लिए भी साजिशकर्ताओं ने इंतजाम किया था। ऐसी जगह पर पत्थर रखे गए थे जहाँ दो पटरियाँ आपस में मिलती हैं। इन पटरियों के बीच में लोहे की रॉड लगा कर पत्थर रखे गए थे जिससे ट्रेन इसके ऊपर चढ़े और पलट जाए।

हालाँकि, पटरी पर नजर रखने के कारण लोको पायलट ने सही समय पर ट्रेन रोक दी और हादसा होने से बच गया। लोको पायलट ने ट्रेन रोक कर रेलवे के अन्य स्टाफ को सूचना दी और पटरी पर से पत्थर हटवाए।

इस ट्रेन को 24 सितम्बर को ही चलाया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिन 9 वन्दे भारत ट्रेनों को एक साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हरी झंडी दिखाई थी, उनमें से एक यह भी थी। यह राजस्थान की चौथी ‘वन्दे भारत’ एक्सप्रेस है। इस घटना पर अभी तक रेलवे ने कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। हालाँकि, रेलवे पुलिस को इस मामले की जाँच के लिए लगाया गया है। इससे पहले भी देश भर में ‘वन्दे भारत’ एक्सप्रेस ट्रेनों पर कई बार पत्थर फेंके जा चुके हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर के डोडा में 4 जवान बलिदान, जंगल में छिपे थे इस्लामी आतंकवादी: हिन्दू तीर्थयात्रियों पर हमला करने वाले आतंकी समूह ने ली जिम्मेदारी

जम्मू कश्मीर के डोडा में हुए आतंकी हमले में एक अफसर समेत 4 जवान वीरगति को प्राप्त हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स ने ली है।

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -