Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजइस्लाम कबूलने के बाद भी नसरीन ने किया हिन्दू नाम का इस्तेमाल, वसीउद्दीन को...

इस्लाम कबूलने के बाद भी नसरीन ने किया हिन्दू नाम का इस्तेमाल, वसीउद्दीन को जेल भिजवाया: शिकायत दर्ज, शौहर भी ‘नवीन’ बन करोड़ों की लेन-देन करता है

बलरामपुर जिले में लगभग 7 साल पहले इस्लाम कबूल कर चुकी एक महिला द्वारा हिन्दू नाम से FIR दर्ज करवाने का मामला सामने आया है। यहाँ पर साल 2015 में नीतू से नसरीन बन चुकी महिला ने अपने पूर्व नाम से एक व्यक्ति पर केस दर्ज करवा कर उसे जेल भिजवा दिया है।

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में लगभग 7 साल पहले इस्लाम कबूल कर चुकी एक महिला द्वारा हिन्दू नाम से FIR दर्ज करवाने का मामला सामने आया है। यहाँ पर साल 2015 में नीतू से नसरीन बन चुकी महिला ने अपने पूर्व नाम से एक व्यक्ति पर केस दर्ज करवा कर उसे जेल भिजवा दिया है। वहीं पुलिस ने अपनी जाँच आख्या में नीतू के नसरीन बनने का भारत में कोई प्रमाण न होने की जानकारी दी है और केस को कोर्ट में विचाराधीन बताया है।

नीतू ने कबूला इस्लाम, पति को भी मुस्लिम बनाया

यह मामला उतरौला बाजार के गैंडास बुजुर्ग थाना क्षेत्र का है। यहाँ पर नसरीन अपने शौहर जमालुद्दीन और एक नाबालिग बेटी के साथ छांगुर पीर नाम के व्यक्ति के साथ रहती है। नसरीन मूल रूप से मुंबई की रहने वाली बताई जा रही है। एक इंटरव्यू में नसरीन ने बताया कि वो सिंधि समाज की थी और दुबई में रह कर एकाउंटिंग सेक्टर में नौकरी करती थी। वहाँ पर वो कैब के स्टीरियो में कुरान की आयतें सुनती थी जिसके बाद उसने पूरे परिवार सहित इस्लाम कबूल कर लिया। अपने इस फैसले में नसरीन ने अपने शौहर जमालुद्दीन की भी सहमति बताई है जिनका पूर्व का नाम नवीन था।

इसी वीडियो में नसरीन का दावा है कि उन्होंने उमराह भी कर लिया है। इस्लामी विद्वान महताब उस्मानी ने ऑपइंडिया को बताया कि उमराह कोई गैर मुस्लिम नहीं कर सकता और उसके पहले सऊदी के अधिकारी बाकायदा कागजातों की मुकम्मल जाँच करते हैं। ऐसे में यह सवाल अनुत्तरित है कि नसरीन ने किस प्रमाण पत्र से उमराह किया होगा। वीडियो में नसरीन का कहना है कि वो मुंबई के वर्सोवा दरगाह पर बलरामपुर के छांगुर पीर से मिली थीं जिनके साथ वो उतरौला चली आईं।

उत्तर प्रदेश के उतरौला में ही नसरीन ने 4 मई 2021 को एक घोषणा पत्र बनवाया जिसमें उन्होंने खुद, अपने शौहर और अपनी बेटी के मुस्लिम बन जाने की बात स्वीकार की है। इस घोषणा पत्र में नसरीन ने एक फार्म हाउस भी बनवाने की जानकारी दी है हालाँकि इंटरव्यू वाले वीडियो में वो अस्पताल बनवाने की बात कह रहीं हैं। इसी के साथ नसरीन ने मार्च 2022 में एक शपथ पत्र भी बनवाया है जिसमें उन्होंने साफ़ तौर पर लिखा है कि भविष्य में उन्हें नसरीन नाम से ही जाना जाए और उनका पूर्व नाम नीतू से कोई वास्ता नहीं होगा। ऑपइंडिया के पास शपथ और घोषणा पत्रों की कॉपी मौजूद है।

इन घोषणाओं के बावजूद 17 सितम्बर 2022 को नसरीन बलरामपुर जिले के गैंड़ास बुजुर्ग थाने में नीतू नाम से एक FIR दर्ज करवाती हैं। इस FIR में नीतू के पति जमालुद्दीन का नाम नवीन बताया गया है। जबकि नवीन भी साल 2015 में इस्लाम कबूल कर के जमालुद्दीन बन चुके हैं। FIR में करोड़ों रुपए के फेर-फेर का आरोप लगाते हुए वसीउद्दीन नाम के व्यक्ति को आरोपित किया जाता है। पुलिस ने यह केस IPC की धारा 406, 342, 504 और 506 के तहत दर्ज किया। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है बाद में केस में धाराएँ बढ़ा कर जिला पंचायत वसीउद्दीन को जेल भेज दिया जाता है।

इस बीच वसीउद्दीन की बीवी ने उच्च अधिकारियों को शिकायत के कर नसरीन पर नीतू नाम से केस दर्ज करवाने और अधिकारियों को गुमराह करने का आरोप लगाया है। पुलिस को दी गई शिकायत में वसीउद्दीन की पत्नी सितारा बेगम ने नसरीन पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद है। पांचजन्य के पत्रकार शिवम दीक्षित ने संबंधित प्रमाणों की कॉपी के साथ बलरामपुर पुलिस को इस बावत एक ट्वीट किया। जवाब में बलरामपुर पुलिस ने 20 जनवरी 2023 को बताया कि उनकी आख्या के मुताबिक नीतू के इस्लाम कबूलने का कोई भी प्रमाण भारत सरकार द्वारा जारी नहीं हुआ है। इसी के साथ पुलिस ने बताया कि धर्म बदलने के संबंध में कोर्ट में केस दाखिल है।

सितारा बेगम ने शुक्रवार (20 जनवरी 2023) को पुलिस को भेजी गई अपनी शिकायत में यह भी बताया है कि नसरीन के शौहर जमालुद्दीन भी जालसाजी में शामिल हैं। उनका कहना है कि जमालुद्दीन अपने बैंक खातों को नवीन नाम से संचालित करते हैं जिसमें करोड़ों रुपए का टर्न ओवर होता रहता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -