Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजBC ही रहेगा AAP विधायक अमानतुल्लाह खान: हाईकोर्ट ने 'बैड कैरेक्टर' टैग हटाने से...

BC ही रहेगा AAP विधायक अमानतुल्लाह खान: हाईकोर्ट ने ‘बैड कैरेक्टर’ टैग हटाने से किया इनकार, कहा- दिल्ली पुलिस के DCP से मिलो

भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ACB ने सितंबर 2022 में दिल्ली वक्फ बोर्ड भर्ती में कथित अनियमितताओं के आरोप में खान को गिरफ्तार किया था। इसी सिलसिले में उनके ठिकानों पर छापेमारी भी की गई थी। छापेमारी के दौर खान के सहयोगियों के यहाँ से लाख रुपए कैश और बिना लाइसेंस वाला हथियार बरामद किया गया था।

दिल्ली के आम आदमी पार्टी (AAP) विधायक अमानतुल्लाह खान (Amanatullah Khan) को दिल्ली पुलिस ने ‘बैड कैरेक्टर’ (Bad Character) करार दिया था। इस टैग को हटाने के लिए अमानतुल्लाह खान दिल्ली हाईकोर्ट पहुँचे थे, जहाँ गुरुवार (19 जनवरी 2023) को उनकी याचिका खारिज कर दी गई।

न्यायमूर्ति सुधीर कुमार जैन ने फैसला सुनाते हुए कहा कि संबंधित पुलिस उपायुक्त ने विधायक के खिलाफ कार्रवाई के समर्थन में कारण बताए हैं। इसके साथ ही न्यायाधीश ने कहा कि खान अगर चाहें तो दिल्ली पुलिस को इस टैग को हटाने के लिए संपर्क कर सकते हैं और इस संबंध में ज्ञापन सौंप सकते हैं। मामले में सुनवाई पूरी करने के बाद न्यायाधीश ने अक्टूबर 2022 में फैसला सुरक्षित रख लिया था।

खान के वकील एम सूफियान सिद्दीक़ी ने दावा किया है कि अधिकारियों ने इस मामले में पूरी तरह से गलत तरीके से काम किया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि हिस्ट्रीशीट एक गोपनीय दस्तावेज होता है, लेकिन प्रतिद्वंदी पार्टी के प्रवक्ता ने खान की छवि खराब करने के लिए इसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। वहीं, सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस ने तर्क दिया कि इस पूरे मामले में संबंधित अधिकारियों ने उचित प्रक्रिया का पालन किया है।

आपको बता दें कि दिल्ली के जामिया नगर पुलिस स्टेशन ने 28 मार्च 2022 को ओखला विधानसभा के आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को ‘बैड कैरेक्टर’ घोषित करने का प्रस्ताव भेजा था। प्रस्ताव को 30 मार्च 2022 को मंजूरी दे दी गई थी। प्रस्ताव में कहा गया था कि खान के खिलाफ विभिन्न मामलों में 18 एफआईआर दर्ज हैं।

उल्लेखनीय है कि शाहीन बाग़ और मदनपुर खादर में MCD द्वारा चलाए गए अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान AAP विधायक अमानतुल्लाह खान ने हंगामा किया था। पुलिसकर्मियों का आरोप लगाया था कि इस हंगामे के दौरान उन पर पथराव भी किया गया था।

पुलिस ने अमानतुल्लाह खान को इस मामले में मुख्य आरोपी बनाते हुए केस दर्ज किया था। विधायक की गिरफ्तारी भी हुई थी। हालाँकि, बाद में साकेत कोर्ट से उन्हें जमानत मिल गई थी। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप में अमानतुल्लाह को BC (बैड कैरेक्टर) घोषित कर दिया था।

वहीं खान को सितंबर 2022 में भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ACB ने दिल्ली वक्फ बोर्ड भर्ती में कथित अनियमितताओं के आरोप में गिरफ्तार किया था। इसी सिलसिले में उनके ठिकानों पर छापेमारी भी की गई थी। छापेमारी के दौर खान के सहयोगियों के यहाँ से लाख रुपए कैश और बिना लाइसेंस वाला हथियार बरामद किया गया था। हालाँकि 1 लाख रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -