Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजपोते के लिए दवा लेने निकले थे भोला बाबा, 'बॉर्डर' पार करते ही 200...

पोते के लिए दवा लेने निकले थे भोला बाबा, ‘बॉर्डर’ पार करते ही 200 दंगाइयों ने घेरकर मार डाला

24 फरवरी की रात लगभग 10:30 बजे विनोद अपने बेटे मोनू के साथ पोते के लिए दवाई लेने निकले। माहौल तनावग्रस्त था। फिर भी कुछ ही दूरी पर स्थित कल्याण मेडिकल स्टोर तक जा कर दवा लाने में कोई खतरा नहीं था। लेकिन जो हुआ वह किसी ने नहीं सोचा था।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हिन्दू विरोधी दंगों में मजहबी हिंसक भीड़ ने निर्मम तरीके से हत्या की घटनाओं को अंजाम दिया। आईबी के अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट निर्ममता की पुष्टि करते हैं। दिलबर नेगी को हाथ-पैर काट आग में झोंक दिया गया था। अब तक जो तथ्य उभरकर सामने आए हैं वे इन दंगों के पूर्व सुनियोजित होने का इशारा करते हैं। दंगाइयों के हाथों मारे गए लोगों में से एक नाम विनोद कश्यप का भी है। ब्रह्मपुरी में उनकी हत्या की गई थी। इस घटना का विडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

दंगा प्रभावित इलाकों का दौरा कर एक फैक्ट फाइंडिंग टीम ने रिपोर्ट तैयार की है। इस टीम में सुप्रीम कोर्ट की वकील मोनिका अरोड़ा, दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामलाल आनंद कॉलेज के इंग्लिश डिपार्टमेंट में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. प्रेरणा मल्होत्रा, मिरांडा हाउस में असिस्टेंट प्रोफेसर सोनाली कानिटकर, पीजीडीएवी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. श्रुति मिश्रा तथा असिस्टेंट प्रोफेसर दिव्यांशा शर्मा शामिल हैं। इस टीम ने अपनी रिपोर्ट में कई सुझाव दिए हैं। साथ ही कई घटनाओं का ब्यौरा दिया है। रिपोर्ट में विनोद कश्यप की जघन्य हत्या के बारे में भी विस्तार से बताया गया है।

इसके मुताबिक विनोद कश्यप की ब्रह्मपुरी की गली नंबर 1 में मजहबी भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। उनका बेटा मोनू उस जिहादी उन्मादी बर्बर भीड़ के हमले में बच गया था। कश्यप डीजे का काम करते थे। तमाम मुश्किलों से पार पा एक खुशहाल जिंदगी जी रहे थे। वे हर साल काँवड़ लेकर जाते थे। इसके कारण परिवार और दोस्तों के बीच ‘भोले बाबा’ के नाम से जाने जाते थे।

24 फरवरी की रात लगभग 10:30 बजे विनोद अपने बेटे मोनू के साथ पोते के लिए दवाई लेने निकले। माहौल तनावग्रस्त था। फिर भी कुछ ही दूरी पर स्थित कल्याण मेडिकल स्टोर तक जा कर दवा लाने में कोई खतरा नहीं था। लेकिन जो हुआ वह किसी ने नहीं सोचा था। एक पत्थर आकर विनोद के बेटे मोनू को लगी और बाइक स्लिप कर गई।

सड़क पर मृत पड़े विनोद कश्यप और उनके बेटे के सिर पर लगे टॉंके (साभार: GIA फैक्ट फाइंडिंग रिपोर्ट)

बाप-बेटे के गिरते ही अल्लाह हू अकबर के नारे लगाती 200 लोगों की भीड़ ने उनको घेर लिया। भीड़ ने विनोद कश्यप और उसके बेटे मोनू कश्यप को तब तक पीटा जब तक विनोद की मौत नहीं हो गई। मोनू मरने का नाटक कर बच निकला। सोशल मीडिया के वायरल विडियो में विनोद के शव को घसीटती हुई भीड़ साफ़ नजर आती है। भोले बाबा का शव सड़क पर घसीटा जा रहा था! इस घटना को याद करते ही मोनू की जख्म से लाल हुई आँख से आँसू बहने लगते हैं। मोनू के सिर पर कम से कम 40 घाव हैं। सोशल मीडिया में आई तस्वीरों में खून से लथपथ मोनू मृत पड़े अपने पिता को जगाने के लिए झकझोरता नजर आया था।

टीम ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि इस घटना को लेकर उनलोगों ने काफी विस्तार से स्थानीय लोगों से बात की। उस सड़क को भी देखा जहॉं विनोद कश्यप की पीट पीट कर हत्या कर दी गई थी। स्थानीय लोगों ने टीम को ​बताया कि विनोद ने उस दिन बस एक गलती कर दी थी। वे वजीराबाद इलाके के उस रेखा को लाँघ गए थे जो समुदाय विशेष के लिए ‘बॉर्डर’ है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsश्याम चाय वाला, श्याम सहनी, श्याम सहनी बैंक डिटेल, सुब्रमण्यम स्वामी ट्वीट, सुब्रमण्यम स्वामी ताहिर हुसैन, सुब्रमण्यम स्वामी अंकित शर्मा आईबी, दिल्ली हिंसा, शिव विहार, शिव विहार चौक, Shiv Vihar, दंगाई भीड़, दिल्ली शिव विहार, दिल्ली दंगे चश्मदीद, दिल्ली हिंसा चश्मदीद, दिल्ली हिंसा महिला, दिल्ली दंगों में कितने मरे, दिल्ली में कितने हिंदू मरे, मोहम्मद शाहरुख, जाफराबाद शाहरुख, शाहरुख फरार, ताहिर हुसैन आप, ताहिर हुसैन एफआईआर, ताहिर हुसैन अमानतुल्लाह, चांदबाग शिव मंदिर पर हमला, दिल्ली दंगा मंदिरों पर हमला, दिल्ली मंदिरों पर हमले, मंदिरों पर हमले, चांदबाग पुलिया, अरोड़ा फर्नीचर, ताहिर हुसैन के घर का तहखाना, अंकित शर्मा केजरीवाल, अंकित शर्मा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का परिवार, अंकित शर्मा के पिता, अंकित शर्मा के भाई अंकुर, दिल्ली शाहदरा, शाहदरा दिलबर सिंह, उत्तराखंड दिलवर सिंह, दिल्ली हिंसा में दिलवर सिंह की हत्या, रवीश कुमार मोहम्मद शाहरुख, रवीश कुमार अनुराग मिश्रा, रतनलाल, साइलेंट मार्च, यूथ अगेंस्ट जिहादी हिंसा, दिल्ली हिंसा एनडीटीवी, एनडीटीवी श्रीनिवासन जैन, एनडीटीवी रवीश कुमार, रवीश कुमार प्राइम टाइम, रवीश कुमार दिल्ली हिंसा, दीपक चौरसिया एनडीटीवी, NDTV के पत्रकार पर हमला, दिल्ली हिंसा में कितने मरे, दिल्ली दंगों में मरे, दिल्ली कितने हिंदू मरे, दिल्ली हाईकोर्ट, जस्टिस मुरलीधर, जस्टिस मुरलीधर का तबादला, दिल्ली हाई कोर्ट जस्टिस मुरलीधर, दिल्ली हाई कोर्ट कपिल मिश्रा, दिल्ली दंगों में आप की भूमिका, आप पार्षद ताहिर हुसैन, आप नेता ताहिर हुसैन, ताहिर हुसैन वीडियो, कपिल मिश्रा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का भाई, आईबी कॉन्स्टेबल की हत्या, अंकित शर्मा की हत्या, चांदबाग अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली हिंसा विवेक, विवेक ड्रिल मशीन से छेद, विवेक जीटीबी अस्पताल, विवेक एक्सरे, दिल्ली हिंदू युवक की हत्या, दिल्ली विनोद की हत्या, दिल्ली ब्रहम्पुरी विनोद की हत्या, दिल्ली हिंसा अमित शाह, दिल्ली हिंसा केजरीवाल, दिल्ली हिंसा उपराज्यपाल, अमित शाह हाई लेवल मीटिंग, दिल्ली पुलिस, दिल्ली पुलिस रतनलाल, हेड कांस्टेबल रतनलाल, रतनलाल का परिवार, ट्रंप का भारत दौरा, ट्रंप मोदी, बिल क्लिंटन का भारत दौरा, छत्तीसिंह पुरा नरसंहार, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली, दिल्ली पुलिस, करावल नगर, जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, शाहरुख, कांस्टेबल रतनलाल की मौत, दिल्ली में पथराव, दिल्ली में आगजनी, दिल्ली में फायरिंग, भजनपुरा, दिल्ली सीएए हिंसा
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,052FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe