Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजउत्तराखंड: लॉकडाउन की याद दिलाने पर दिलशाद खान पटवारी ने की महिला से अभद्रता,...

उत्तराखंड: लॉकडाउन की याद दिलाने पर दिलशाद खान पटवारी ने की महिला से अभद्रता, पुलिस ने माँगा जवाब

सोशल मीडिया पर आँगनबाड़ी सेविका और दिलशाद खान की झड़प का वीडियो खूब वायरल हुआ। वीडियो में देखा जा सकता है जब आँगनबाड़ी सेविका ने राजस्व अधिकारी दिलशाद खान से पूछा कि आप रोज घर से आना जाना करते हो, क्या आपको संक्रमण नही हो सकता? तो इस बात पर दिलशाद खान ने महिला के साथ अभद्रता की।

उत्तराखंड के पौड़ी जिले में सरकारी राजस्व पुलिस की एक महिला आंगनबाड़ी सेविका से अभद्रता पर पुलिस ने संज्ञान लिया है। सोशल मीडिया पर भी यह वीडियो खूब वायरल हुआ। वीडियो में देखा जा सकता है कि महिला द्वारा दिलशाद खान नाम के पटवारी (राजस्व पुलिस) को लॉकडाउन के नियमों की अवहेलना करने पर सवाल पूछने वाली महिला के साथ दिलशाद खान ने न सिर्फ दबंगई दिखाई बल्कि अपने मुस्लिम होने के कारण विक्टिम कार्ड खेलने का प्रयास भी किया। दिलशाद खान ने महिला से उनका मोबाइल भी छीन लिया और उनके साथ अभद्रता भी की। दिलशाद खान राजस्व उप निरिक्षक क्षेत्र के गौलीखाल चौकी में तैनात हैं।

आँगनबाड़ी सेविकाओं को मिली है कोरोना वायरस पर जागरूकता की जिम्मेदारी

दरअसल, उत्तराखंड सरकार के आदेश पर आँगनबाड़ी सेविकाएँ कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों को जागरूक कर रही हैं। इसी दौरान अपनी ड्यूटी पर तैनात एक आंगनबाड़ी सेविका ने बिना मास्क पहने और ‘पुलिस’ नेम प्लेट वाली बाईक पर घूमते पटवारी को देखा तो उसे रोककर मास्क लगाने की सलाह दी।

साथ ही उन्होंने उनसे यह भी सवाल किए कि वह लॉकडाउन के बावजूद रोज अपने घर बाइक पर क्यों निकल जाते हैं? यह सब सवाल दिलशाद खान को अपनी शान में दखलंदाजी महसूस हुई और पटवारी का मिजाज गर्म हो गया।

जब आँगनबाड़ी सेविका पूरे घटनाक्रम का वीडियो बनाने लगी, तो दिलशाद पटवारी ने विक्टिम कार्ड खेलने की कोशिश की और अपने मजहब को बीच में लाने का प्रयास किया। इसके अलावा दिलशाद खान आँगनबाड़ी सेविका को अपने पद की धौंस भी दिखाने लगा। इस सबके बावजूद महिला भी लगातार पटवारी से मास्क न पहनने का कारण पूछती रही। इसी दौरान वीडियो बनाने से बौखलाए पटवारी ने महिला आँगनबाड़ी सेविका का हाथ पकड़कर उनसे मोबाईल छीन लिया।

सोशल मीडिया पर आँगनबाड़ी सेविका और दिलशाद खान की झड़प का वीडियो खूब वायरल हुआ। वीडियो में देखा जा सकता है जब आँगनबाड़ी सेविका ने राजस्व अधिकारी दिलशाद खान से पूछा कि आप रोज घर से आना जाना करते हो, क्या आपको संक्रमण नही हो सकता? तो इस बात पर दिलशाद खान ने महिला के साथ अभद्रता की। रिपोर्ट्स के अनुसार, ग्रामवासियों का भी कहना है कि दिलशाद खान नियमों की अवहेलना करते हुए रोजाना काशीपुर से पौड़ी आवागमन करते हैं जिस कारण महिला ने उनसे सवाल करना जरूरी समझा।

पटवारी दिलशाद का घर उधमसिंहनगर जिले में है और वह हर दिन घर से पौड़ी अपनी बाइक, जिसके आगे ‘पुलिस’ लिखा हुआ है, से बिना किसी भय के आने-जाने के साथ ही बिना मास्क पहने घूमता रहता है। उल्लेखनीय है कि उत्तराखंड का उधमसिंह नगर जिला भी कोरोना वायरस संक्रमण के हॉटस्पॉट बने जिलों मे से एक है।

दिलशाद खान मामले को जाँच के लिए जिलाधिकारी को सौंपा गया

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो पर संज्ञान लेते हुए एसएसपी जिला पौड़ी गढ़वाल द्वारा कार्रवाई हेतु यह मामला जिलाधिकारी को भेजा गया है।

वास्तव में दिलशाद खान इस वजह से भी चिंता का विषय हैं क्योंकि सरकारी पदों पर रहने के बावजूद भी उनका व्यवहार अन्य मुस्लिमों की तरह ही देखा गया है जो कि देशभर में कोरोना वायरस के बीच जारी लॉकडाउन के दौरान उपद्रव मचा रहे हैं। यदि प्रशासन का हिस्सा होने के बावजूद और उत्तराखंड जैसे राज्य में भी एक मुस्लिम अपने नाम के कारण विक्टिम कार्ड खेलते हुए देखा जाता है तो यह वास्तव में एक चिंता का विषय है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -