Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजखुद के शोरूम से हटा ली सभी बाइक... फिर लगाई अपनी ही दुकान में...

खुद के शोरूम से हटा ली सभी बाइक… फिर लगाई अपनी ही दुकान में आग: दंगों से पहले Vs बाद की ग्राउंड रिपोर्ट

शाहीन बाग तो केवल दिखावे के लिए था, असली तैयारी तो हिंदुओं के खिलाफ यहाँ (जाफराबाद-करावलनगर में) की गई, क्योंकि एक दिन के अंदर न तो बम बनते हैं और न ही एक दिन के अंदर छतों पर इतने ईंट-पत्थर इकट्ठे होते हैं। करीब 30 से 40 गाड़ियों को मलवा को...

मस्जिदों से लोगों को सावधान और सतर्क रहने के लिए आह्वान कर दिया गया था। इसके बाद हर कोई अपने बेहतर इंतजाम में जुट गया। कोई अपनों को एक से दूसरी जगह पहुँचा रहा था, तो कोई अपने कीमती सामान को सुरक्षित स्थान पर ले जा रहा था तो कोई अपने को सुरक्षित रखने के लिए हथियारों को सहेजने में लगा हुआ था। यह सब इंतजाम किसी प्राकृतिक आपदा से निपटने, चोरी-डकैती या फिर किसी आतंकी हमले की पूर्व सूचना से बचने के लिए नहीं बल्कि दिल्ली के प्रमुख इलाकों में सीएए विरोध के नाम पर हिंदू विरोधी हिंसा फैलाने के लिए लिए कट्टरपंथियों द्वारा किए जा रहे थे।

दिल्ली हिंदू विरोधी दंगों के बीच से आई अब तक की तस्वीरों से एक बात तो साफ़ हो गई है कि दंगा फैलाने और हिंदुओं को निशाना बनाने के लिए महीनों से तैयारियाँ की जा रहीं थीं। कुछ ऐसी ही तैयारी की गई दंगा प्रभावित क्षेत्र चाँद बाग और जाफराबाद के बीच स्थित बृजपुरी क्षेत्र के एक बाईक शोरूम में। यहाँ स्थित हीरो के शोरूम से उसके मालिक ने दंगाइयों द्वारा हिंसा फैलाने से पहले ही अपनी बाइकों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुँचा दिया और इसके बाद खुद ही उसमें तोड़फोड़ करके स्वयं को पुलिस और मीडिया के सामने पीड़ित दिखाने की जुगत में लगा रहा।

सोमवार को शुरू हुई हिंसा के सातवें दिन हम बृजपुरी इलाके में दंगा पीड़ितों से मिलते हुए आगे बढ़ रहे थे। इसी बीच हमें एक बड़ी और चौंकाने वाली जानकारी मिली। यह जानकारी किसी चलते-फिरते व्यक्ति से नहीं बल्कि उस व्यक्ति से मिली, जो उस शोरूम के पास में दुकान चलाता है और दिन के 12 घंटे दुकान पर रहकर आस-पास की हर एक गतिविधि पर नजर भी रखता है। चश्मदीद के मुताबिक, “रविवार को मुस्लिम महिलाओं का सीएए विरोध के नाम पर धरना शुरू हो गया था। इसके बाद से सब अपनी आगे की तैयारी में लग गए थे। सोमवार को चाँद बाग से हिंसा शुरू हो गई। मुस्लिम पहले हिंदुओं की दुकानों को लूट रहे थे फिर उनमें आग लगा रहे थे।”

बृजपुरी में रहने वाले चश्मदीद आगे बताते हैं, “इतना ही नहीं इन सबको पता था कि आगे क्या होने वाले वाला है। हमारे बराबर में एक मात्र मुस्लिम व्यक्ति का बाइक का शोरूम है, जिसमें सैकड़ों बाइकें बेचने के लिए रहती थीं, लेकिन इलाके में हिंसा फैलने से पहले ही 26 फरवरी को सुबह 5 बजे ही सभी बाइकों को शोरूम से निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुँचा दिया गया। इसके बाद स्वयं ही दंगाइयों ने खुद को पीड़ित दिखाने के लिए पहले तो शोरूम में तोड़फोड़ की और फिर काउंटर को शोरूम से बाहर निकालकर उसमें आग लगा दी।”

वह कहते हैं कि शाहीन बाग तो केवल दिखावे के लिए था, असली तैयारी तो हिंदुओं के खिलाफ यहाँ (जाफराबाद-करावलनगर में) की गई, क्योंकि एक दिन के अंदर न तो बम बनते हैं और न ही एक दिन के अंदर छतों पर इतने ईंट-पत्थर इकट्ठे होते हैं। दंगा शात होने के बाद एमसीडी की करीब 30 से 40 गाड़ियों को मलवा लेकर जाते हुए मैंने खुद अपनी आँखों से देखा है। यह वही मलवा है, जो दंगाईयों द्वारा ईंट-पत्थर के पूर में सड़कों पर फेंका गया था। चश्मदीद ने यह भी पुख्ता किया कि हिंदू बाहुल्य क्षेत्र में दूसरे मजहब के किसी भी व्यक्ति को एक खरोंच तक नहीं आई, लेकिन दुखद कि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में हमारा एक भी हिंदू भाई सुरक्षित नहीं रह सका।

‘भाईजान’ की लाश को 24 घंटे घर में रखा, मुआवजे की घोषणा होते ही कराया पोस्टमॉर्टम: ग्राउंड रिपोर्ट

दिल्ली के जमनापार में थी बड़े कत्लेआम की तैयारी, क्या कपिल मिश्रा ने राजधानी को बड़ी हिंसा से बचा लिया?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsदिल्ली हिंदू विरोधी दंगा, नालों से मिले शव, दिल्ली नाला शव, दिल्ली मदरसा गुलेल, मदरसा गुलेल विडियो, शिव विहार, मुस्तफाबाद, अमर विहार, दिल्ली दंगे चश्मदीद, दिल्ली हिंसा चश्मदीद, दिल्ली हिंसा महिला, दिल्ली दंगों में कितने मरे, दिल्ली में कितने हिंदू मरे, मोहम्मद शाहरुख, जाफराबाद शाहरुख, शाहरुख फरार, ताहिर हुसैन आप, ताहिर हुसैन एफआईआर, ताहिर हुसैन अमानतुल्लाह, चांदबाग शिव मंदिर पर हमला, दिल्ली दंगा मंदिरों पर हमला, दिल्ली मंदिरों पर हमले, मंदिरों पर हमले, चांदबाग पुलिया, अरोड़ा फर्नीचर, ताहिर हुसैन के घर का तहखाना, अंकित शर्मा केजरीवाल, अंकित शर्मा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का परिवार, दिल्ली शाहदरा, शाहदरा दिलबर सिंह, उत्तराखंड दिलवर सिंह, दिल्ली हिंसा में दिलवर सिंह की हत्या, रवीश कुमार मोहम्मद शाहरुख, रवीश कुमार अनुराग मिश्रा, रतनलाल, साइलेंट मार्च, यूथ अगेंस्ट जिहादी हिंसा, दिल्ली हिंसा एनडीटीवी, एनडीटीवी श्रीनिवासन जैन, एनडीटीवी रवीश कुमार, रवीश कुमार दिल्ली हिंसा, दिल्ली हिंसा में कितने मरे, दिल्ली दंगों में मरे, दिल्ली कितने हिंदू मरे, दिल्ली दंगों में आप की भूमिका, आप पार्षद ताहिर हुसैन, आप नेता ताहिर हुसैन, ताहिर हुसैन वीडियो, कपिल मिश्रा ताहिर हुसैन, आईबी कॉन्स्टेबल की हत्या, अंकित शर्मा की हत्या, चांदबाग अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली हिंसा विवेक, विवेक ड्रिल मशीन से छेद, विवेक जीटीबी अस्पताल, विवेक एक्सरे, दिल्ली हिंदू युवक की हत्या, दिल्ली विनोद की हत्या, दिल्ली ब्रहम्पुरी विनोद की हत्या, दिल्ली हिंसा अमित शाह, दिल्ली हिंसा केजरीवाल, दिल्ली पुलिस, दिल्ली पुलिस रतनलाल, हेड कांस्टेबल रतनलाल, रतनलाल का परिवार, छत्तीसिंह पुरा नरसंहार, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली हिंसा, करावल नगर, जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, शाहरुख, कांस्टेबल रतनलाल की मौत, दिल्ली में पथराव, दिल्ली में आगजनी, दिल्ली में फायरिंग, भजनपुरा, दिल्ली सीएए हिंसा

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘लखनऊ को दिल्ली बनाया जाएगा, चारों तरफ से रास्ते सील किए जाएँगे’: चुनाव से पहले यूपी में बवाल की टिकैत ने दी धमकी

राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली की तरह लखनऊ का भी घेराव किया जाएगा। जिस तरह दिल्ली में चारों तरफ के रास्ते सील हैं, ऐसे ही लखनऊ के भी सील होंगे।

‘हम आपको नहीं सुनेंगे…’: बॉम्बे हाईकोर्ट से जावेद अख्तर को झटका, कंगना रनौत से जुड़े मामले में आवेदन पर हस्तक्षेप से इनकार

जस्टिस शिंदे ने कहा, "अगर हम इस तरह के आवेदनों को अनुमति देते हैं तो अदालतों में ऐसे मामलों की बाढ़ आ जाएगी।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,324FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe