Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजदो बच्चों के अब्बा जुनैद इक़बाल चौहान ने 6 महीने तक किया नाबालिग का...

दो बच्चों के अब्बा जुनैद इक़बाल चौहान ने 6 महीने तक किया नाबालिग का रेप: कोचिंग जाते समय करता था पीछा, गुजरात पुलिस ने दबोचा

आरोपित प्रतिदिन सगीरा के कोचिंग जाते वक्त उसका पीछा करता था। एक दिन किसी तरह से जुगाड़ करके उसने उसका मोबाइल नंबर ढूँढ निकाला।

गुजरात (Gujrat) में राजकोट जिले की जसदण तहसील में नाबालिग लड़की को बरगला कर उसके साथ 6 महीने तक रेप (Rape) करने का मामला प्रकाश में आया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जसदण के ही मुस्लिम आरोपित जुनैद इकबाल चौहान पहले से शादीशुदा है। पुलिस ने आरोपित को केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

बताया जाता है कि आरोपित जुनैद (29) जसदण की गबनशाह सोसायटी का रहने वाला है। वहीं पास की ही रहने वाली सगीरा (16) प्रतिदिन शहर के ही एक ट्यूशन में पढ़ने के लिए जाती थी। वो प्रतिदिन सगीरा को आते-जाते देखता था तो उसके प्रति उसका हवस बढ़ता चला गया। बताया जा रहा है कि उसे सगीरा से ‘एकतरफा प्यार’ हो गया था। आरोपित प्रतिदिन सगीरा के कोचिंग जाते वक्त उसका पीछा करता था। एक दिन किसी तरह से जुगाड़ करके उसने उसका मोबाइल नंबर ढूँढ निकाला।

मोबाइल नंबर मिलने के बाद उसने पीड़िता से कॉन्टैक्ट किया और धीरे-धीरे उसे अपने जाल में फँसाया। जब उसे लगा कि लड़की उसके जाल में फँस चुकी है तो उसने सगीरा को मिलने के बहाने एक गेस्ट हाउस पर बुलाया और वहाँ उसके साथ रेप किया। इसके बाद तो उसकी आदत सी बन गई। वो लगातार 6 महीने तक पीड़िता का बार-बार रेप करता रहा। लेकिन, बाद में उसकी प्रताड़ना से तंग आकर एक दिन सगीरा ने अपने परिजनों को इसके बारे में बताया। इसके बाद नाबालिग के घरवालों ने इसकी शिकायत पुलिस में की।

दो बच्चों का बाप है जुनैद

महत्वपूर्ण तथ्य ये है कि 16 वर्षीय नाबालिग से ज्यादती करने वाला जुनैद इकबाल चौधरी पहले से शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं। वो मजदूरी का काम करता है। फ़िलहाल इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज उसे गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित के खिलाफ इंडियन पीनल कोड (IPC) की धारा 376 (2-N), 354 (D) और POCSO एक्ट-2012 की धारा 4 और 6 के तहत केस दर्ज किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -