Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजबीच सड़क पर ट्रैफिक रोक पढ़ी नमाज, झारखंड पुलिस ने फोटो डालने वाले 3...

बीच सड़क पर ट्रैफिक रोक पढ़ी नमाज, झारखंड पुलिस ने फोटो डालने वाले 3 को किया अरेस्ट, बोला – ‘अफवाहों से बचें’

एसपी का कहना है कि कुछ शरारती तत्वों ने जानबूझ कर सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश की थी और पुलिस ने उनकी पहचान कर ली है। घटना के सही निकलने के बावजूद एसपी ने 'अफवाहों' की बात की।

झारखंड के हजारीबाग स्थित पेलावल में सड़क जाम कर के बच्चों से जुमे की नमाज पढ़वाने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले में पुलिस ने अब तक 3 लोगों को हिरासत में लिया है। एसपी कार्तिक एस ने जानकारी दी कि पेलावल में बीच सड़क पर बच्चों को बिठाकर सड़क जाम किए जाने की एक तसवीर ‘वायरल की गई’ थी। उन्होंने कहा कि इसके तुरंत बाद पुलिस हरकत में आ गई और कार्रवाई शुरू की।

एसपी का कहना है कि कुछ शरारती तत्वों ने जानबूझ कर सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश की थी और पुलिस ने उनकी पहचान कर ली है। उन्होंने लोगों को सोशल मीडिया पर फ़ैल रही अफवाहों से बचने की भी सलाह दी। हालाँकि, घटना के सही निकलने के बावजूद उन्होंने ‘अफवाहों’ की बात की।

एसपी ने लोगों को ‘सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वालों’ से सावधान रहने की भी सलाह दी। पुलिस ने कहा कि ऐसे तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

हजारीबाग के भाजपा विधायक मनीष जायसवाल ने इस घटना की पुष्टि करते हुए इस पर हैरानी जताई है और कहा है कि छोटे बच्चों को सामने कर सड़क पर नमाज पढ़ने के पीछे छोटी मानसिकता वाले लोग हैं। उन्होंने कहा कि मामला उनके संज्ञान में है और उन्होंने जिला प्रशासन से बात कर के कार्रवाई की माँग की है।

ये मामला पेलावल ओपी क्षेत्र स्थित हजारीबाग-कटकमसांडी मार्ग का है। नमाज पढ़ने वाले बच्चों की संख्या 8-10 के करीब है। शनिवार की शाम इस पर चर्चा के लिए DSP राजीव कुमार की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक भी हुई।

स्थानीय मुस्लिम प्रतिनिधियों ने इस घटना की आलोचना तो की, लेकिन पुलिस-प्रशासन ने तस्वीर सोशल मीडिया पर डाल कर अपने दर्द बताने वालों पर ही कार्रवाई कर दी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: 2013 से 2018 के...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -