Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजमुस्लिम भीड़ ने 'हिन्दू ध्वज' उखाड़ कर फेंका, चले लाठी-डंडे, हुई पत्थरबाजी: देखती रही...

मुस्लिम भीड़ ने ‘हिन्दू ध्वज’ उखाड़ कर फेंका, चले लाठी-डंडे, हुई पत्थरबाजी: देखती रही छत्तीसगढ़ पुलिस, माँ कर्मा चौक को लेकर बवाल

ये घटना माँ कर्मा चौक पर हुई। मान्यता है कि उन्होंने भगवान श्रीकृष्ण को पाला था, इसीलिए हिन्दुओं की इस जगह में विशेष आस्था है। यहाँ हिन्दुओं का ध्वज भी लगा हुआ था। मुस्लिमों ने अपने आयोजन के कारण वहाँ अपना झंडा भी लगा दिया।

छत्तीसगढ़ के कवर्धा से एक वीडियो सामने आया है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि मुस्लिम भीड़ ने हिन्दू ध्वज को उखाड़ कर फेंक दिया, फिर उसका अपमान किया। कबीरधाम जिले में हुई इस घटना के दौरान हिन्दू व मुस्लिम समाज में झड़प भी हुई। जब हिन्दू ध्वज उखाड़ के फेंका जा रहा था और भीड़ उसका अपमान कर रही थी, तब वहाँ कुछ पुलिसकर्मी भी तमाशबीन बन कर खड़े थे।

रास्ते पर बता कर इस ध्वज को हटाने की कोशिश हुई। एक अधिकारी ने इस बाबत जानकारी दी, “रविवार (3 अक्टूबर, 2021) को लोगों के साथ शांति समिति की बैठक की गई थी। इसमें आने वाले त्योहारों के मद्देनजर शांति-सद्भाव बनाए रखने के लिए लोहारा चौक से धार्मिक झंडे हटाने को कहा था। दोनों पक्ष इसके लिए तैयार हो गए थे, लेकिन मौके पर दोनों समुदायों कुछ युवक पहुँच गए और उपद्रव हो गया।”

मौके पर पुलिस के अतिरिक्त बल पहुँचे, जिसके बाद स्थिति को शांत किया गया। पुलिस का कहना है कि स्थिति नियंत्रण में है और मौके पर भारी संख्या में जवानों की तैनाती भी की गई है। CrPc की धारा-144 भी इलाके में लागू कर दी गई है। लेकिन, अभी तक इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। बताया जाता है कि विवादित स्थल पर हिन्दू और मुस्लिम, दोनों समुदाय के लोग अपना झंडा लगाना चाहते थे।

दोनों समुदायों में अब भी तनाव का माहौल है। एक स्थानीय पत्रकार ने बताया कि पहले मौखिक रूप से झगड़ा शुरू हुआ, लेकिन बाद में पत्थरबाजी भी होने लगी। पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। कलक्टर ने बताया कि CCTV फुटेज देख कर अराजक तत्वों को चिह्नित करने व उनकी गिरफ़्तारी का आदेश दिया गया है। 5 साल पहले इसी जगह पर भारत माता की तस्वीर फाड़ दी गई थी, जिसके बाद तनाव व्याप्त हो गया था।

ये घटना माँ कर्मा चौक पर हुई। मान्यता है कि उन्होंने भगवान श्रीकृष्ण को पाला था, इसीलिए हिन्दुओं की इस जगह में विशेष आस्था है। यहाँ हिन्दुओं का ध्वज भी लगा हुआ था। मुस्लिमों ने अपने आयोजन के कारण वहाँ अपना झंडा भी लगा दिया। फिर ध्वज फाड़ दिया गया और पत्थरबाजी शुरू कर दी गई। पुलिस दोनों पक्षों का आवेदन लेकर मामले की जाँच कर रही है। कई लोग घायल भी हुए हैं।

तनाव इतना ज्यादा है कि आज शहर में सभी शैक्षिक संस्थानों को बंद कर के रखा गया है। आज होने वाली जिला प्रशासन ने एक दिन की छुट्टी का आदेश जारी किया। सभी ऑनलाइन व ऑफलाइन परीक्षाओं को निरस्त कर दिया गया है। पुलिस यहाँ फ्लैग मार्च कर रही है। आंगनबाड़ी केंद्र व कॉलेज तक बंद हैं। भाजपा नेता ने पुलिस की ख़ुफ़िया विभाग को फेल बताते हुए कहा कि वो स्थिति को संभाल नहीं सकी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तिब्बत को संरक्षण देने के लिए अमेरिका ने बनाया कानून, चीन से दो टूक – दलाई लामा से बात करो: जानिए क्या है उस...

14वें दलाई लामा 1959 में तिब्बत से भागकर भारत आ गये, जहाँ उन्होंने हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में निर्वासित सरकार स्थापित की थी।

बिहार में निर्दलीय शंकर सिंह ने जदयू-राजद को हराया, बंगाल में 25 साल की मधुपूर्णा बनीं MLA, हिमाचल में CM सुक्खू की पत्नी जीतीं:...

उप-मुख्यमंत्री व भाजपा नेता विजय सिन्हा ने कहा कि शंकर सिंह भी हमलोग से ही जुड़े हुए उम्मीदवार थे। 'नॉर्थ बिहार लिबरेशन आर्मी' के थे मुखिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -