Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजब्रिटेन की तरह भारत में फैला तो 14 लाख रोज आएँगे कोरोना के नए...

ब्रिटेन की तरह भारत में फैला तो 14 लाख रोज आएँगे कोरोना के नए मामले, WHO ने स्वदेशी ‘कोवैक्सीन’ को दी आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी

पॉल ने कहा कि ब्रिटेन 80-90 हजार मामले प्रतिदिन आ रहे हैं। ऐसे में भारत की आबादी और ओमीक्रॉन की रफ्तार के नजरिये से देखा जाए तो यह 14 लाख प्रतिदिन नए केस आने के बराबर है। बता दें कि कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान भारत में प्रतिदिन लगभग 4 लाख मामले आ रहे थे।

कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर दुनिया भर में चिंताएँ बढ़ती जा रही हैं। भारत में भी इसके संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। नीति आयोग ने कहा है कि ब्रिटेन में यह वैरिएंट जिस रफ्तार से बढ़ रहा है, उसको भारत की आबादी के अनुपात में देखा जाए तो यह संख्या 14 लाख प्रतिदिन के अनुसार हो सकती है। वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत में विकसित स्वदेशी कोरोना वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ को आपातकालीन मंजूरी दे दी है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के प्रमुख अदार पूनावाला ने डब्ल्यूएचओ के इस कदम का स्वागत किया है। उधर रुस ने कहा है कि ‘स्पूतनिक V’ वैक्सीन ओमीक्रॉन में भी प्रभावी है।

बता दें कि ओमिक्रॉन का संक्रमण 91 देशों में फैल चुका है और जिस तेजी से यूरोप में फैल रहा है, उसको देखते हुए भारत पूरी तरह सतर्क हो चुका है। नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा कि यह वैरिएंट यूरोप में डेल्टा वैरिएंट पर भारी पड़ रहा है, जो महामारी के एक नए चरण की शुरुआत को दिखा रहा है।

पॉल ने कहा कि ब्रिटेन 80-90 हजार मामले प्रतिदिन आ रहे हैं। ऐसे में भारत की आबादी और ओमीक्रॉन की रफ्तार के नजरिये से देखा जाए तो यह 14 लाख प्रतिदिन नए केस आने के बराबर है। बता दें कि कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान भारत में प्रतिदिन लगभग 4 लाख मामले आ रहे थे। वह भारत के लिए बेहद संकट की स्थिति थी। अब ओमीक्रॉन को लेकर बेहद सतर्क रहने की जरूरत है।

बता दें कि ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी सहित यूरोप के कई देशों में डेल्टा का कहर पहले से जारी है। इसके कारण टीके द्वारा हासिल की गई इम्यूनिटी बेअसर साबित हो रही है और ओमिक्रॉन का कहर बढ़ने लगा है। नीति आयोग के सदस्य ने स्वास्थ्य मंत्रालय की साप्ताहिक प्रेस कांफ्रेस में कहा कि ब्रिटेन में तेजी से मामले बढ़े हैं। फ्रांस में 80 प्रतिशत लोगों को टीके लग चुके हैं, फिर भी संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी प्रकार नॉर्वे में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या में 18 फीसदी संक्रमण ओमिक्रॉन के मिले हैं।

पॉल ने कहा, “हमें इतनी बड़ी संख्या वाली संक्रमण की स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा। ठंड का मौसम भी वायरस के प्रजनन में वृद्धि के लिए जिम्मेदार है। ऐसे में मामले रातों-रात बढ़ते हैं और स्थिति गंभीर हो जाती है। हालाँकि, हालात अभी स्थिर हैं, लेकिन हमें सतर्क रहना चाहिए।” 

बता दें कि ब्रिटेन में शुक्रवार (17 दिसंबर) को 93,045 नए मामले सामने आए। वहीं, एक दिन में मरने वालों की संख्या 111 पहुँच गई है। ब्रिटेन में अब तक कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 1.1 करोड़ से ज्यादा हो चुकी है, जबकि इस महामारी में 1,47,000 लोगों ने जान गँवा दी है। अगर भारत की बात की जाए तो देश में ओमीक्रॉन के अब तक कुल 101 मामले सामने आए हैं। 11 राज्यों में आए कुल मामलों में 22 सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र में मिले हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -