Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजहमास के जिन आतंकियों की बर्बरता से दुनिया सन्न, उनके समर्थन में अलीगढ़ मुस्लिम...

हमास के जिन आतंकियों की बर्बरता से दुनिया सन्न, उनके समर्थन में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में मार्च: अल्लाह-हू-अकबर के लगे नारे

"आज फिलिस्तीन संकट में है, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय और एएमयू के समस्त छात्र फिलिस्तीन के साथ खड़े हुए हैं और उनके लिए दुआ कर रहे हैं। फिलिस्तीन के लोग आजादी माँग रहे हैं।"

इजरायल पर हमास द्वारा आतंकी हमले के समर्थन में रविवार (8 अक्टूबर, 2023 ) को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के सैकड़ों छात्र खुलेआम उतर आए हैं। छात्रों ने फिलिस्तीन को मजलूम बताते हुए उसके समर्थन में न सिर्फ प्रदर्शन किया बल्कि मजहबी नारेबाजी भी की। वहीं दूसरी ओर बजरंग दल और दूसरे हिन्दू संगठनों के कार्यकर्तओं ने हमास का पुतला दहन कर विरोध जताया। 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, फिलिस्तीन के समर्थन में AMU के छात्रों ने कैंपस में पैदल मार्च निकालकर प्रदर्शन और अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगाए। जिसका वीडियो वायरल है, जो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। छात्रों ने अपने हाथों में वी स्टैंड विद फिलिस्तीन, एएमयू स्टैंड विद फिलिस्तीन जैसे पोस्टर-बैनरों को हाथों में लेकर प्रदर्शन किया। छात्रों ने कहा हमारे दिल में तकलीफ है। ऐसे में तमाम मुस्लिम लीडर से दरख्वास्त है कि वह फिलिस्तीन का समर्थन करें।

फिलिस्तीन के समर्थन में खुलकर आए एएमयू के छात्र

रिपोर्ट के अनुसार, फिलिस्तीन को मजलूम बताते हुए प्रदर्शनकारी छात्रों ने कहा कि जिस तरह इजराइल द्वारा फिलिस्तीन पर ज्यादती की जा रही है वो सही नहीं है। उन्होंने कहा कि जब यूक्रेन पर हमला होता है तो देश और दुनिया यूक्रेन के समर्थन में आ जाती है, लेकिन अब फिलिस्तीन पर इस समय संकट है तो किसी भी राजनेता या अन्य समाज का ढिंढोरा पीटने वाले लोग चुप्पी साधे हुए बैठे हैं। 

प्रदर्शनकारी छात्रों ने आगे कहा, “आज फिलिस्तीन संकट में है, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय और एएमयू के समस्त छात्र फिलिस्तीन के साथ खड़े हुए हैं और उनके लिए दुआ कर रहे हैं। फिलिस्तीन के लोग आजादी माँग रहे हैं। उन्हें आजादी नहीं दी जा रही है। फिलिस्तीन में मानवाधिकारों का हनन हो रहा है।”

वहीं AMU के छात्र नेताओं का कहना है कि जिस तरीके से देखा जा रहा है कि लंबे समय से फिलिस्तीन के ऊपर किसी न किसी बात को लेकर हमला कर दिया जाता है और वहाँ रहने वाले लोगों के साथ ज्यादती की जाती है। इसलिए हम माँग करते हैं कि जिस तरीके से फिलिस्तीन के ऊपर लगातार हमले किए जा रहे हैं वह हमले रुकने चाहिए और वहाँ के रहने वाले लोगों को साथ नरमी बरती जानी चाहिए। हमने माँग की है कि तत्काल प्रभाव से फिलिस्तीन के ऊपर होने वाले हमलों को रोका जाए।

बजरंग दल ने फूँका आतंकी संगठन हमास का पुतला 

बता दें कि अलीगढ़ के थाना गाँधी पार्क इलाके में दुबे पड़ाव तिराहे पर रविवार को बजरंग दल और अन्य हिंदूवादी संगठनों ने आतंकी संगठन हमास का पुतला दहन कर विरोध जताया। इस दौरान फिलिस्तीन मुर्दाबाद और हमास मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गए। 

हिन्दू संगठनों ने किया हमास का पुतला दहन (साभार-ETV भारत)

करारा जवाब दे रहा इजराइल 

बता दें कि 7 अक्टूबर, 2023 को इजरायल पर हमास आतंकियों के हमले में 700 से अधिक लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। सबसे अधिक मौतें संगीत समारोह पर हुए हमले में हुई। म्यूजिक फेस्टिवल में 4000 से अधिक लोग शामिल थे। जिन्हें घेरकर हमास के आतंकियों ने मौत के घात उतार दिया।

वहीं इजरायल ने भी हमास के इस हमले का करारा जवाब दिया है। इजरायली वायु सेना लगातार फिलीस्तीन और गाजा पट्टी में आतंकी ठिकानों पर हमला कर रही है। 8 अक्टूबर तक कई मस्जिदों समेत कई ऐसे ठिकाने गिराए जा चुके थे, जहाँ आतंकी शरण ले रहे थे।

गौरतलब है कि इजरायल के प्रतिक्रियात्मक हमलों में अब तक 400 से अधिक फिलिस्तीनी आतंकियों के मरने की खबर है। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने युद्ध के शुरू होने से पहले कहा था कि इस बार गाजा पर हमला ऐसा होगा जो कि पीढ़ियों के लिए स्थितियाँ बदल देगा। हमास के हमले के कारण गाजा और फिलीस्तीन में बड़े स्तर पर तबाही हुई है। संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि हमास के आतंकियों को शरण देने के कारण अब तक लगभग 1.2 लाख फिलिस्तीनी अपने घरों से भाग चुके हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भिंडराँवाले के बाद कॉन्ग्रेस ने खोजा एक नया ‘संत’… तब पैसा भेजते थे, अब संसद में कर रहे खुला समर्थन: समझिए नेहरू-गाँधी परिवार की...

RA&W और सेना के पूर्व अधिकारी कह चुके हैं कि कॉन्ग्रेस ने पंजाब में खिसकती जमीन वापस पाने के लिए भिंडराँवाले को पैदा किया। अब वही फॉर्मूला पार्टी अमृतपाल सिंह के साथ आजमा रही। कॉन्ग्रेस के बड़े नेता जरनैल सिंह के सामने फर्श पर बैठते थे। संजय गाँधी ने उसे 'संत' बनाया था।

‘वनवासी महिलाओं से कर रहे निकाह, 123% बढ़ी मुस्लिम आबादी’: भाजपा सांसद ने झारखंड में NRC के लिए उठाई माँग, बोले – खाली हो...

लोकसभा में बोलते हुए सांसद निशिकांत दुबे ने कहा, विपक्ष हमेशा यही बोलता रहता है संविधान खतरे में है पर सच तो ये है संविधान नहीं, इनकी राजनीति खतरे में है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -