Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजमाइनस 40 डिग्री हो या 15000 फीट की ऊँचाई... ITBP के हिमवीरों ने तिरंगा...

माइनस 40 डिग्री हो या 15000 फीट की ऊँचाई… ITBP के हिमवीरों ने तिरंगा फहरा यूँ मनाया 73वाँ गणतंत्र दिवस

आईटीबीपी के जवानों ने लद्दाख सीमा पर 15000 फीट की ऊँचाई पर माइनस 35 डिग्री सेल्सियस में तिरंगा फहराया। वीडियो में ये जवान हाड़ जमा देने वाली ठंड में मार्च करते भी दिखे।

देश अपना 73वाँ गणतंत्र दिवस आज (बुधवार, 26 जनवरी 2022) मना रहा है। इसी क्रम में देश की सीमाओं की रक्षा में तैनात भारतीय तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) ने लद्दाख और उत्तराखंड की बर्फीली ऊँचाई वाली चोटियों में तिरंगा फहराया।

समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, ITBP के हिमवीरों ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर उत्तराखंड के औली में 11000 फीट की ऊँचाई पर माइनस 20 डिग्री सेल्सियस के तापमान में तिरंगा फहराया। वीडियों में जवानों को तिरंगा लेकर मार्च करते और भारत माता की जय के नारे लगाते देख सकते हैं।

इसी तरह से उत्तराखंड में ही आईटीबीपी के हिमवीरों ने 14000 फीट की ऊँचाई पर माइनस 30 डिग्री में तिरंगा फहराकर देश के 73वें गणतंत्र दिवस को सेलिब्रेट किया। 8 सेकंड के वीडियो में देखा जा सकता है कि घुटने भर बर्फ में धंसी हुई आईटीबीपी के जवानों की ये टुकड़ी भारत माता की जय के नारे लगा रही है। जवानों ने कुमाऊँ सेक्टर में भी 12000 फीट की ऊँचाई पर तिरंगा फहराया।

आईटीबीपी के जवानों ने लद्दाख सीमा पर भी 15000 फीट की ऊँचाई पर माइनस 35 डिग्री सेल्सियस में तिरंगा फहराया। वीडियो में ये जवान हाड़ जमा देने वाली ठंड में मार्च करते दिखे। लद्दाख में ही जवानों की एक अन्य टुकड़ी ने माइनस 40 डिग्री के तापमान में तिरंगा फहराकर गणतंत्र दिवस मनाया।

ओडिशा के गवर्नर गणेशी लाल और सीएम नवीन पटनायक ने भी राजधानी भुवनेश्वर में तिरंगा फहराया। तमिलनाडु के गवर्नर आरएन रवि और सीएम एमके स्टालिन ने भी 73वाँ गणतंत्र दिवस मनाया। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी तिरंगा फहराया।

इसी कड़ी में महाराष्ट्र के नागपुर स्थित राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मुख्यालय पर भी तिरंगा फहराकर 73वाँ गणतंत्र दिवस मनाया गया। इस अवसर पर संघ के माहनगर संघचालक राजेश लोया ने तिरंगा फहराया।

गौरतलब है कि इस बार का गणतंत्र दिवस कई मायनों में अलग होने वाला है। इस बार के गणतंत्र दिवस पर अब तक का सबसे बड़ा फ्लाई पास्ट होगा, जिसमें सेना, नौसेना और वायुसेना के 75 फाइटर प्लेन फ्लाई पास्ट करेंगे। इसमें सुखोई, मिराज और जगुआर को भी शामिल किया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले मोदी सरकार की योजना की तारीफ़ की, आका से सन्देश मिलते ही कॉन्ग्रेस को देने लगे श्रेय: देखिए राजदीप सरदेसाई की ‘पत्तलकारिता’, पत्नी...

कथित पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने पहले तो मोदी सरकार के बजट की तारीफ की, लेकिन कुछ ही देर में 'आकाओं' का संदेश मिलते ही मोदी सरकार पर कॉन्ग्रेसी आरोपों को दोहराने लगे।

राक्षस के नाम पर शहर, जिसे आज भी हर दिन चाहिए एक लाश! इंदौर की महारानी ने बनवाया, जयपुर के कारीगरों ने बनाया: बिहार...

गयासुर ने भगवान विष्णु से प्रतिदिन एक मुंड और एक पिंड का वरदान माँगा है। कोरोना महामारी के दौरान भी ये सुनिश्चित किया गया कि ये प्रथा टूटने न पाए। पितरों के पिंडदान के लिए लोकप्रिय गया के इस मंदिर का पुनर्निर्माण महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने करवाया था, जयपुर के गौड़ शिल्पकारों की मेहनत का नतीजा है ये।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -