Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजसाहिबगंज में नाबालिग से गैंगरेप: आरोपित शाहनवाज शेख ने ज्वाइन की सेना की ड्यूटी,...

साहिबगंज में नाबालिग से गैंगरेप: आरोपित शाहनवाज शेख ने ज्वाइन की सेना की ड्यूटी, इदगार और एकरामुल गिरफ्तार

इस मामले के उजागर होने के बाद से ही तीसरे आरोपित शाहनवाज शेख के सेना में होने की खबरें मीडिया में सामने आई थी। इदगार की गिरफ़्तारी के बाद मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया कि शाहनवाज ने सिलिगुड़ी पहुँचकर अपनी यूनिट ज्वाइन कर ली है।

झारखंड के साहिबगंज जिले में नाबालिग हिंदू से गैंगरेप के मामले में दो आरोपितों की गिरफ्तारी हो गई है। तीसरा अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। घटना सोमवार (मई 25, 2020) की है।

आम चुनने के लिए बगीचे में गई पीड़िता के साथ इदगार शेख, शाहनवाज शेख और एकरामुल शेख ने रेप किया था। मामला दो समुदाय से जुड़ा होने के कारण इलाके में तनाव पैदा हो गया था।

मामले में पुलिस ने दूसरे आरोपित इदगार शेख को बुधवार (मई 27, 2020) को गिरफ्तार किया। एकरामुल को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था। तीसरे आरोपित शाहनवाज को पकड़ने के लिए पुलिस का प्रयास जारी हैं।

साहिबगंज पुलिस ने ट्वीट कर बताया है, “नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में पुलिस ने त्वरित संज्ञान लेते हुए कुल 3 अभियुक्तों में से 2 की गिरफ्तारी कर ली है। शेष एक अभियुक्त के विरुद्ध माननीय न्यायालय से वारंट प्राप्त कर लिया गया है। उसकी गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग पुलिस टीमों द्वारा लगातार छापेमारी की जा रही है।”

गौरतलब है कि इस मामले के उजागर होने के बाद से ही तीसरे आरोपित शाहनवाज शेख के सेना में होने की खबरें मीडिया में सामने आई थी। इदगार की गिरफ़्तारी के बाद मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया कि शाहनवाज ने सिलिगुड़ी पहुँचकर अपनी यूनिट ज्वाइन कर ली है।

इस संबंध में ऑपइंडिया ने जब साहिबगंज के एसपी अनुरंजन से बात की तो उन्होंने शाहनवाज के भारतीय सेना से जुड़े होने की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि वह भारतीय सेना की मेडिकल कोर टीम का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि फिलहाल इलाके की स्थिति शांतिपूर्ण बनी हुई है और शाहनवाज को पकड़ने का प्रयास लगातार जारी हैं।

हमने जब एसपी से शाहनवाज की गिरफ्तारी और वारंट को लेकर सवाल किया तब तक फोन पर संपर्क टूट गया। इसके बाद हमने कई बार उनसे बात करने की कोशिश की, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।

यहाँ बता दें कि दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, शाहनवाज सिलिगुड़ी में पदस्थापित है। वह ईद की छुट्टियों में घर आया था और इस घटना के बाद वापस अपनी ड्यूटी पर लौट गया।

इस बीच घटना के बाद नाराज लोगों ने आरोपितों में से एक के पिता को घर से निकालकर उसकी पिटाई की। इसके बाद माहौल को देखते हुए वहाँ रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों की तैनाती करनी पड़ी।

पीड़िता ने अपने बयान में बताया था कि सोमवार शाम लगभग 4:00 बजे वह अपने घर के पीछे बगीचे में आम चुनने के लिए चली गई। वहीं एकरामुल ने उसे पकड़ लिया और शोर करने पर चाकू से गला काट देने की धमकी दी।

जान से मार देने की धमकी के बाद आरोपित उसे पकड़ कर बगल की ही एक झाड़ी में ले गए। पीड़ित युवती ने पुलिस को बताया कि आरोपित लड़के के साथ वहाँ उसी के समुदाय के और लड़के भी मौजूद थे। पीड़िता ने बताया कि जब एकरामुल शेख ने बलात्कार किया, तब बाकी 2 लड़कों ने उसे पकड़कर रखा था। उसके बाद बारी-बारी से उन लड़कों ने भी उसके साथ बलात्कार किया।

बच्ची के मुताबिक, एकरामुल (पिता इस्लाम शेख) के अलावा वहाँ अन्य 2 आरोपित – इदगार शेख (पिता स्व नईम खान) और शाहनवाज ( शेख पिता ताहिर मियाँ) मौजूद थे। सामूहिक दुष्कर्म के बाद तीनों युवक मोटरसाइकिल से फरार हो गए। इसके बाद पीड़िता ने घटना की सूचना अपने माता-पिता को दी।

बता दें, इस घटना के सामने आने के बाद सामूहिक दुष्कर्म की घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने मंगलवार (मई 26, 2020) की सुबह राजमहल मंगलहाट नेशनल हाइवे- 80, नौगच्छी के समीप जाम लगाकर कर विरोध-प्रदर्शन किया था। ग्रामीणों ने बीच सड़क पर टायर जलाकर घटना में शामिल सभी आरोपितों की गिरफ्तारी की माँग की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में आरक्षण खत्म: सुप्रीम कोर्ट ने कोटा व्यवस्था को रद्द किया, दंगों की आग में जल रहा है मुल्क

प्रदर्शनकारी लोहे के रॉड हाथों में लेकर सेन्ट्रल डिस्ट्रिक्ट जेल पहुँच गए और 800 कैदियों को रिहा कर दिया। साथ ही जेल को आग के हवाले कर दिया गया।

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -