Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज'साहिल को हिन्दू समझती थी': हत्यारे को लेकर साक्षी की दोस्त का बड़ा खुलासा,...

‘साहिल को हिन्दू समझती थी’: हत्यारे को लेकर साक्षी की दोस्त का बड़ा खुलासा, ‘लव जिहाद’ के एंगल से भी जाँच करेगी पुलिस

आरती ने कहा है कि वह साहिल को एक हिंदू लड़के के तौर पर जानती है। पुलिस का कहना है कि 'लव जिहाद' के एंगल से भी मामले की जाँच की जाएगी।

दिल्ली के शाहबाद डेयरी इलाके में रूह कँपा देने वाले साक्षी मर्डर मामले में नया खुलासा हुआ है। साक्षी की एक सहेली ने मीडिया के सामने बड़ा खुलासा किया है कि साक्षी अपने दोस्त साहिल को हिंदू समझती थी। मृतिका की एक अन्य दोस्त नीतू ने भी अपनी चुप्पी तोड़ी है। नीतू ने बताया है कि साक्षी और साहिल का किसी बात को लेकर कई दिनों से झगड़ा चल रहा था। दिल्ली पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है और उसका मेडिकल कराया गया है।

मृतिका साक्षी की आरती नाम की दोस्त मीडिया के सामने आई है। आरती ने कहा है कि वह साहिल को एक हिंदू लड़के के तौर पर जानती है। वहीं दिल्ली पुलिस ने जब आरोपित साहिल को यूपी के बुलंदशहर से गिरफ्तार किया था, तो उसके हाथ में कलावा (रक्षा सूत्र) बंधा हुआ था। पुलिस का कहना है कि ‘लव जिहाद’ के एंगल से भी मामले की जाँच की जाएगी।

बता दें रविवार (28 मई, 2023) को साक्षी अपनी दोस्त नीतू के बेटे के जन्मदिन में शामिल होने जा रही थी। नीतू उसके नजदीकी दोस्तों में से थी। नीतू का पति जेल में है। इसलिए साक्षी अक्सर उसके घर ठहर जाती थी। नीतू ने मीडिया को जानकारी दी है कि साहिल और साक्षी एक दूसरे को 3-4 सालों से जानते हैं। कुछ दिनों से दोनों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा चल रहा था। साक्षी साहिल से बात नहीं करना चाहती थी।

हत्या से कुछ देर पहले साक्षी बाहर निकली थी। वह अपनी दोस्त आरती का इंतजार कर रही थी। तभी साहिल ने उसे घेर लिया और दोनों के बीच कहा सुनी शुरू हो गई। हत्या के इरादे से पहुँचे साहिल ने उस पर पहले चाकुओं से वार करना शुरू कर दिया। इसके बाद उसे पत्थर से कुचल दिया।

लगातार हुए हमले से साक्षी बुरी तरह घायल हो गई और जमीन पर गिर गई। हालाँकि, इसके बाद भी साहिल नहीं रुका और उसने जमीन पर पड़े पत्थर को उठाकर उसके सिर पर पटकने लगा। पेट पर चाकू के हमले और सिर पर कई बार पत्थर लगने से उसकी मौत हो गई। घटना से जुड़ा सीसीटीवी वीडियो भी सामने आया है जो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के पूर्व जज रोहित आर्य BJP में हुए शामिल, ओडिशा हाई कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश चितरंजन दास बोले- मैं भी...

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के न्यायाधीश रोहित आर्य रिटायरमेंट के लगभग तीन महीने बाद शनिवार (13 जुलाई 2024) को भाजपा में शामिल हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -