Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाज'पहले हर काम पूछ कर करती थी, अब पैर पकड़ रहा फिर भी नहीं...

‘पहले हर काम पूछ कर करती थी, अब पैर पकड़ रहा फिर भी नहीं मान रही’: फहीम के लिए सबके सामने पिता से भिड़ गई 10वीं की लड़की

सरोजनी नगर इंस्पेक्टर ने बताया कि लड़का मुस्लिम और लड़की हिंदू है, जिसके बाद बाराबंकी की जैदपुर पुलिस को सूचना दी गई। दोनों को पुलिस पकड़कर ले आई, क्योंकि वहीं पर लड़की के पिता ने एफआईआर दर्ज कराई थी।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर मंगलवार (12 जुलाई, 2022) को बाराबंकी से भागे एक कपल को पकड़ा गया। इनका नाम संगीता और फहीम बताया जा रहा है। लड़की के पिता ने फहीम पर लव जिहाद का आरोप लगाया है। उन्होंने बीते दिनों जैदपुर थाने में उसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुंबई एयरपोर्ट से आए लड़का और लड़की को चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर परिजनों ने देखा। इस दौरान लड़की अपने पिता से भिड़ गई और उनके साथ जाने से मना कर दिया। इसके बाद जमकर मारपीट शुरू हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुँची सरोजनी नगर पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो लड़के ने अपना नाम फहीम व लड़की ने अपना नाम संगीता बताया।

सरोजनी नगर इंस्पेक्टर ने बताया कि बाराबंकी से भागे हुए एक लड़का और लड़की को एयरपोर्ट पर पकड़ा गया है। इंस्पेक्टर ने बताया कि लड़का मुस्लिम और लड़की हिंदू है, जिसके बाद बाराबंकी की जैदपुर पुलिस को सूचना दी गई। दोनों को पुलिस पकड़कर ले आई, क्योंकि वहीं पर लड़की के पिता ने एफआईआर दर्ज कराई थी।

बताया जा रहा है कि फहीम का संगीता के साथ काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। वहीं पिता का कहना है कि उनकी बेटी नाबालिग है, जबकि लड़की खुद को 19 साल की बता रही है। पिता ने कहा कि वह 10वीं क्लास में पढ़ती है। अगर उसका मेडिकल करवाया जाए। तो साफ हो जाएगा कि वह नाबालिग है। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि फहीम ने उसकी बेटी को बातों में फँसाकर उससे निकाह कर लिया है, जो बेटी बिना पूछे कोई काम नहीं करती थी, वो आज पैर पड़ने के बाद भी उनके साथ नहीं जाना चाहती है।

बता दें कि पुलिस लड़की की सुपुर्दगी के लिए उसकी उम्र का पता लगाने में जुट गई है। अगर वह नाबालिग पाई जाती है, तो उसे उसके पिता को सौंप दिया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -