Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजननदोई लोहकन खान के साथ तीसरी निकाह के लिए भागी मुंशीखान की बहु रेशमा,...

ननदोई लोहकन खान के साथ तीसरी निकाह के लिए भागी मुंशीखान की बहु रेशमा, ससुराल के 9 लोगों को खाने में दिया जहर

सिमार गाँव में रहने वाली रेशमा नाम की महिला अपने ही ननदोई लोहकन खान के प्रेम में पागल ​हो गई थी। दोनों के बीच ससुराल वाले आड़े आ रहे थे। इन्हें रास्ते से हटाने के लिए रेशमा ने उनके खाने में जहर मिला दिया। मुंशीखान की बहू रेशमा की पहले ही दो शादी हो चुकी है।

मध्य प्रदेश के भिंड जिले में एक शादीशुदा महिला ने खौफनाक वारदात को अंजाम दिया है। बताया जा रहा है कि सिमार गाँव में एक महिला ने अपने ननदोई से निकाह करने के लिए ससुराल के 9 सदस्यों को खाने में जहर दे दिया। परिवार के सभी सदस्यों का इलाज ग्वालियर में चल रहा है। वहीं, भिंड पुलिस ने रेशमा और उसके प्रेमी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

नवभारत टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक, बरासो थाने के सिमार गाँव में रहने वाली रेशमा नाम की महिला अपने ही ननदोई लोहकन खान के प्रेम में पागल ​हो गई थी। दोनों के बीच ससुराल वाले आड़े आ रहे थे। इन्हें रास्ते से हटाने के लिए रेशमा ने उनके खाने में जहर मिला दिया। बताया जा रहा है कि मुंशीखान की बहू रेशमा की पहले ही दो शादी हो चुकी है। इस घटना के बाद से गाँव में हड़कंप मच गया है।

रेशमा की दूसरी शादी उसके पति के छोटे भाई से कर दी गई थी। इस दौरान रेशमा का उसके ननदोई लोहकन खान से प्रेम हो गया। रेशमा के ससुराल वाले इस प्रेम संबंध का विरोध करते थे। इसी बात से नाराज होकर रेशमा ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर यह खतरनाक वारदात को अंजाम दिया।

ससुराल के लोगों के बेसुध होने के बाद रेशमा अपने प्रेमी के साथ भाग गई। पड़ोसियों ने इसकी सूचना तुरंत बरासो थाना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुँचकर सभी को उपचार के लिए मेहगाँव अस्पताल भेजा। जहाँ गंभीर हालत देखते हुए सभी को ग्वालियर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया। पुलिस दोनों (रेशमा और खान) की तलाश में जुट गई है।

बता दें, 13 साल पहले यूपी के अमरोहा में शबनम ने अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर परिवार के सात लोगों को जहर देकर मौत के घाट उतार दिया था। एक साथ सात लोगों की हत्या ने जिले समेत पूरे प्रदेश को हिलाकर रख दिया था। फिलहाल, शबनम अभी सलाखों के पीछे है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -