Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजमहिला से छेड़छाड़, फिर मंदिर में घुस कर मुस्लिम भीड़ ने की तोड़फोड़: ठाणे...

महिला से छेड़छाड़, फिर मंदिर में घुस कर मुस्लिम भीड़ ने की तोड़फोड़: ठाणे में कमिश्नर के पास पहुँचे आक्रोशित हिन्दू, कहा – हम असुरक्षित

आक्रोशित हिन्दुओं ने विरोध प्रदर्शन किया और प्रशासन के समक्ष भी इस घटना को लेकर आपत्ति दर्ज कराई। आरोपितों पर कार्रवाई की माँग की गई।

महाराष्ट्र के ठाणे स्थित हजूरी में एक हिन्दू महिला के साथ छेड़छाड़ की गई है। इतना ही नहीं, इसके बाद जब वो बचने के लिए एक मंदिर में छिपी, तो मुस्लिम भीड़ उस मंदिर तक में घुस गई। पीड़िता सब्जी लेने के लिए बाजार गई थी, छुट्टे देने के नाम पर उसके साथ छेड़छाड़ की घटना को अंजाम दिया गया। जब पीड़िता ने शोर मचाया तो आरोपित भाग खड़ा हुआ। वो किसी तरह एक मंदिर में छिप गई। हालाँकि, कुछ देर बाद ही मुस्लिम भीड़ ने उसे धमकाना शुरू कर दिया।

पीड़ित महिला को धमकी दी गई कि वो केस न दर्ज कराए। बताया जा रहा है कि शुरू में पुलिस ने FIR तक दर्ज करने से इनकार कर दिया था, लेकिन दबाव के बाद मामला लिखा गया। हिन्दू संगठनों ने शनिवार (29 जून, 2024) को सुबह 11 बजे कमिश्नर ऑफिस में जाकर उन्हें मामले से अवगत कराया और ज्ञापन सौंपा। आक्रोशित हिन्दुओं ने विरोध प्रदर्शन किया और प्रशासन के समक्ष भी इस घटना को लेकर आपत्ति दर्ज कराई। आरोपितों पर कार्रवाई की माँग की गई।

शिकायत वाले ज्ञापन में आक्रोशित हिन्दुओं ने लिखा, “हजूरी के हिंदू निवासी बेहद असुरक्षित हो गए हैं। कई महीनों से हिंदू महिलाओं पर अत्याचार हो रहा है और उनकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाई जा रही है। रविवार (23 जून, 2024) को शहजाद शेख द्वारा एक हिंदू महिला के साथ उसके घर पर यौन उत्पीड़न करने का प्रयास किया गया था। खुद को बचाने के लिए हिंदू महिला ने इलाके के शिव मंदिर में शरण ली। यह खबर सुनते ही 100-150 मुस्लिम व्यक्ति मंदिर परिसर में घुस आए और हिंदू पीड़िता को बाहर आने के लिए कहा।”

शिकायत में कहा गया है कि जब पीड़िता ने बाहर आने से इनकार कर दिया तो 100 मुस्लिम लोग चप्पल पहनकर मंदिर में घुस आए और मंदिर में तोड़फोड़ की और धमकियाँ दीं। बकौल हिन्दू कार्यकर्ता, इस घटना से हिंदू मंदिर की पवित्रता भंग हुई है और हजूरी इलाके में धार्मिक तनाव पैदा हो गया है। पत्र में चेताया गया है कि समयबद्ध कार्रवाई न की गई तो हिन्दू समाज आत्मरक्षा के लिए उपाय करेगा। साथ ही पीड़ित परिवार को सुरक्षा उपलब्ध कराए जाने की माँग भी की गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -