Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजमंदिर के बाहर सो रहे पुजारी को चाकुओं से गोदा, लगाए 'सर तन से...

मंदिर के बाहर सो रहे पुजारी को चाकुओं से गोदा, लगाए ‘सर तन से जुदा’ के मजहबी नारे: इकबाल, महताब के साथ कई अन्य नामजद

घायल पुजारी रवि भगत को अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहाँ उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। बताया जा रहा है कि रवि भगत के शरीर के कई हिस्सों में चाकू लगे हैं और उन काफी खून निकल चुका है।इस घटना के बाद हिन्दू संगठनों में आक्रोश फ़ैल गया है। बिट्टू बजरंगी ने फरीदाबाद में घटनास्थल पर हिन्दू पंचायत करने का एलान किया है।

हरियाणा के फरीदाबाद में शुक्रवार (28 जून 2024) को रवि भगत नाम के एक युवक की गर्दन काटने का प्रयास किया गया है। पीड़ित एक मंदिर का पुजारी है। इकबाल और महताब ने अपने साथियों के साथ मिलकर यह हमला मंदिर के सामने ही अंजाम दिया। बताया जा रहा है कि इस दौरान ‘सिर तन से जुदा’ के नारे भी लगाए गए। गंभीर रूप से घायल रवि भगत का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज करके जाँच शुरू कर दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना फरीदाबाद के थाना क्षेत्र मुजेसर की है। यहाँ की जनता कॉलोनी में काली माता का एक मंदिर है। इस मंदिर की देखरेख और पूजा-पाठ का काम रवि भगत करते हैं। शुक्रवार की रात को रवि भगत मंदिर के बाहर चारपाई पर सो रहे थे।

आरोप है कि इसी दौरान हमलावर रवि भगत के पास आए और उन्हें दबोचा लिया और उनकी गर्दन चाकू से रेतने लगा। शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया है कि हमलावरों ने सिर तन से जुदा के नारे भी लगाए।आसपास के कुछ अन्य निवासियों ने भी इस नारे को सुनने का दावा किया है। हमले के बाद हमलावर घटनास्थल से भाग निकले।

रवि भगत के रिश्तेदार ने बताया कि दिन भर प्याऊ में लोगों को पानी पिलाकर और मंदिर का विधि-विधान निबटाकर रवि भगत सोने चले गए थे। मंदिर के बाहर उनसे कुछ दूरी पर उनकी 5 साल की बेटी भी सो रही थी। आधी रात के बाद कुछ हमलावर मंदिर की तरफ आए और उन्होंने रवि भगत से बहस करना शुरू कर दिया। फिर हमला कर दिया।

आरोप है कि हमलावरों द्वारा हमले के दौरान चाकू और सूजे का इस्तेमाल किया गया था। घटना के दौरान पीड़ित पुजारी की बेटी अपने पिता की हालात देखकर चीखने लगी। चीखने की आवाज सुनकर आसपास के लोग मंदिर के पास जमा हो गए। लोगों का जमावड़ा देख कर हमलावर भाग निकले। हमलावरों में महताब और इक़बाल के अलावा शशि और वाधवा उपनाम वाले लोग भी बताए जा रहे हैं।

घायल पुजारी रवि भगत को अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहाँ उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। बताया जा रहा है कि रवि भगत के शरीर के कई हिस्सों में चाकू लगे हैं और उन काफी खून निकल चुका है।इस घटना के बाद हिन्दू संगठनों में आक्रोश फ़ैल गया है। बिट्टू बजरंगी ने फरीदाबाद में घटनास्थल पर हिन्दू पंचायत करने का एलान किया है।

पुलिस के मुताबिक अब तक की जाँच में धार्मिक उन्माद की बात निकल कर नहीं आई है। हालाँकि, इस घटना के अन्य पहलुओं को खंगाला जा रहा है। नामजद आरोपित फरार हैं, जिनकी तलाश में पुलिस द्वारा जगह-जगह दबिश दी जा रही है। घटनास्थल और आसपास के क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -