Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजमानसिक दिव्यांग युवक का अपहरण, कुकर्म की वजह से गुप्तांग से आ गया खून;...

मानसिक दिव्यांग युवक का अपहरण, कुकर्म की वजह से गुप्तांग से आ गया खून; पहले भी नाबालिग बच्चे को हवस का शिकार बना चुका मोहम्मद अयूब खाँ धराया

यह घटना पाली जिले के थाना क्षेत्र सुमेरपुर की है। यहाँ मस्जिद गली के पास रहने वाला अयूब एक ढाबे पर काम करता है। 10 मार्च को मानसिक तौर पर दिव्यांग युवक भटकते हुए उसकी गली के पास पहुँच गया।

राजस्थान के पाली जिले में एक 21 वर्षीय युवक से कुकर्म का मामला सामने आया है। पीड़ित मानसिक तौर पर दिव्यांग बताया जा रहा है। अप्राकृतिक सेक्स का आरोप मोहम्मद अयूब खाँ नाम के एक व्यक्ति पर लगा है जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। घटना 10 मार्च 2024 की है। अयूब पर पूर्व में भी एक नाबालिग बच्चे से कुकर्म करने का आरोप लग चुका है। पुलिस अयूब को रिमांड पर ले कर उसकी अन्य करतूतों की जानकारी जुटाने में लगी हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह घटना पाली जिले के थाना क्षेत्र सुमेरपुर की है। यहाँ मस्जिद गली के पास रहने वाला अयूब एक ढाबे पर काम करता है। 10 मार्च को मानसिक तौर पर दिव्यांग युवक भटकते हुए उसकी गली के पास पहुँच गया। यहाँ रास्ते में उसे अयूब मिला। उसने युवक को डराया-धमकाया और जबरन एक ऑटो में बिठा लिया। यहाँ से वो पीड़ित को अपने साथ शिवगंज और फालना नाम की 2 जगहों पर ले गया। आरोप है कि इन दोनों स्थानों पर उसने पीड़ित से कुकर्म किया।

कुकर्म के बाद अयूब पीड़ित को ऑटो से सुमेरपुर इलाके में छोड़ दिया और खुद भाग निकला। अयूब की करतूत से पीड़ित के प्राइवेट पार्ट में घाव हो गया था। वह जैसे-तैसे अपने घर पहुँचा तो परिजनों ने घाव देख कर इसकी वजह पूछी। अयूब का नाम सामने आने पर उसके खिलाफ पुलिस में तहरीर दी गई। पीड़ित को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया। पुलिस ने मोहम्मद अयूब खाँ को गिरफ्तार कर लिया है। अपहरण और अप्राकृतिक सेक्स की धाराओं में FIR दर्ज की गई है।

शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि कुकर्म को ले कर अयूब का इतिहास भी कलंकित रहा है। उस पर साल 2005 में भी एक नाबालिग बच्चे से कुकर्म करने का आरोप लगा था। इस्माइल खान के बेटे अयूब पर आरोप है कि वो नाबालिग बच्चों को अपना शिकार बनाता है। बाद में वो मासूमों को डरा धमका कर मुँह बंद रखने की धमकी भी देता है। पुलिस ने अयूब का काला इतिहास खँगालने के लिए अदालत से उसका कस्टडी रिमांड लिया है। माना जा रहा है कि अभी अयूब की कई और करतूतों से पर्दा उठ सकता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -