Wednesday, November 30, 2022
Homeदेश-समाज'जाके पाँव न फटी बिवाई, वो क्या जाने पीर पराई': UP को 9 मेडिकल...

‘जाके पाँव न फटी बिवाई, वो क्या जाने पीर पराई’: UP को 9 मेडिकल कॉलेज दे बोले PM मोदी- CM योगी ने गरीबों का दर्द समझा

पीएम मोदी ने कहा, "सात साल पहले जो दिल्ली में सरकार थी और चार साल पहले जो यहाँ यूपी में सरकार थी, वो पूर्वांचल में क्या करते थे? जो पहले सरकार में थे, वो वोट के लिए कहीं डिस्पेंसरी की, कहीं छोटे-मोटे अस्पताल की घोषणा करके बैठ जाते थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (25 अक्टूबर 2021) उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर और वाराणसी दौरे पर हैं। पीएम मोदी ने सिद्धार्थनगर के माधव प्रसाद त्रिपाठी मेडिकल कॉलेज सहित 2,329 करोड़ रुपये की लागत से बनी प्रदेश के नौ मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण किया। इसके अलावा, प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का भी शुभारंभ किया। सिद्धार्थनगर में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि 9 मेडिकल कॉलेजों के उद्घाटन के साथ ही पूर्वांचल को नया उपहार मिला है।

पीएम मोदी ने कहा, “सात साल पहले जो दिल्ली में सरकार थी और चार साल पहले जो यहाँ यूपी में सरकार थी, वो पूर्वांचल में क्या करते थे? जो पहले सरकार में थे, वो वोट के लिए कहीं डिस्पेंसरी की, कहीं छोटे-मोटे अस्पताल की घोषणा करके बैठ जाते थे। सालों-साल तक या तो बिल्डिंग ही नहीं बनती थी, बिल्डिंग होती थी तो मशीनें नहीं होती थीं, दोनों हो गईं तो डॉक्टर और दूसरा स्टाफ नहीं होता था। ऊपर से गरीबों के हजारों करोड़ रुपए लूटने वाली भ्रष्टाचार की साइकिल चौबीसों घंटे अलग से चलती रहती थी।” उन्होंने कहा कि ‘जाके पाँव न फटी बिवाई, वो क्या जाने पीर पराई’। 

प्रधानमंत्री मोदी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि वे कम उम्र में ही सांसद बन गए थे और लगातार पूर्वांचल के विकास के लिए कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “जब योगी जी को जनता-जनार्दन ने सेवा का मौका दिया तो कैसे उन्होंने दिमागी बुखार को बढ़ने से रोक दिया, इस क्षेत्र के हजारों बच्चों का जीवन बचा लिया। सरकार जब संवेदनशील हो, गरीब का दर्द समझने के लिए मन में करुणा का भाव हो तो इसी तरह काम होता है।” 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि जिस पूर्वांचल की छवि पिछली सरकारों ने खराब कर दी थी, जिस पूर्वांचल को दिमागी बुखार से हुई दुखद मौतों की वजह से बदनाम कर दिया गया था, वही पूर्वांचल, वही उत्तर प्रदेश, पूर्वी भारत को सेहत का नया उजाला देने वाला है। यूपी के भाई-बहन भूल नहीं सकते कि कैसे योगी जी ने संसद में यूपी की बदहाल मेडिकल व्यवस्था की व्यथा सुनाई थी। योगी जी तब मुख्यमंत्री नहीं थे, सांसद थे।

5,200 करोड़ रुपए की विकास योजनाओं का उद्घाटन

इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी के लिए 5,200 करोड़ रुपए से अधिक की विभिन्न विकास परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना (PMASBY) पूरे भारत में स्वास्थ्य देखभाल के बुनियादी ढाँचे को मजबूत करने वाली देश की सबसे बड़ी योजनाओं में से एक होगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोता हुआ आम का पेड़, आरती के समय मंदिर में देवता को प्रणाम करने वाला ताड़ का वृक्ष… वेदों से प्रेरित था जगदीश चंद्र...

छुईमुई का पौधा हमारे छूते ही प्रतिक्रिया देता है। जगदीश चंद्र बोस ने दिखाया कि अन्य पेड़-पौधों में भी ऐसा होता है, लेकिन नंगी आँखों से नहीं दिखता।

‘मौलाना साद को सौंपी जाए निजामुद्दीन मरकज की चाबियाँ’: दिल्ली HC के आदेश पर पुलिस को आपत्ति नहीं, तबलीगी जमात ने फैलाया था कोरोना

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज की चाबी मौलाना साद को सौंपने की हिदायत दी। पुलिस ने दावा किया है कि वह फरार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,143FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe