Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजउमेश पाल की हत्या में शामिल थे अतीक अहमद के सारे बेटे, जो नाबालिग...

उमेश पाल की हत्या में शामिल थे अतीक अहमद के सारे बेटे, जो नाबालिग थे उन्हें सौंपा था रेकी का काम: यूपी पुलिस की चार्जशीट में खुलासा

आरोपितों में छह मारे जा चुके हैं। इनमें से अतीक, उसका भाई अशरफ, बेटा असद सहित छह आरोपित मारे जा चुके हैं। वहीं, अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन, अशरफ की बीवी और गुड्डू मुस्लिम अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस उन्हें तलाश कर रही है।

विधायक राजू पाल हत्याकांड के गवाह रहे उमेश पाल की हत्या के मामले में प्रयागराज पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। चार्जशीट में कहा गया है कि उमेश पाल की हत्या में मृतक माफिया अतीक अहमद के दो नाबालिग सहित सभी पाँच बेटे शामिल थे। असद अहमद, अली अहमद, मोहम्मद उमर और दोनों नाबालिग बेटों को आरोपित बनाया गया है।

उत्तर पुलिस द्वारा दाखिल दूसरी चार्जशीट में पुलिस ने कुल 8 लोगों को आरोपित बनाया है। इनमें अतीक के दो नाबालिग बेटों के अलावा, अतीक के नौकर राकेश उर्फ लाला, ड्राइवर कैश अहमद के साथ मोहम्मद अरशद कटरा, नियाज अहमद, इकबाल अहमद और नौकर शाहरुख का नाम शामिल है।

प्रयागराज के एसटी-एससी कोर्ट में दाखिल की गई इस चार्जशीट में पुलिस ने अतीक के बहनोई डॉक्टर अखलाक अहमद और उसके वकील खान सौलत हनीफ का नाम भी शामिल किया है। इन दोनों ने हत्या के आरोपितों को अपने घर में पनाह दी थी और उन्हें भगाने में आर्थिक सहित कई मदद दी थी।

चार्जशीट में वकील सौलत ने अतीक अहमद की अवैध कारोबार एवं संपत्तियों के बारे में जो बताया है, उसका भी जिक्र किया गया है। चार्जशीट में कहा गया है कि सौलत हनीफ ने अपने आईफोन से उमेश पाल के साथ-साथ उसकी पत्नी जया पाल की तस्वीर भी असद को भेजी थी।

चार्जशीट में पुलिस ने 11 फरवरी को बरेली जेल में अतीक अहमद के भाई अशरफ के साथ शूटरों की हुई मुलाकात का सीसीटीवी फुटेज लगाया है। इसके अलावा, 7 अन्य फोटो भी दिया गया था। 13 और 15 फरवरी को नैनी जेल में अली से सदाकत, मोहम्मद गुलाम और गुड्डू मुस्लिम की मुलाकात की चार तस्वीरें भी चार्जशीट में सबूत के तौर पर लगाई गई हैं।

इस हत्याकांड में करीब 11 लोगों को नामजद किया गया था। पुलिस की जाँच के बाद चार्जशीट में अतीक के दो नाबालिग बेटों के नामों का भी जिक्र किया गया है। बता दें कि 24 फरवरी को उमेश पाल की प्रयागराज में हत्या कर दी गई थी। इसके बाद अतीक के दोनों नाबालिग बेटों को पुलिस ने उठाया था। दोनों को रिमांड होम में रखा गया है।

इन दोनों नाबालिग लड़कों ने उमेश पाल के घर की रेकी की थी। अतीक अहमद के दो अन्य बेटे उमर और अली फिलहाल जेल में बंद हैं। वहीं, एक बेटा असद अहमद पुलिस एनकाउंटर में मारा जा चुका है। असद हत्या को अंजाम देने के बाद फरार हो गया था और पुलिस लगातार उसकी खोजबीन कर रही थी।

आरोपितों में छह मारे जा चुके हैं। इनमें से अतीक, उसका भाई अशरफ, बेटा असद सहित छह आरोपित मारे जा चुके हैं। वहीं, अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन, अशरफ की बीवी और गुड्डू मुस्लिम अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस उन्हें तलाश कर रही है।

उमेश पाल हत्या मामले में उनकी पत्नी जया पाल ने 25 फरवरी को प्रयागराज के धूमनगंज थाने में FIR दर्ज कराई थी। इसमें अतीक अहमद, उसके भाई अशरफ, पत्नी शाइस्ता, बेटों, गुड्डू मुस्लिम, साबिर, अरमान, मोहम्मद गुलाम व अन्य को नामजद किया था।

इस एफआईआर के बाद IPC की धारा 147, 148, 149, 302, 307, 305, 34, 120बी के अलावा विस्फोटक पदार्थ अधिनियम की धारा 3, क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट की धारा 7, एसटी एक्ट की धारा 3(2)(5) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -