Saturday, September 18, 2021
Homeदेश-समाजराधास्वामी सत्संग व्यास ने इंदौर में बनाया देश का दूसरा सबसे बड़ा कोविड केयर...

राधास्वामी सत्संग व्यास ने इंदौर में बनाया देश का दूसरा सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर: कोरोना से जंग में उतरे कई और मंदिर

600 बिस्तरों वाले राधास्वामी सत्संग व्यास सेंटर में मरीजों के मनोरंजन की भी अच्छी व्यवस्था की गई है। आवश्यकता पड़ने पर अधिकतम यहाँ 6 हजार बिस्तरों की भी व्यवस्था की जा सकेगी। इसके परिसर में 10 बड़े एलईडी लगाए गए हैं, जिसमें रामायण, महाभारत के साथ ही आईपीएल का टेलीकॉस्ट भी किया जाएगा।

देशभर में कोरोना की दूसरी लहर ने कहर मचा रखा है। ऐसे में देश के प्रतिष्ठित मंदिरों ने एक बार फिर से जनसेवा के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। राधास्वामी सत्संग व्यास ने मध्य प्रदेश के इंदौर में देश का दूसरा सबसे बड़ा कोविड सेंटर बनाया है।

इंदौर-खंडवा रोड पर बनाए गए इस कोविड सेंटर को जनसेवा के तहत तैयार किया गया है। यह प्रदेश का सबसे बड़ा कोविड सेंटर है, जिसे “माँ अहिल्या कोविड केयर सेंटर” नाम दिया गया है।

600 बिस्तरों वाले इस सेंटर में मरीजों के मनोरंजन की भी अच्छी व्यवस्था की गई है। आवश्यकता पड़ने पर अधिकतम यहाँ 6 हजार बिस्तरों की भी व्यवस्था की जा सकेगी। इसके परिसर में 10 बड़े एलईडी लगाए गए हैं, जिसमें रामायण, महाभारत के साथ ही आईपीएल का टेलीकॉस्ट भी किया जाएगा।

पंजाब केसरी की रिपोर्ट के मुताबिक, कोविड सेंटर में गुरुवार (22 अप्रैल 2021) से मरीजों को भर्ती किया जाना शुरू हुआ। इस कोविड केयर सेंटर में 4 ब्लॉक बनाए गए हैं। इंदौर के चार बड़े अस्पताल बॉम्बे हॉस्पिटल, मेदांता, चोइथाराम अस्पताल और अपोलो इन चारों ब्लॉकों की निगरानी करेंगे।

यहाँ भर्ती होने वाले मरीजों की सुविधाओं का खासा ध्यान रखा गया है। मरीजों के इलाज के लिए डॉक्टरों की टीम तो सेवा कार्यों के लिए राधास्वामी न्यास के स्वयंसेवक रहेंगे। यहाँ मरीजों को भर्ती करने के लिए शनिवार (24 अप्रैल 2021) से फोन नंबर 0731-2583838 पर सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक संपर्क किया जा सकेगा।

एसिम्टोमैटिक मरीजों को रखा जाएगा यहाँ

इंदौर स्थित प्रदेश के सबसे बड़े कोविड सेंटर में एसिम्टोमैटिक मरीजों को रखा जाएगा। ये वो मरीज हैं, जिनमें कोरोना के लक्षण नहीं हैं या कम हैं। साथ ही जिन लोगों के घरों में आईसोलेशन की व्यवस्था नहीं है, उन्हें यहाँ रखा जाएगा।

दो ऑक्सीजन प्लांट भी तैयार किए जा रहे

इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया है कि कोविड केयर सेंटर में जनभागीदारी से करीब 2 करोड़ से अधिक की लागत से दो ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं, जिनकी क्षमता 850 लीटर प्रति मिनट की रहेगी। उन्होंने यह भी कहा कि यहाँ मरीजों को हर तरह की सुविधाएँ मिलेंगी।

अन्य मंदिर भी जनमानस की मदद के लिए आगे आए

कोरोना के दौर में देश के कई मंदिरों ने जनता की मदद के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। ऑपइंडिया ने इसको लेकर शुक्रवार (23 अप्रैल 2021) को एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी। इसके मुताबिक, द्वारका के इस्कॉन मंदिर ने संकट के इस समय में जब दिल्ली में कई पाबंदियाँ लागू हैं, गरीबों तक भोजन पहुँचाने का फैसला लिया है। मंदिर से जुड़ी महिमा सब्बरवाल ने बताया कि ‘फ़ूड फॉर लाइफ’ के तहत ‘श्रवण कुमार सेवा’ का संचालन किया जा रहा है। इसके तहत 15 हजार लोगों को इसके तहत डिब्बे में पैक करके भोजन पहुँचाया जा रहा है।

मुंबई के कांदिवली इलाके में स्थित पावन धाम जैन मंदिर में कोविड केयर अस्पताल बना दिया गया है। यहाँ 100 बेड्स हैं और हरेक बेड के लिए ऑक्सीजन का भी इंतजाम किया गया है। पावन धाम जैन मंदिर में स्टडी रूम, मेडिटेशन रूम और किचन सहित कई सुविधाएँ हैं। अब तक यहाँ धार्मिक कार्य ही होते आए हैं। इसी तरह से ओडिशा का जगन्नाथ पुरी मंदिर, काशी विश्वनाथ मंदिर, गुजरात के वड़ोदरा स्थित स्वामी नारायण मंदिर समेत कई अन्य मंदिर जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आए हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,947FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe