Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजराजस्थान: मौलवी की गिरफ्तारी के बाद समुदाय विशेष के लोगों का थाने पर हमला

राजस्थान: मौलवी की गिरफ्तारी के बाद समुदाय विशेष के लोगों का थाने पर हमला

भीड़ द्वारा अचानक हुए इस पथराव में थाने में खड़ी पुलिस जीप सहित दर्जनों दुपहिया वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस की रैपिड एक्शन टीम और आरएसी के जवान मौके पर पहुँचे और पत्थरबाजों की भीड़ पर लाठीचार्ज कर उसे तितर-बितर किया।

राजस्थान के बारां शहर में समुदाय विशेष के लोगों ने जमकर उत्पात मचाया। शुक्रवार (मार्च 19, 2020) रात थाने पर ही हमला कर दिया। पुलिसकर्मियों पर जमकर पत्थर बरसाए। एक आरोपित मौलवी की गिरफ्तारी से यह बवाल शुरू हुआ है। तकरीबन तीन सौ लोगों ने मौलवी को छुड़ाने के लिए कोतवाली थाने के अंदर घुसकर वहाँ मौजूद अधिकारियों पर पत्थरों से हमला बोल दिया। इसमें एक एएसआई सहित कुछ अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गए।

एक रिपोर्ट के अनुसार, मुस्लिम समुदाय की भीड़ के थाने में घुसकर पत्थरबाजी के दौरान पुलिस के आधा दर्जन जवानों के साथ डीएसपी महावीर शर्मा, एएसआई भरत सिंह भी घायल हो गए। पत्थरबाज भीड़ थाने में ही दर्जनों से अधिक बाइक छोड़कर फरार हो गई। इस मामले में पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। सूचना मिलने पर एडीएम अबुबक्र ने कोतवाली पहुँचकर घटना का जानकारी ली। इस घटना के बाद शहर में तनाव की स्थिति बनी हुई है।

पुलिस ने पत्थरबाजों पर FIR दर्ज की है। इसमें 49 नामजद और 150 अन्य लोग शामिल हैं। कोतवाली थाने में मौलवी को छुड़ाने के लिए पहुँचे मुस्लिम समुदाय के इन लोगों पर बाद में पुलिस ने लाठियाँ बरसाई और पत्थरबाज करीब 25 मोटरसाइकिल मौके पर ही छोड़कर फरार हो गए। भीड़ द्वारा अचानक हुए इस पथराव में थाने में खड़ी पुलिस जीप सहित दर्जनों दुपहिया वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस की रैपिड एक्शन टीम और आरएसी के जवान मौके पर पहुँचे और पत्थरबाजों की भीड़ पर लाठीचार्ज कर उसे तितर-बितर किया। यहाँ तक कि पत्थरबाजों पर काबू पाने के लिए पुलिस को पंप एक्शन गन भी चलानी पड़ी। इसके बाद कुछ पत्थरबाज मस्जिद में छुप गए और कुछ वहीं छिपकर पत्थरबाजी करते रहे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe