Wednesday, September 28, 2022
Homeदेश-समाजमोहर्रम पर उदयपुर के ताजिए में आग, हिंदुओं ने बुझाई: जले गुंबद को ढँकने...

मोहर्रम पर उदयपुर के ताजिए में आग, हिंदुओं ने बुझाई: जले गुंबद को ढँकने महिला ने दी साड़ी; यहीं हुआ था कन्हैया हत्याकांड

28 जून 2022 को पूर्व बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले टेलर कन्हैयालाल की गला रेत कर निर्मम हत्या कर दी गई थी। हत्यारे उनकी दुकान पर कपड़े सिलवाने के बहाने आए थे। इसके बाद हत्यारों ने इस जघन्य वारदात का वीडियो बनाया और उसे वायरल कर दिया था।

राजस्थान के उदयपुर (Udaipur, Rajasthan) में जिस जगह पर इस्लाम के नाम पर कन्हैयालाल साहू (Kanhaiya Lal Sahu) की सरेआम गला काटकर हत्या कर दी गई थी, वहाँ मुहर्रम की जुलूस में आग लगने पर हिंदुओं ने अपना कर्तव्य निभाते हुए उसे बुझा दिया। एक हिंदू महिला ने तो अपनी साड़ी ही दे दी।

घटना मंगलवार (9 अगस्त 2022) की शाम की है। मोहर्रम का जुलूस शहर के मोचीवाड़ा की गलियों से निकल रहा था। इसी दौरान इसके गुंबद में आग लग गई। हिंदू मोहल्ले में हुई इस घटना को देखते हुए आसपास के परिवारों ने कुछ ही मिनटों में आग को बुझा दिया।

एक हिंदू महिला ने जली हुई ताजिया की गुंबद को ढँकने के लिए अपनी साड़ी दे दी। बता दें कि यह वही जगह है, जहाँ लगभग डेढ़ महीने पहले कन्हैया लाल की गला काटकर हत्या कर दी गई थी। जिस जगह पर ताजिया में आग लगी, उससे सिर्फ 300 मीटर की दूरी पर इस घटना को अंजाम दिया गया था।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, मोचीवाड़ा के रहने वाले श्याम सुंदर सोलंकी ने बताया कि उनके घर के सामने ही आग लगी थी। उनका घर चार मंजिला होने के कारण उन्होंने सबसे पहले इसे देखा। उनका कहना है कि उन्होंने बिना सोचे-समझे उस पर पानी डालना शुरू कर दिया।

श्याम सुंदर के अनुसार, मुस्लिमों ने ताजिया को ढँकने के लिए लोगों से लाल कपड़ा माँगा, लेकिन किसी के पास लाल कपड़ा नहीं था। इसके बाद उनकी भाभी रेखा ने अपनी लाल रंग की नई साड़ी दे दी।

इस घटना के बाद स्थानीय निकाय उपनिदेशक कौशल कोठारी ने कहा कि लोगों ने जिन लोगों ने सामाजिक सौहार्द्र का परिचय दिया है, उनके नाम नोट कर लिए गए हैं। उन्हें प्रशासन की ओर से सम्मानित किया जाएगा।

वहीं, पलटन मस्जिद कमेटी के सेक्रेटरी रियाज हुसैन ने बताया कहा, “जिन्होंने आग बुझाई हम उनको धन्यवाद देते हैं। उन्होंने बड़ा काम किया है।” प्रशासन का कहना है कि आग शॉर्ट सर्किट लगी या दीये से, यह कहना मुश्किल है।

इसी इलाके में कन्हैयालाल की हुई थी हत्या

बता दें कि 28 जून 2022 को पूर्व बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले टेलर कन्हैयालाल की गला रेत कर निर्मम हत्या कर दी गई थी। हत्यारे उनकी दुकान पर कपड़े सिलवाने के बहाने आए और गर्दन काट दी थी। इतना ही नहीं हत्यारों ने इस जघन्य वारदात का वीडियो भी बनाया और उसे वायरल कर दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मूर्तिपूजकों को जहाँ देखो, वहीं लड़ो-काटो… ऐसे बनाओ IED बम: PFI पर 5 साल का बैन क्यों लगा, पढ़िए इसके कुकर्मों की पूरी लिस्ट

भारत सरकार ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI) और उससे जुड़ी 8 संस्थाओं पर बैन लगा दिया है। PFI की देश विरोधी गतिविधियों के कारण...

‘ब्रह्मांड के केंद्र’ में भारत माता की समृद्धि के लिए RSS प्रमुख मोहन भागवत ने की प्रार्थना, मेघालय के इसी जगह पर है ‘स्वर्णिम...

सेंग खासी एक सामाजिक-सांस्कृतिक और धार्मिक संगठन है जिसका गठन 23 नवंबर, 1899 को 16 युवकों ने खासी संस्कृति व परंपरा के संरक्षण हेतु किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,749FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe