Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजकिन्नर साबिर ने मजदूर को अपनी बातों में फँसाकर बनाए अवैध संबंध: जबरन बनाया...

किन्नर साबिर ने मजदूर को अपनी बातों में फँसाकर बनाए अवैध संबंध: जबरन बनाया मुस्लिम और करवाया खतना

"शाहजमाल क्षेत्र मुस्लिम बाहुल्य है। वहाँ कारखाने में काम करने वाले राहुल की मुलाकात साबिर नाम के नकली किन्नर से हुई थी। कुछ दिनों में दोनों एक दूसरे के इतने करीब आ गए कि...."

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के रोरावर थाना क्षेत्र में युवक का जबरन धर्मांतरण कराने का मामला सामने आया है। आरोप है कि मजदूरी करने वाले युवक का खतना भी कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि किन्नर ने पहले मजदूर को अपनी बातों में फँसाकर उसके सा​थ अवैध संबंध बनाए फिर जबरन उसका धर्म परिवर्तन करा दिया। शुक्रवार (6 अगस्त) को पूर्व मेयर शकुंतला भारती ने SSP से मुलाकात करके इस मामले पर कार्रवाई की माँग की। पुलिस ने धर्मांतरण मामले में किन्नर के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है।

मामले पर पूर्व मेयर शकुंतला भारती ने कहा कि शाहजमाल क्षेत्र मुस्लिम बाहुल्य है। वहाँ कारखाने में काम करने वाले राहुल की मुलाकात साबिर नाम के नकली किन्नर से हुई थी। कुछ दिनों में दोनों एक दूसरे के इतने करीब आ गए कि इनके बीच शारीरिक संबंध बन गए। इसी बीच किन्नर साबिर ने राहुल का जबरन खतना करा कर उसको मुसलमान बना दिया। दो महीने बाद जब राहुल के परिजनों को इसके बारे में पता चला, तो उन्होंने उसे घर बुला लिया।

राहुल ने एसएसपी अलीगढ़ को अपनी शिकायत में बताया, “रोरावर थाना क्षेत्र के गोंडा रोड पर रहने वाले एक किन्नर साबिर ने मुझे झाँसे में लेकर जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करा दिया है। किन्नर मुझे अपने साथ जबरदस्ती रखना चाहता है और मेरा शोषण करता है। जैसे-तैसे मैं भाग कर अपने घर पहुँचा तो वो मेरे घर पर भी आ गया और जबरदस्ती मुझे अपने साथ ले जाने लगा। वो मेरे परिवार के लोगों पर भी दवाब डाल कर उनका भी धर्म परिवर्तन कराना चाहता है।”

पुलिस क्षेत्राधिकारी राघवेंद्र सिंह ने बताया कि थाना रोरावर में प्रार्थी द्वारा एक शिकायत पत्र दिया गया है, जिसमें एक किन्नर पर उसने जबरन धर्म परिवर्तन का आरोप लगाया है। इसके आधार पर मामला पंजीकृत कर लिया गया है। पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शुक्र है मीलॉर्ड ने भी माना कि वो इंसान हैं! चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने को मद्रास हाई कोर्ट ने नहीं माना था अपराध, अब बदला...

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को अपराध नहीं बताने वाले फैसले को मद्रास हाई कोर्ट के जज एम. नागप्रसन्ना ने वापस लिया और कहा कि जज भी मानव होते हैं।

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -