Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजRSS ने सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों के बीच बाँटे 14,000 से अधिक...

RSS ने सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों के बीच बाँटे 14,000 से अधिक फूड पैकेट

RSS कार्यकर्ताओं ने रविवार को मध्य प्रदेश के बुरहानपुर रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों के लिए ठंडे पानी की व्यवस्था की। राजस्थान के कोटा में स्वयंसेवकों ने इम्युनिटी सिस्टम मजबूत करने के लिए 1500 से अधिक लोगों को 'काढ़ा' बाँटा।

देश कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहा है। लॉकडाउन के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) इस दौरान अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह से निभा रहा है। संघ के स्वयंसेवक जरूरतमंदों को भोजन, पानी, दवा और अन्य आवश्यक सामानों की आपूर्ति कर रहे हैं।

इसी के तहत हैदराबाद के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने रविवार (मई 24, 2020) को दूसरे प्रदेशों से अपने घर लौट रहे राहगीरों एवं प्रवासी मजदूरों के बीच 14,000 से अधिक फूड पैकेट्स वितरित किए। इसके साथ ही स्वयंसेवकों ने स्टेशन की साफ-सफाई भी की।

स्वयंसेवकों ने बताया कि काफी दूरदराज से प्रवासी मजदूर अपने प्रदेश की ओर लौट रहे हैं जो कई दिनों से भूखे-प्यासे हैं। उन्हें खाना नहीं मिला रहा है। ऐसी स्थिति में संघ आगे आकर के इनकी सेवा कर रहा है। उन्होंने कहा कि संघ का उद्देश्य निस्वार्थ भाव से प्रवासी मजदूरों की सेवा करना है। 

इससे पहले शनिवार (मई 23, 2020) को स्वयंसेवकों ने सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों के के बीच 8900 लंच पैकेट्स, 3000 पानी की बोतल, 2000 मास्क और 4300 बिस्किट के पैकेट बाँटे।

वहीं आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने रविवार को मध्य प्रदेश के बुरहानपुर रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों के लिए ठंडे पानी की व्यवस्था की। राजस्थान के कोटा में स्वयंसेवकों ने इम्युनिटी सिस्टम मजबूत करने के लिए 1500 से अधिक लोगों को ‘काढ़ा’ बाँटा।

23 मई को RSS के प्रचार विभाग द्वारा चलाए जा रहे ‘प्रेरणा’ केन्द्र की ओर से सोशल मीडिया पर संघ के कार्यों को लेकर कुछ आँकड़े पेश किए गए थे। संघ कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए सेवा कार्यों के यह आँकड़े 20 मई, 2020 तक के थे।

शेयर किए गए आँकड़ों के मुताबिक संघ की प्रेरणा से चलने वाले सेवा विभाग के 4,79,949 कार्यकर्ताओं ने पूरे देश में 85,701 स्थानों पर विभिन्न प्रकार से सेवा के कार्य किए हैं, जिन्होंने 27,98,091 प्रवासी मजदूरों को सीधे सहायता पहुँचाई है।

संघ ने देश के सुदूर इलाक़ों में भी मदद पहुँचाई है। म्यांमार, बांग्लादेश सीमा और पाकिस्तान सीमा पर भी लोगों को मदद पहुँचाई जा रही है। गौरतलब है कि दिल्ली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ काफ़ी काम कर रहा है और लगातार जनसेवा में लगा हुआ है। संघ के संगठन ‘सेवा भारती’ ने पूरी दिल्ली में ग़रीबों को खाना खिलाने से लेकर बेसहारा लोगों को ज़रूरी संसाधन मुहैया कराने के लिए दिन-रात एक किया हुआ है। 

संघ न सिर्फ़ लोगों के खाने-पीने का प्रबंध कर रहा है, बल्कि उनके स्वास्थ्य का भी ध्यान रख रहा है। संघ ने अब तक 50,48,088 परिवारों को राशन किट मुहैया कराया है। इतनी बड़ी संख्या में परिवारों तक पहुँचना ये बताता है कि आरएसएस देश के दूर-दराज इलाक़ों में भी कमान थामे हुए है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जगह-जगह पर ब्लड डोनेशन कैम्प भी आयोजित कर रहा है। संघ कार्यकर्ता बढ़-चढ़ कर रक्तदान कर रहे हैं। अब तक 22,446 स्थानों पर ब्लड डोनेशन कैम्पस आयोजित किए गए हैं। लोगों को कोरोना से बचाव के लिए मास्क और सैनिटाइजर्स भी वितरित किए गए हैं। अब तक 44,54,555 मास्क ज़रूरतमंदों के बीच बाँटे जा चुके हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

‘हिंदी राष्ट्रभाषा है, थोड़ी-बहुत सबको आनी चाहिए’: ये कहने पर Zomato ने कर्मचारी को कंपनी से निकाला, तमिल ग्राहक ने की थी शिकायत

फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato ने अपने एक कस्टमर केयर कर्मचारी को फायर कर दिया, क्योंकि उसने कहा था कि थोड़ी-बहुत हिंदी सबको आनी चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe