Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश-समाजताजिया जुलूस को लेकर भिड़ा मुस्लिमों का ही 2 पक्ष, जम कर हुई हिंसा...

ताजिया जुलूस को लेकर भिड़ा मुस्लिमों का ही 2 पक्ष, जम कर हुई हिंसा और पत्थरबाजी: बीच-बचाव कर रहे बुजुर्ग को भी जड़ दी लाठी, चिड़ीमार टोले का वीडियो वायरल

आरोप है कि कुछ ही देर में बहस ने हिंसा का रूप ले लिया। दोनों तरफ से एक-दूसरे पर लाठी-डंडे बरसने लगे। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में ताजिया जुलूस के दौरान 2 पक्षों में विवाद हो गया। विवाद के दौरान लाठी-डंडे चलाने के साथ-साथ पत्थरबाजी भी की गई है। घटना में लगभग आधे दर्जन लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनका इलाज करवाया जा रहा है। पुलिस ने केस दर्ज कर के जाँच शुरू कर दी है। घटना 8-9 सितम्बर रात की है। झगड़े में शामिल दोनों पक्ष एक ही समुदाय के बताए जा रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना हरदोई के थानाक्षेत्र मल्लावाँ की है। यहाँ शुक्रवार (8 सितंबर, 2023) को बाजार के टोला चिड़ीमार में एक पक्ष ने चेहल्लुम के मद्देनजर ताजिए का जुलूस निकला था। ताजिया ले जा रहे लोगों में ग्यास, मोहम्मद अमान और बबलू आदि शामिल थे। शिकायत के मुताबिक चंदन, शकील, जग्गीर, सलमान और रवावुल ने चिड़ीमार टोले में ताजियादारों से झगड़ा शुरू कर दिया। आरोप है कि हमलावरों के हाथों में लाठी-डंडे थे। झगड़े की वजह ताजिया आगे-पीछे करने से शुरू हुई बहस बताई गई।

आरोप है कि कुछ ही देर में बहस ने हिंसा का रूप ले लिया। दोनों तरफ से एक-दूसरे पर लाठी-डंडे बरसने लगे। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में हमलावरों व पीड़ितों में नाबालिग भी शामिल दिखाई दे रहे हैं। मौके पर चीख-पुकार मची हुई है। ताजिया 2 अलग-अलग वाहनों में दिख रही है जिसमें से एक के ड्राइवर को भी भीड़ खींच कर पीटा गया। एक बुजुर्ग मामले को शांत करने का प्रयास करता दिख रहा है जबकि दूसरा हमलावरों को उकसा रहा। अंत में बीच-बचाव कर रहे बुजुर्ग को भी एक लाठी मारी जाती है। हालाँकि, ऑपइंडिया इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता।

मामले में दूसरे पक्ष ने भी पुलिस में तहरीर दे कर कार्रवाई की माँग की है। इस तहरीर में साल 2013 में भी ताजिए को ले कर विवाद होने का आरोप लगा है। इस तहरीर पर अभी FIR दर्ज नहीं हुई है। हरदोई जिले के एडिशनल एसपी दुर्गेश कुमार सिंह ने मीडिया से बात करते हुए इस घटना की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि एक ही समुदाय के बीच हुई मारपीट की इस घटना की वजह पुरानी रंजिश है। इस मामले में 5 लोगों पर FIR दर्ज कर के जाँच की जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

अब सरकार की हो गई माफिया अतीक अहमद की ₹50 करोड़ की प्रॉपर्टी, किसानों-गरीबों को धमका कर किया था अवैध कब्ज़ा

उत्तर प्रदेश में ऑपरेशन माफिया के तहत चल रही कार्रवाई में कमिश्नरेट पुलिस प्रयागराज और राज्य सरकार ने बड़ी सफलता हासिल की है। माफिया अतीक अहमद की करीब 50 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति अब राज्य सरकार की हो गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -