Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाज'हैदराबाद के जैसा दौड़ा-दौड़ाकर गोली मारी जाए...' - उन्नाव में जला कर मार दी...

‘हैदराबाद के जैसा दौड़ा-दौड़ाकर गोली मारी जाए…’ – उन्नाव में जला कर मार दी गई बेटी के पिता का छलका दर्द

"भईया मुझे बचा लो, मुझे मरना नहीं है। जिन्होंने मेरे साथ यह किया है, उन्हें मैं मौत की सज़ा पाते देखना चाहती हूँ।"

उन्नाव ज़िले के सिंधुपुर गाँव में पाँच आरोपितों द्वारा गैंगरेप की पीड़िता को ज़िंदा जलाए जाने की ख़बर ने सबका दिल दहला दिया था। पीड़िता ने अपने परिवार से कहा था कि वो मरना नहीं चाहती, वो आरोपित को मौत की सज़ा पाते देखना चाहती है। लेकिन अफसोस! 23 वर्षीय पीड़िता, जो बुरी तरह जला दी गईं थी, जिन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था, कल रात वो जिंदगी की जंग हार गईं। पीड़िता को ज़िंदा जलाने का प्रयास 5 दिसंबर की सुबह उस समय किया गया था, जब वो रेप के मामले की सुनवाई के लिए रायबरेली की एक अदालत जा रही थी।

साल भर पहले शुभम और शिवम त्रिवेदी ने पीड़िता का अपहरण करने बाद उसके साथ गैंगरेप किया था। मार्च 2019 में पुलिस ने केस दर्ज किया। 30 नवम्बर को इन्हें बेल मिली। गुरुवार को जब पीड़िता रायबरेली कोर्ट जा रही थीं, तब शिवम और शुभम के अलावा हरिशंकर त्रिवेदी, राम किशोर त्रिवेदी और उमेश बाजपाई ने उन्हें पीटा, चाकुओं से गोदा और फिर तेल उड़ेल कर आग लगा दी।

पीड़िता के भाई ने इंडिया टुडे को बताया,

“उसने कहा कि भईया मुझे बचा लो, मुझे मरना नहीं है। जिन्होंने मेरे साथ यह किया है, उन्हें मैं मौत की सज़ा पाते देखना चाहती हूँ।” 

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता को गुरुवार (5 दिसंबर) की शाम को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी। अस्पताल ने तभी कहा था, “अगले 24-48 घंटे उनके लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। अभी वेंटिलेटर पर रखा गया है। हम पूरी कोशिश कर रहे हैं। उनका शरीर 90 प्रतिशत तक जल गया है, शरीर पर काफी चोटें हैं।” लेकिन डॉक्टरों की पूरी कोशिश के बावजूद उन्नाव की यह बेटी अपने साथ हुए जघन्य अपराध के दोषियों को सजा मिलते देख पाने की ख्वाहिश लिए इस दुनिया से चली गईं।

वहीं, पीड़िता के पिताजी का कहना है कि उनके गुनहगारों को कड़ी से कड़ी सज़ा दी जानी चाहिए। हैदराबाद में जो हुआ, वही सज़ा मिलनी चाहिए। उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर गोली मारी जानी चाहिए या फिर फाँसी की सज़ा दी जानी चाहिए।

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता, जो 90 प्रतिशत तक जल गई थी और ज़िंदगी व मौत के बीच जंग लड़ रही थी उन्हें पाँच लोगों ने बड़ी बेरहमी से मारा-पीटा और फिर मिट्टी का तेल डालकर पीड़िता को ज़िंदा ही आग के हवाले कर दिया। 

इस मामले में शिवम त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी मुख्य आरोपित हैं, जिनके ऊपर अगवा कर गैंगरेप का आरोप लगा हुआ है। यह दोनों ही फ़िलहाल ज़मानत पर रिहा थे। इनके अलावा, पुलिस ने मुख्य आरोपितों की मदद करने वाले उमेश वाजपेई, हरिशंकर त्रिवेदी और राम किशोर त्रिवेदी को भी गिरफ़्तार किया है। 

पीड़िता ने एसडीएम दयाशंकर पाठक को दर्ज कराए अपने बयान में बताया कि आरोपित पक्ष उस पर केस वापस लेने के लिए लगातार दबाव बना रहा था। जब उसने केस वापस नहीं लिया तो आरोपितों ने उस पर यह जानलेवा हमला कर दिया। घटना के तुरंत बाद पुलिस ने अपनी कार्रवाई के तहत पाँचों आरोपितों को गिरफ़्तार कर लिया।

बता दें कि बलात्कार के मामले में जेल में बंद शुभम को 30 नवंबर, 2019 को ज़मानत दी गई थी। ज़मानत मिलने के तुरंत बाद, शुभम ने पीड़िता का पीछा करना और उन्हें धमकी देना शुरू कर दिया। पीड़िता और उसके परिवार ने कथित तौर पर पुलिस को धमकियों के बारे में सूचित किया लेकिन पुलिस ने शिक़ायतों को कभी गंभीरता से नहीं लिया। फ़िलहाल, एक विशेष जाँच दल इस मामले की छानबीन कर रहा है।

यह भी पढ़ें: …एक और ‘प्रीति रेड्डी’, उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता पर लाठी-डंडे-चाकू से वार, केरोसिन डाल जलाया ज़िंदा

यह भी पढ़ें: उन्नाव की बेटी भी मर गई, कल ये 5 भी एनकाउंटर में मारे जाएँ तो समाज जश्न क्यों न मनाए?

यह भी पढ़ें: बक्सर में दोहराई गई हैदराबाद जैसी घटना, लड़की से सामूहिक दुष्कर्म के बाद पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी

यह भी पढ़ें: डॉ. प्रीति रेड्डी का आखिरी फोन कॉल… पहचान हुई उस लॉरी की जहाँ मौत के बाद भी दरिंदों ने उन्हें नोचा था

यह भी पढ़ें: आरिफ ने ‘प्रीति रेड्डी’ का मुँह-नाक दबाया, उसी ने डेड बॉडी पर पेट्रोल डाला: पुलिस की रिपोर्ट में भयावह खुलासे

यह भी पढ़ें: ‘जैसे ‘डॉ प्रीति’ को मारा, मेरे हैवान बेटे को भी जिंदा जला कर मार दो… लोग मुझसे नफरत करेंगे’


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘शिव भक्त’ मीराबाई चानू, कंठस्थ जिन्हें हनुमान चालीसा, कमरे में रखती हैं दोनों की प्रतिमाएँ: बैग में भारत की मिट्टी, खाने में गाँव का...

मीराबाई चानू ओलंपिक में वेटलिफ्टिंग (Weightlifting) में सिल्वर मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला बन गईं। पिछले ओलंपिक में उन्हें विफलता हाथ लगी थी। जानिए कैसे उबरीं।

PM मोदी की फेक फोटो से फैलाया झूठ, इंटरव्यू भी काट कर चलवाया… पूर्व IAS जवाहर सरकार को राज्यसभा भेजेगी TMC

TMC ने राज्यसभा के लिए जवाहर सरकार को नामांकित किया है। हाल ही में वह पीएम मोदी की छवि को धूमिल करने के लिए नीता अंबानी के साथ उनकी फोटोशॉप्ड तस्वीर शेयर करके चर्चा में आए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe