Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजउत्तराखंड में ₹50000 के ईनामी को पकड़ने गई UP पुलिस को बना लिया बंधक,...

उत्तराखंड में ₹50000 के ईनामी को पकड़ने गई UP पुलिस को बना लिया बंधक, दोनों तरफ की फायरिंग में उप-प्रमुख की पत्नी की मौत, 5 पुलिसकर्मी भी घायल

लगभग एक महीना पहले ठाकुरद्वारा क्षेत्र में भी खनन माफियाओं ने पुलिस से चार डंपर छुड़वा लिए थे। इसको लेकर 150 लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ था।

अपराधियों के हौसले किस कदर बुलंद हैं, इसका उदाहरण उत्तराखंड में देखने को मिला। एक मामले में 50 हजार के ईनामी के यहाँ छापेमारी करने गई यूपी पुलिस को उत्तराखंड में बंधक बना लिया गया। इस दौरान गोलीबारी में उप-प्रमुख की पत्नी की मौत हो गई।

मामला खनन से जुड़ा है। उत्तर प्रदेश की पुलिस उत्तराखंड के काशीपुर के एक गाँव में बुधवार (12 अक्टूबर 2022) को छापेमारी करने पहुँची थी। दो गाड़ियों में पहुँची पुलिस टीम सादी वर्दी में थी। गाँव में पहुँची पुलिस टीम पर हमला कर लोगों ने बंधक बना लिया।

पुलिस के अनुसार, मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा थाने से पुलिस टीम काशीपुर थाना क्षेत्र के भरतपुर गाँव गई प्रमुख गुरताज भुल्लर के घर पहुँची। इस दौरान स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया। मामला बढ़ा तो दोनों ओर से फायरिंग होने लगी। इस फायरिंग में उप-प्रमुख की पत्नी गुरप्रीत कौर की मौत हो गई।

घटना के बाद ग्रामीणों सड़क पर जाम लगा दिया है। वहीं, स्थानीय पुलिस मौके पर पहुँचकर लोगों को समझाने का प्रयास कर रही है। वहीं, मुरादाबाद के एसएसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि डंपर चालक के कुंडा थाने में छिपे होने की सूचना पर टीम ने दबिश दी थी। दबिश के दौरान हुई फायरिंग में पाँच जवान भी घायल हुए हैं।

बताया जा रहा है कि जिस डंपर चालक को पकड़ने पुलिस पहुँची थी, वह 50 हजार रुपए का ईनामी है। बता दें कि लगभग एक महीना पहले ठाकुरद्वारा क्षेत्र में भी खनन माफियाओं ने पुलिस से चार डंपर छुड़वा लिए थे। इसको लेकर 150 लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -