Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजरात के अंधेरे में हिंदू परिवार के घर में घुसी मुस्लिम भीड़, अमन को...

रात के अंधेरे में हिंदू परिवार के घर में घुसी मुस्लिम भीड़, अमन को पीट-पीटकर मारा, महिलाओं की हालत गंभीर: UP पुलिस के साथ मुठभेड़ के बाद तौफीक समेत 4 गिरफ्तार, 3 की तलाश जारी

मामला हरदोई जिले के थानाक्षेत्र पाली का है। यहाँ के गाँव खेमपुर में अमन कुमार 29 जून (शनिवार) की रात पूरे परिवार के साथ अपनी छत पर सो रहा था। तभी अमन की छत पर रिज़वान, इश्तियाक, रहमान, तौफीक, जावेद, अबरार और एक अन्य रिज़वान चोरी-छिपे चढ़ गए। इनके पास लाठी-डंडों के अलावा तमंचे भी थे।

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में शनिवार (29 जून 2024) को एक मुस्लिम भीड़ ने अमन कुमार के घर पर रात में हमला कर दिया था। यह हमला पुरानी रंजिश और रुपयों के लेन-देन की वजह से किया गया था। हमले में पीड़ित परिवार के पुरुषों के अलावा महिलाओं को भी बेरहमी से पीटा गया था। घायल अमन कुमार की अस्पताल में मौत हो गई थी। इस हमले में शामिल तौफीक, रिजवान, रहमान और अबरार अली को पुलिस ने 30 जून (रविवार) को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों ने पुलिस पर भी गोलियाँ चला दी थीं। जवाबी कार्रवाई में 2 आरोपितों के पैर में गोली लगी। फरार चल रहे अन्य 3 हमलावरों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

यह मामला हरदोई जिले के थानाक्षेत्र पाली का है। यहाँ के गाँव खेमपुर में अमन कुमार 29 जून (शनिवार) की रात पूरे परिवार के साथ अपनी छत पर सो रहा था, तभी अमन की छत पर रिज़वान, इश्तियाक, रहमान, तौफीक, जावेद, अबरार और एक अन्य रिज़वान चोरी-छिपे चढ़ गए। इनके पास लाठी-डंडों के अलावा तमंचे भी थे। इन सभी आरोपितों ने छत पर चढ़कर सो रहे अमन के परिवार पर हमला बोल दिया। हमलावरों को जो भी मिला उसे बेरहमी से पीटा गया। पीड़ित परिवार सहित गाँव में अफरातफरी का माहौल फ़ैल गया।

हमलावरों ने अमन कुमार, देव कुमार, राजवीर, के साथ इसी परिवार की दयावती और पूजा नाम की महिलाओं को बेरहमी से पीटा। बाद में सभी 7 हमलावर तमंचे से फायरिंग करते हुए फरार हो गए। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल पहुँचाया। अमन, पूजा और दयावती की हालत गंभीर होता देख इन्हें लखनऊ रेफर कर दिया गया। अमन कुमार ने लखनऊ पहुँच कर दम तोड़ दिया। अन्य घायलों का इलाज हरदोई और लखनऊ में चल रहा है।

पीड़ित परिजनों से तहरीर ले कर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। मुकदमे में रिज़वान, इश्तियाक, रहमान, तौफीक, जावेद, अबरार और एक अन्य रिज़वान को नामजद किया गया। इन सभी पर भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 302/307/147/148/149/323/504 और 506 के तहत कार्रवाई की गई। फरार चल रहे सभी 7 हमलावरों की तलाश के लिए पुलिस टीमों का गठन कर दिया गया। स्थानीय थाना पुलिस की मदद के लिए स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) को भी लगा दिया गया।

रविवार (30 जून 2024) को एक मुखबिर ने पुलिस को बताया कि फरार चल रहे 4 हमलावर एक महिंद्रा TUV कार से कहीं भागने की फिराक में हैं। इन सभी की लोकेशन पाली कस्बा मार्ग के बैरिया तिराहे पर बताई गई। सूचना मिलते ही पुलिस टीम फ़ौरन ही घटनास्थल की तरफ रवाना हो गई। सूचना सही पाई गई और पुलिस ने TUV कार सवारों को रुकने का इशारा किया। पुलिस को देखते ही कार सवारों ने एक आम के बाग़ की तरफ भागते हुए गोलियाँ बरसानी शुरू कर दीं। पुलिस के मुताबिक यह हमला जान से मार डालने की नीयत से किया गया था।

आखिरकार मजबूरन पुलिस को भी आत्मरक्षा में गोलियाँ चलानी पड़ीं। जवाबी कार्रवाई में रिजवान और तौफीक के पैरों में गोली लगी। साथी बदमाशों को घायल देख कर रहमान और अबरार अली भागने लगे जिन्हें उनके दोनों घायल साथियों के साथ घेराबंदी कर के गिरफ्तार कर लिया गया है। इनकी तलाशी के दौरान इनके पास से 3 तमंचे, 3 जिन्दा कारतूस, 4 खोखा कारतूस, अमन की हत्या में प्रयोग हुए खून से सने 4 डंडे बरामद हुए। TUV कार को भी सीज कर दिया गया है।

आरोपितों के हमले में हेड कांस्टेबल विश्वजीत सिंह और सिपाही विनय कुमार घायल हो गए थे। इन दोनों पुलिसकर्मियों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। दोनों जवानों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। घायल तौफीक और रिज़वान का भी इलाज करवाया गया है। जावेद, रिज़वान और इश्तियाक अभी फरार चल रहे हैं। इन तीनों की तलाश जारी है। पुलिस तमाम संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है। पीड़ित हिन्दू परिवार के घायल सदस्यों का भी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -