Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाज6 नहीं 13 शूटर आए थे उमेश पाल को मारने, 7 बैकअप में थे:...

6 नहीं 13 शूटर आए थे उमेश पाल को मारने, 7 बैकअप में थे: माफिया अतीक अहमद के बेटे पर ₹50 हजार का इनाम, मुस्लिम हॉस्टल में रची साजिश

गुजरात की साबरमती जेल में बंद अतीक अहमद व्हाट्सएप से शूटरों के सम्पर्क में था। उमेश पाल पर हमला करने वाले कुल शूटरों की तादाद 13 बताई जा रही है। जब 6 शूटर उमेश और उनके गनर पर हमला कर रहे थे तब 7 अन्य आस-पास खड़े हो कर बैकअप में तैयार थे।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में हुए उमेश पाल हत्याकांड में वांटेड अतीक अहमद के बेटे असद अहमद पर UP पुलिस ने इनाम रखा है। इनाम की यह राशि 50 हजार रुपए रखी गई है। असद के साथ इस केस में फरार चल रहे 3 अन्य आरोपितों पर भी इनाम की घोषणा की गई है। पुलिस ने माफिया अतीक के एक अन्य सहयोगी नफीस को भी गिरफ्तार किया है। हमले में प्रयोग हुई क्रेटा गाडी नफीस की ही थी। इसी के साथ उमेश के क़त्ल की साजिश में शामिल एक अन्य आरोपित सदाकत को भी गोरखपुर से गिरफ्तार किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक DGP मुख्यालय द्वारा जारी आदेश में माफियाओं या उनके गुर्गों को संरक्षण देने वालों को भी चेतावनी दी गई है। चेतावनी में कहा गया है कि उमेश पाल हत्याकांड में फरार चल रहे किसी भी आरोपित या सहयोगी को पनाह अथवा संरक्षण देने वालों पर भी एक्शन लिया जाएगा। आम लोगों से भी आरोपितों के बारे में कोई भी सूचना मिलने पर पुलिस को बताने की अपील की गई है। बताया यह भी जा रहा है कि फरार चल रहे आरोपितों पर घोषित इनाम की राशि जल्द ही बढ़ाई भी जा सकती है।

वहीं एक अन्य खुलासे के मुताबिक गुजरात की साबरमती जेल में बंद अतीक अहमद व्हाट्सएप से शूटरों के सम्पर्क में था। उमेश पाल पर हमला करने वाले कुल शूटरों की तादाद 13 बताई जा रही है। जब 6 शूटर उमेश और उनके गनर पर हमला कर रहे थे तब 7 अन्य आस-पास खड़े हो कर बैकअप में तैयार थे। STF ने साबिर नाम के एक शूटर की पहचान भी कर ली है। इस हमले की साजिश प्रयागराज यूनिवर्सिटी के मुस्लिम हॉस्टल में रची गई थी। दावा यह भी किया जा रहा है कि अशरफ भी बरेली जेल से व्हट्सएप चलाता था। शूटरों को डायरेक्शन देने में उसका भी नाम सामने आ रहा है।

यह खुलासा साजिश में शामिल सदाकत खान से हुई पूछताछ के बाद हुआ। सदाकत खान इलाहबाद हाईकोर्ट में वकालत करता है और अवैध तौर पर मुस्लिम हॉस्टल के कमरा नंबर 36 में रहता था। सदाकत खान को समाजवादी पार्टी का करीबी बताया जा रहा है। उसकी एक तस्वीर अखिलेश यादव के साथ हाथ मिलाते हुए वायरल हो रही है। बताया जा रहा है कि सदाकत नेपाल भागने की फिराक में था लेकिन उसे STF ने रास्ते में ही दबोच लिया।

दावा किया जा रहा है कि हमले में आगे रहे 6 शूटरों द्वारा उमेश और उनके गनर संदीप की हत्या कर दिए जाने के बाद बैकअप में मौजूद 7 अन्य हमलावर अलग-अलग वाहनों से मौके से फरार हो गए। पुलिस गिरफ्तार आरोपितों से बैकअप में मौजूद अन्य शूटरों की शिनाख्त के प्रयास कर रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -