Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाज'मंदिर जाने वाले मूर्ख, राम मंदिर दुकानदारी': यूपी के नायब तहसीलदार का वीडियो वायरल,...

‘मंदिर जाने वाले मूर्ख, राम मंदिर दुकानदारी’: यूपी के नायब तहसीलदार का वीडियो वायरल, चैलेन्ज देते हुए कहा – जा किसी को भी दिखा दे, मैं किसी से कमजोर नहीं

अपनी चुनौती के दौरान हिम्मत बहादुर 'किसी से कमजोर न होने' का भी ताव देते सुनाई दे रहा है। उनके इस बयान पर आस-पास मौजूद कुछ लोग ठहाके भी लगाते सुनाई दे रहे।

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में तैनात एक नायब तहसीलदार का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में हिम्मत बहादुर नाम के अधिकारी ने अयोध्या में बन रहे राम मंदिर को दुकानदारी बताया है। इसी के साथ उसने मंदिर जाने वालों को मूर्ख कह कर सम्बोधित किया है। वीडियो वायरल होने के बाद गाजीपुर की DM ने जाँच करवाने की बात कही है। वहीं अयोध्या के संतों ने नायब तहसीलदार के बयान पर कड़ी नाराजगी जताई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नायब तहसीलदार हिम्मत बहादुर जिले के सेवराई तहसील में पोस्टेड है। 1:28 मिनट के वीडियो में वो लोगों की मौजूदगी में न सिर्फ राम मंदिर और हिन्दू आस्थाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर रहा है, बल्कि वीडियो बना रहे व्यक्ति से किसी को भी जा कर दिखाने का चैलेन्ज कर रहा है। अपनी चुनौती के दौरान हिम्मत बहादुर ‘किसी से कमजोर न होने’ का भी ताव देते सुनाई दे रहा है। उनके इस बयान पर आस-पास मौजूद कुछ लोग ठहाके भी लगाते सुनाई दे रहे।

जानकारी के मुताबिक, हिम्मत बहादुर के वीडियो पर जिले की DM ने संज्ञान ले लिया है और जाँच करवाने की बात कही है। ऑपइंडिया ने इस बयान की पुष्टि के लिए सेवराई के तहसीलदार से बात की। उन्होंने बताया कि यह बयान मंगलवार (17 जनवरी, 2022) का है। हमें बताया गया कि नायब तहसीलदार हिम्मत बहादुर का ट्रांसफर 1 दिन पहले ही जिला मुख्यालय हो चुका था, लेकिन किसी कारणवश वो वहाँ जॉइन नहीं कर पाया था।

संतों ने उठाई कार्रवाई की माँग

नायब तहसीलदार हिम्मत बहादुर के इस बयान पर सोशल मीडिया के अलावा संतों ने भी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। रामलला के पुजारी महंत सत्येंद्र दास ने नायब तहसीलदार पर को पद से हटाने की माँग करते हुए ईशनिंदा के आरोप में जेल में डालने की जरूरत बताया। हिम्मत बहादुर को वर्ण शंकर और नास्तिक बताते हुए सत्येंद्र दास ने उसके शब्दों को बनावटी बताया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मानहानि मामले में यूट्यूबर ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली कोर्ट ने जारी किया समन, BJP नेता की शिकायत के बाद सुनवाई: अदालत ने कहा-...

ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली की एक कोर्ट ने मानहानि मामले में समन जारी किया है। ये समन भाजपा नेता सुरेश करमशी नखुआ द्वारा द्वारा शिकायत के बाद जारी हुआ।

आतंकियों की करते थे मदद, उनके लिए हथियार-पैसे जुटाते थे: सरकार ने J&K में 4 सरकारी कर्मचारियों को किया बर्खास्त, अब तक 60+ पर...

जम्मू कश्मीर में आतंकियों की मदद करने वाले और उनके लिए हथियार-पैसा जुटाने वाले 4 कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -