Sunday, September 27, 2020
Home विचार सामाजिक मुद्दे नमाज पढ़ने के लिए भी जीवित रहना जरूरी: जो CAA-NRC फेसबुक पोस्ट से समझ...

नमाज पढ़ने के लिए भी जीवित रहना जरूरी: जो CAA-NRC फेसबुक पोस्ट से समझ गए, उन्हें मोदी की अपील नहीं समझ आ रही

यदि यही डॉक्टर, जो बिना अपनी जान की परवाह किए लोगों की जाँच के लिए उनके पीछे भाग रहे हैं, आज ही इस बर्ताव से नाराज होकर काम करने से मना कर दें तो पूरे भारत को इटली और चीन बनते कितना टाइम लगेगा?

तमाम देश हैरान हैं। अमेरिका, इजराइल, ब्रिटेन, जैसी शक्तियाँ भी कोरोना वायरस की महामारी के सामने नतमस्तक हैं। लेकिन एक खास समुदाय है, जो स्वयं को इस वायरस से अजेय समझते हुए चल रहा है। अगर ऐसा ना होता तो भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण का ग्राफ अचानक से इस तरह उछाल भी नहीं मारता।

दिलचस्प बात यह है कि इस समुदाय विशेष ने नागरिकता कानून, राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर आदि चीजें महज चंद फेसबुक और ट्विटर पोस्ट से समझकर इसके खिलाफ देशव्यापी धरने का हल्ला बोल दिया था। संविधान, शासन, व्यवस्था, सत्ता सबको नकारते हुए इस विशेष वर्ग ने दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देशभर में उत्पात मचाए रखा। और ऐसा करने के लिए उन्हें सत्ता विरोधियों का बस एक इशारा ही काफी था।

लोग हैरान रह गए कि जिस नागरिकता कानून को समझने में बड़े-बड़े राजनीतिशास्त्री, कानून के ज्ञाता और कानून निर्माताओं ने अच्छा-खासा समय लगा दिया, आखिर उसे शाहीनबाग़ में बैठी बिरियानी के साथ अचार माँगने वाली 75 साल की बुजुर्ग महिलाओं ने बस एक झटके में कैसे समझ लिया?

फिर भी, कुणाल कामरा, अनुराग कश्यप, स्वरा भास्कर के ट्वीट पढ़कर नागरिकता कानून की बारीकियाँ समझ लेने की इस अनोखी क्षमता के आगे देश तीन महीने से ज्यादा समय तक नतमस्तक रहा। लेकिन सवाल यह है कि इस उन्नत IQ क्षमता के लोगों को प्रधानमंत्री मोदी की मात्र 21 दिन तक अपने-अपने घर पर रहने की यह अपील समझने में आखिर इतनी मशक्कत क्यों करनी पड़ रही है?

- विज्ञापन -

21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन के बावजूद मुस्लिम समुदाय निरंतर नमाज पढ़ने से लेकर अपनी सामान्य दिनचर्या में नजर आ रहा है। इसी बीच दिल्ली में तबलीगी जमात के मरकज की सबसे बड़ी नौटंकी का दृश्य भी सामने आ गया। लेकिन मुस्लिम समुदाय अभी तक अपनी हठ पर नजर आ रहा है। मौलवी ही लोगों को नमाज अदा करने लिए मस्जिद में एकत्रित होने और 21 दिन के लॉकडाउन के नियमों को तोड़ने के लिए लोगों को भड़काते हुए नजर आ रहे हैं।

होली के दौरान जब देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने लोगों से अनावश्यक रूप से बाहर ना निकलने जैसी अपील की थी, उसके ठीक बाद कुछ वीडियो सामने आए। नमाज के लिए जुटी हुई भीड़ से टीवी एंकर यह सवाल करते हुए देखे गए कि क्या उन्हें डर नहीं लगता वायरस के संक्रमण से? इसके जवाब में कई प्रकार के मजहबी कारण, जो कि निसंदेह बेहद बेवकूफाना थे, सुनने को मिले। कुछ नमाजियों ने कोरोना को अल्लाह का अजाब बताया, जिसे आज नहीं तो कल आना ही था, तो कुछ ने कहा कि यह ताबीज पहनने से भाग जाएगा। यहाँ तक कि शाहीनबाग के बुद्धिजीवी वर्ग ने भी कोरोना पर अपनी राय रखते हुए कहा कि मौत तो एक न एक दिन आनी ही है।

लेकिन कोरोना के बढ़ते हुए मामलों के साथ मजहब का सबसे वाहियात चेहरा अब सामने आ रहा है। इंदौर जैसी घटनाएँ लगातार सामने आ रही हैं। संवेदनशील इलाकों में डॉक्टर और पुलिसकर्मियों पर थूका जा रहा है। तबलीगी जमात के क़्वारंटाइन किए गए लोग अधिकारी और डॉक्टर्स पर थूक रहे हैं, उनसे बदसलूकी कर रहे हैं। आइसोलेशन के दौरान लजीज पकवान की शिफारिश कर तंत्र की कार्यशैली में बाधा डाल रहे हैं।

सोचिए, यदि यही डॉक्टर, जो बिना अपनी जान की परवाह किए लोगों की जाँच के लिए उनके पीछे भाग रहे हैं, आज ही इस बर्ताव से नाराज होकर काम करने से मना कर दें तो पूरे भारत को इटली और चीन बनते कितना टाइम लगेगा?

कोरोना वायरस किसी का मजहब नहीं देखता है, यह एकदम सेक्युलर प्रकृति का वायरस है। लोगों पर थूककर यदि यह वायरस सिर्फ एक धर्म के लिए संकट खड़ा करता, तब भी इन नमाजियों का तर्क समझा जा सकता था लेकिन यह वायरस हर प्रकार की सीमा से परे है। यह जितना जानलेवा ‘काफिरों’के लिए हो सकता है, उतना ही नमाजियों के लिए भी है।

वायरस के प्रकोप की गंभीरता यदि इटली, स्पेन और अमेरिका जैसे देशों में बढ़ती हुई लाशों की संख्या देखकर भी समझ नहीं आती है, तो भारत सरकार को फिलीपींस के राष्ट्रपति का बयान चप्पे-चप्पे पर चिपका देना चाहिए। फिलीपींस के राष्ट्रपति रॉड्रिगो दुतेर्ते (Rodrigo Duterte) ने ऐलान किया है कि देश में अगर कोई व्यक्ति लॉकडाउन का उल्लंघन करेगा तो उसे गोली मार दी जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी चाहिए कि 21 दिनों के लॉकडाउन की अपील को हाथ जोड़कर स्पेनिश भाषा में बोलने के बजाए फिलीपींस के राष्ट्रपति की भाषा में बोलना चाहिए। शायद यही एक तरीका है कि लोग लॉकडाउन के महत्व को समझें और स्वविवेक से फैसला ले सकें कि नमाज भी नामजियों से ही है, और उसे पढ़ने के लिए कोरोना वायरस से जीवित रहना जरूरी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेसी सरकार: भ्रष्टाचार पर लिखेंगे तो सड़क पर भी मार खाएँगे और थाने में भी, देखती रहेगी पुलिस

"वह अपने गुंडे पार्षदों के साथ हमारे पत्रकार साथी को थाने तक पीटते हुए ले आए, इसकी वजह थी कि वह नगरपालिका के विरुद्ध RTI लगा कर..."

राजद ने नकारा, नीतीश ने दुत्कारा: कुशवाहा के चावल, यादवों के दूध से जो बनाते थे ‘खीर’ और करते थे खून बहाने की बात

किसी से भी भाव न मिलने के कारण बिहार में रालोसपा और उपेंद्र कुशवाहा की हालत 'धोबी के कुत्ते' की तरह हो गई है, जो न घर का रहता है और न घाट का।

बॉलीवुड ‘सुपरस्टार’ के सामने ‘अपराधी’ शब्द बौना, ड्रग्स से लेकर हत्या/आत्महत्या और दंगों तक… कहाँ खड़ा होता है बॉलीवुड?

ड्रग्स मामला हो या सुपरस्टार्स के गलत कामों पर पर्दा डालने की कोशिश... बॉलीवुड ‘बॉलीवुड’ का बचाव करने से पीछे नहीं हटता है। ऐसा करने...

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, PM मोदी ने कहा- उन्होंने एक सैन्य अधिकारी और नेता के रूप में देशसेवा की

भारत के पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वयोवृद्ध नेता रहे जसवंत सिंह का रविवार (सितम्बर 27, 2020) की सुबह निधन हो गया।

‘रोओ मत, इमोशनल कार्ड मत खेलो’ – दीपिका पादुकोण 3 बार रोने लगीं, NCB अधिकारियों ने मोबाइल भी कर लिया जब्त

ड्रग्स मामले की जाँच कर रही NCB ने दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर के मोबाइल फोन्स को भी आगे की जाँच के लिए जब्त कर लिया।

द वायर ने एडिटेड वीडियो से कृषि बिल विरोधी प्रदर्शनकारियों पर बीजेपी कार्यकर्ताओं के हमले के बारे में फैलाई फर्जी खबरें, यहाँ जाने सच

वायर के सिद्धार्थ वरदराजन और आरफा शेरवानी जैसे तथाकथित 'निष्पक्ष' पत्रकारों ने जानबूझकर भाजपा कार्यकर्ताओं पर प्रारंभिक हमले को नजरअंदाज कर दिया और इस घटना के बारे में आधे सच को आगे फैलाया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने कृषि बिल विरोधी प्रदर्शनकारियों पर हमला किया था।

प्रचलित ख़बरें

‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

अनुराग कश्यप ने कब, क्या और कैसे किया, यह सब कुछ पायल घोष ने पुलिस को दी शिकायत में विस्तार से बताया है।

पूना पैक्ट: समझौते के बावजूद अंबेडकर ने गाँधी जी के लिए कहा था- मैं उन्हें महात्मा कहने से इंकार करता हूँ

अंबेडकर ने गाँधी जी से कहा, “मैं अपने समुदाय के लिए राजनीतिक शक्ति चाहता हूँ। हमारे जीवित रहने के लिए यह बेहद आवश्यक है।"

‘दीपिका के भीतर घुसे रणवीर’: गालियों पर हँसने वाले, यौन अपराध का मजाक बनाने वाले आज ऑफेंड क्यों हो रहे?

दीपिका पादुकोण महिलाओं को पड़ रही गालियों पर ठहाके लगा रही थीं। अनुष्का शर्मा के लिए यह 'गुड ह्यूमर' था। करण जौहर खुलेआम गालियाँ बक रहे थे। तब ऑफेंड नहीं हुए, तो अब क्यों?

बेच चुका हूँ सारे गहने, पत्नी और बेटे चला रहे हैं खर्चा-पानी: अनिल अंबानी ने लंदन हाईकोर्ट को बताया

मामला 2012 में रिलायंस कम्युनिकेशन को दिए गए 90 करोड़ डॉलर के ऋण से जुड़ा हुआ है, जिसके लिए अनिल अंबानी ने व्यक्तिगत गारंटी दी थी।

‘मारो, काटो’: हिंदू परिवार पर हमला, 3 घंटे इस्लामी भीड़ ने चौथी के बच्चे के पोस्ट पर काटा बवाल

कानपुर के मकनपुर गाँव में मुस्लिम भीड़ ने एक हिंदू घर को निशाना बनाया। बुजुर्गों और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा।

नूर हसन ने कत्ल के बाद बीवी, साली और सास के शव से किया रेप, चेहरा जला अलग-अलग जगह फेंका

पानीपत के ट्रिपल मर्डर का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने नूर हसन को गिरफ्तार कर लिया है। उसने बीवी, साली और सास की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है।

UP पुलिस ने अपने ही सिपाही सेराज को किया अरेस्ट, मुख्तार अंसारी के करीबी अपने भाई मेराज को दिलवाया था शस्त्र

मेराज के दो घरों पर कुर्की का नोटिस चस्पा कर दिया गया। गिरफ्तार किए गए सिपाही सेराज पर आरोप था कि उसने फर्जी तरीके से शस्त्र लाइसेंस...

बेहोश कर पति शादाब के गुप्तांग पर डालती थी Harpic, वसीम के साथ मनाती थी रंगरेलियाँ: आरोपित चाँदनी हिरासत में

महिला ने अपने प्रेमी के साथ रंगरेलियाँ मनाने के लिए अपने पति और तीनों बच्चों को बेहोश कर के एक कमरे में डाल दिया था। पति का गुप्तांग जलाया।

छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेसी सरकार: भ्रष्टाचार पर लिखेंगे तो सड़क पर भी मार खाएँगे और थाने में भी, देखती रहेगी पुलिस

"वह अपने गुंडे पार्षदों के साथ हमारे पत्रकार साथी को थाने तक पीटते हुए ले आए, इसकी वजह थी कि वह नगरपालिका के विरुद्ध RTI लगा कर..."

राजद ने नकारा, नीतीश ने दुत्कारा: कुशवाहा के चावल, यादवों के दूध से जो बनाते थे ‘खीर’ और करते थे खून बहाने की बात

किसी से भी भाव न मिलने के कारण बिहार में रालोसपा और उपेंद्र कुशवाहा की हालत 'धोबी के कुत्ते' की तरह हो गई है, जो न घर का रहता है और न घाट का।

बॉलीवुड ‘सुपरस्टार’ के सामने ‘अपराधी’ शब्द बौना, ड्रग्स से लेकर हत्या/आत्महत्या और दंगों तक… कहाँ खड़ा होता है बॉलीवुड?

ड्रग्स मामला हो या सुपरस्टार्स के गलत कामों पर पर्दा डालने की कोशिश... बॉलीवुड ‘बॉलीवुड’ का बचाव करने से पीछे नहीं हटता है। ऐसा करने...

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, PM मोदी ने कहा- उन्होंने एक सैन्य अधिकारी और नेता के रूप में देशसेवा की

भारत के पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वयोवृद्ध नेता रहे जसवंत सिंह का रविवार (सितम्बर 27, 2020) की सुबह निधन हो गया।

‘रोओ मत, इमोशनल कार्ड मत खेलो’ – दीपिका पादुकोण 3 बार रोने लगीं, NCB अधिकारियों ने मोबाइल भी कर लिया जब्त

ड्रग्स मामले की जाँच कर रही NCB ने दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर के मोबाइल फोन्स को भी आगे की जाँच के लिए जब्त कर लिया।

MP रवि किशन को ड्रग्स पर बोलने के कारण मिल रही धमकियाँ, कहा- बच्चों के भविष्य के लिए 2-5 गोली भी मार दी...

रवि किशन को ड्रग्स का मामला उठाने की वजह से कथित तौर पर धमकी मिल रही है। धमकियों पर उन्होंने कहा कि देश के भविष्य के लिए 2-5 गोली खा लेंगे तो कोई चिंता नहीं है।

छत्तीसगढ़: वन भूमि अतिक्रमण को लेकर आदिवासी और ईसाई समुदायों में झड़प, मामले को जबरन दिया गया साम्प्रदयिक रंग

इस मामले को लेकर जिला पुलिस ने कहा कि मुद्दा काकडाबेड़ा, सिंगनपुर और सिलाती गाँवों के दो समूहों के बीच वन भूमि अतिक्रमण का है, न कि समुदायों के बीच झगड़े का।

द वायर ने एडिटेड वीडियो से कृषि बिल विरोधी प्रदर्शनकारियों पर बीजेपी कार्यकर्ताओं के हमले के बारे में फैलाई फर्जी खबरें, यहाँ जाने सच

वायर के सिद्धार्थ वरदराजन और आरफा शेरवानी जैसे तथाकथित 'निष्पक्ष' पत्रकारों ने जानबूझकर भाजपा कार्यकर्ताओं पर प्रारंभिक हमले को नजरअंदाज कर दिया और इस घटना के बारे में आधे सच को आगे फैलाया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने कृषि बिल विरोधी प्रदर्शनकारियों पर हमला किया था।

हमसे जुड़ें

264,935FansLike
78,058FollowersFollow
325,000SubscribersSubscribe
Advertisements