Saturday, January 16, 2021
Home बड़ी ख़बर तुम्हारी देशभक्ति के उन्माद की परिणति है पायलट का लापता होना: लिबरल गिरोह

तुम्हारी देशभक्ति के उन्माद की परिणति है पायलट का लापता होना: लिबरल गिरोह

ऐसे लोगों को पहचानिए, और इनके अजेंडाबाजी पर, फर्जी के आँसू पर, इनकी नग्नता और निम्न स्तर के ट्वीटों पर सवाल कीजिए कि इतना गिरने की क्या ज़रूरत है? इनसे पूछिए कि कहाँ से लाते हैं ऐसा ज़हर जो उसी देश के खिलाफ इस्तेमाल होता है जिन्होंने उन्हें इतना बोलने की आज़ादी दे दी है कि वो देश के अस्तित्व को ही मिटाने वालों के साथ खड़े हो जाते हैं।

आज सुबह पाकिस्तान के F-16 ने भारतीय सीमा के कुछ सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की। उनकी तरफ से बम भी गिराए गए और जब वो वापस जा रहे थे तब भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने उनका पीछा करते हुए एक F-16 को मार गिराया। ख़बरों के अनुसार यह विमान भारतीय सीमा के भीतर राजौरी सेक्टर में गिरा है। 

इसी लेख का वीडियो यहाँ देखें

इसी का दूसरा पहलू यह रहा कि भारतीय वायुसेना के पायलट अपने जहाज़ों के साथ जब पाकिस्तानी जेट का पीछा कर रहे थे तो उनके विमान को भी क्षति पहुँची और हमारे एक जेट को पाकिस्तानी एयर फ़ोर्स ने गिरा दिया एवम् एक पायलट, भारतीय विदेश मंत्रालय के आधिकारिक बयान के अनुसार, लापता बताए जा रहे हैं। कई ख़बरों से, और पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के स्टेटमेंट से पता चला है कि एक पायलट पाकिस्तान में हैं। 

अगर पाकिस्तान से आने वाली जानकारी सही भी है, फिर भी जेनेवा कन्वेंशन के अनुसार वो पायलट सुरक्षित भारत वापस लाए जाएँगे। इसके अलावा जो भी ख़बर है, वो संदिग्ध है क्योंकि वो आधिकारिक नहीं हैं। इसको लिए आप अपनी बुद्धि और विवेक का इस्तेमाल कीजिए, कि आपको किसका वर्जन सही लगता है। इसके लिए आप स्वतंत्र हैं। 

ज़ाहिर सी बात है कि ऐसे मौक़ों पर, जितनी खबरें आ रही हैं, और पब्लिक तक पहुँच रही हैं, तो आम जनता सकते में है। वो इसलिए कि हमारी सेना का एक अफसर लापता है। ये अपने आप में भारत के लिए एक नकारात्मक ख़बर है, भले ही हम पाकिस्तान को तहस-नहस करने की क्षमता रखते हैं। 

एक तरफ़ ऐसे लोग हैं, और बहुत हैं जो इस स्थिति में एक बेहतर रुख़ लेकर, सकारात्मक रवैये के साथ यह कह रहे हैं कि हमें अपनी सेना के साथ, अपने देश के साथ खड़े रहने की ज़रूरत है। ये भले ही एक धक्का है, लेकिन इसे हार नहीं कहा जा सकता। और दूसरी तरफ एक गिरोह है, जिसके होने से हमें लगता है कि हमें पाकिस्तान के F-16 की ज़रूरत नहीं है, उससे ज़्यादा घाव तो यही लोग कर जाते हैं। 

ये वही गिरोह है जिससे भारतीय मीडिया का समुदाय विशेष कहा जाता है। ये लम्पट और धूर्त पत्रकारों और छद्म-बुद्धिजीवियों का एक गिरोह है जो मौक़े तलाशता रहता है। चूँकि इनके पास शब्दों की कमी कभी होती नहीं, तो ये उस स्थिति में हमेशा रहते हैं जब बात घुमाकर देश की परिकल्पना और सरकारों के मजबूत क़दमों के खिलाफ लाया जा सके।

ये लोग सैनिकों के बलिदान से जाति निकाल लेते हैं, ये लोग सैनिकों के साथ खड़े होने वाले देशभक्त लोगों को हिन्दुओं के सवर्ण और मेट्रो शहरों के होने का दावा कर लेते हैं, ये लोग ऐसे धक्कों पर देश के साथ खड़े न होकर पाकिस्तान की मदद करते दिखते हैं जब वो पूछते हैं कि क्या सबूत है कि हमने 300 आतंकी मार गिराए। और पाकिस्तान इनकी मदद इन्टरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस तक लेता रहता है। 

देशभक्त होना गाली नहीं है। जिंगोइस्ट होना भी बुरा नहीं है। अतिराष्ट्रवाद भी बुरा नहीं है क्योंकि इन सबका उद्देश्य राष्ट्र की बेहतरी और वैश्विक छवि को सुदृढ़ करने का होता है। राष्ट्रवाद ज़हर कैसे हो सकता है? जो लोग मोमबत्तियाँ लेकर सड़कों पर श्रद्धांजलि देते हैं, उनके लिए देश बहुत मायने रखता है भले ही उनके घरों के पास की नाली साफ न की गई हो। 

ये इसलिए होता है क्योंकि हम चाहे जिस भी सरकार में, जिस भी स्थिति में हो, वो सिर्फ और सिर्फ देश के देश होने के कारण ही संभव है। इसलिए ऐसे मौक़ों पर कोई भीख माँगकर जीवन यापन करती बुजुर्ग महिला की पूरी पूँजी पुलवामा के बलिदानियों के परिवारों के नाम हो जाती हे। इसीलिए ऐसे मौक़ों पर लोग आगे बढ़कर हर संभव मदद करते दिखते हैं। 

यहाँ लोग, सरकार ने क्या विकास किया, उनके जीवन में क्या बदलाव लाए, इससे ऊपर उठ जाते हैं क्योंकि देशभक्ति गरीब से गरीब स्थिति में, अपनी पहचान के लिए लड़ते देश के लोगों में भी होती है। उसके लिए अमेरिका जैसी चमचमाती इमारतों की ज़रूरत नहीं होती। देशभक्ति देश के लिए होती है, और इसमें ‘नागरिक’ और ‘देश’ दो शब्द भर काफी हैं, इसके बीच की सारी बातें गौण हो जाती हैं क्योंकि आपका अस्तित्व और आपके देश का अस्तित्व एक दूसरे पर आश्रित हैं। 

इसलिए, ऐसी परिस्थितियों में हम एक हो जाते हैं। सारी पार्टियाँ एक हो जाती हैं। हम सड़कों पर एक साथ उतरते हैं, और एक साथ नारे लगाते हैं। हम किसी को नारे लगाता देखते हैं, तो उनके साथ हो जाते हैं, उस प्रदर्शन में शामिल हो जाते हैं। इसके लिए कुछ कहने की ज़रूरत नहीं होती। क्यों? क्योंकि देशप्रेम उसी तरह से विकसित होता है जैसे अपनी माँ से प्रेम करना। उसके लिए हम पूरे जीवन भर तैयार होते हैं, चाहे वो खेलों से हो, युद्धों की कहानियों से हो, हमारे इतिहास से हो, या इस बात से कि हम कहाँ थे, कैसे बर्बाद किए गए और आज कहाँ पहुँचे हैं। 

ये एक प्राकृतिक प्रतिक्रिया है ऐसे समय पर। लेकिन कुछ लोगों के लिए ये एक सहज बात नहीं होती। उन्होंने बार-बार दिखाया है कि उनकी ज़मीन कहीं और है। उनके लिए सैनिकों पर पत्थर फेंकने वालों के लिए, जवानों के घेरकर मार देने वाले नक्सलियों के लिए, देश को तोड़ने वाली शक्तियों के लिए हमेशा मानवाधिकार जैसे शाब्दिक हथियार होते हैं। लेकिन जब सैनिक का बलिदान होता है तो तर्क घास चरने चला जाता है, और जब आता है तो कहा जाता है कि ये तो उनका काम है! 

अब अगर आज ही की बात की जाए तो यही गिरोह सक्रिय हो चुका है और एक पायलट के लापता होने की ख़बर पर उसके परिवार की चिंता का फर्जी नाटक करते हुए कह रहा है कि उन्हें उस पायलट के परिवार की चिंता है, जो इंतजार में होंगे और प्रार्थना कर रहे हैं कि वो सुरक्षित लौट आएँ। इसमें उनकी चिंता पायलट की बिलकुल नहीं है, उनकी चिंता है कि कैसे देशभक्ति जैसे भाव को नीचा दिखाया जा सके, और सेना के समर्थन में खड़े लोगों को इसका दोषी बनाया जाए।

गिरोह के लोग यहीं नहीं रुके, उन्होंने लगातार लिखा कि वायु सेना द्वारा एयर स्ट्राइक की जड़ में भारतीय देशभक्तों का उन्माद है जिसके कारण सरकार ने ऐसी आज्ञा दी। साथ ही, उन्होंने पुलवामा हमलों के समय भी सरकार को घेरा था। इनकी स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाती, क्योंकि इन्हें न तो सेना से मतलब है, न सैनिक से, न देश से, न समाज से। 

इन्हें मतलब सिर्फ और सिर्फ नैरेटिव से है जो कि किसी भी तरह से, कैसे भी उन लोगों के खिलाफ ज़हर पैदा कर सके जो सही मायनों में देश के साथ खड़े हैं। गिरोह का सदस्य इसे चुनावों से जोड़ता है, और इसकी टाइमिंग पर सवाल उठाता है क्योंकि यही अजेंडा है। 

ऐसे लोगों को पहचानिए, और इनके अजेंडाबाजी पर, फर्जी के आँसू पर, इनकी नग्नता और निम्न स्तर के ट्वीटों पर सवाल कीजिए कि इतना गिरने की क्या ज़रूरत है? इनसे पूछिए कि कहाँ से लाते हैं ऐसा ज़हर जो उसी देश के खिलाफ इस्तेमाल होता है जिन्होंने उन्हें इतना बोलने की आज़ादी दे दी है कि वो देश के अस्तित्व को ही मिटाने वालों के साथ खड़े हो जाते हैं। 

लिबरलों का ये एक रोग है, ये मानसिक रूप से बीमार, घटिया लोग हैं। घटिया इसलिए क्योंकि ये चुप नहीं रह सकते। ये संवेदनशील नहीं हैं, ये देशविरोधी ताक़तों के एजेंट हैं जो क्षति होने पर सरकार को घेरते हैं, और बदला लेने पर सरकार को समीकरण से हटाकर सैनिकों की जय-जय बोलते हैं। फिर, जब इस प्रोसेस में क्षति होती है, तो दोबारा सरकार को, देशभक्त लोगों को कोसने लगते हैं। 

बदलते समीकरण पर विचार नहीं बदलते। विचार बदलने का मतलब है कि आपके आशीर्वचनों में धूर्तता है। इसका मतलब है कि आपकी संवेदनशीलता की जड़ में संवेदनहीनता है जो शब्दों के खेल से बस छुप गई है। जिंगोइज्म कुछ नहीं होता, अतिराष्ट्रवाद कुछ नहीं होता। देश के साथ होने की, अपने सैनिकों को समर्थन देने की कोई सीमा नहीं होती। 

चूँकि किसी ने ऐसे शब्द बना रखे हैं, तो उन्हें हर समय फेंक कर मारने और देशभक्त लोगों का मनोबल गिराने के लिए इस्तेमाल करना धूर्त लोगों की पहचान है। लेकिन, चिंता मत कीजिए, ऐसे लोग मोर बनने को चक्कर में खुद ही कपड़े उतार लेते हैं। और ये कपड़े इनकी कुत्सित सोच पर से भी उतर जाते हैं, जो कि हमारे और आपके लिए दिन के उजाले में साफ तरीके से दिखते हैं। 

और हाँ, हमें सुनने और जानने वाले राष्ट्रवादियो! आप कुछ भी गलत नहीं कर रहे। युद्ध में जय बोलने वालों का भी महत्व होता है। जवानों को हमेशा यह लगना चाहिए कि अगर उनके हाथ में बंदूक है, और उनका जीवन हम जैसों के लिए समर्पित है, तो हम जैसे लोग इस बात को हमेशा ध्येय वाक्य बनाकर चलते हैं कि ‘When you go home, Tell them of us and say, For your tomorrow, We gave our today.’

हाँ, हमारे अंदर आपके लिए असीमित सम्मान है क्योंकि आप हैं तो देश है, हम हैं तो देश है, और आपके कारण ही ये लिबरलों का धूर्त गिरोह साँस लेता है, ट्वीट करता है, फर्जी नैरेटिव गढ़ता है। और ऐसे समय पर ये सम्मान अपने उच्चतम स्तर पर होता है। इसे जिंगोइज्म कहें, राष्ट्रवाद कहें, अतिराष्ट्रवाद कहें, देशभक्ति कहें, हमें सब स्वीकार है क्योंकि हमें स्वयं पर गर्व है, इस भारत भूमि पर गर्व है, और सबसे ऊपर हर भारतीय सैनिक पर गर्व है चाहे वो जिस भी रंग की वर्दी पहनता है। 

जय हिन्द, जय भारत! 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारतीhttp://www.ajeetbharti.com
सम्पादक (ऑपइंडिया) | लेखक (बकर पुराण, घर वापसी, There Will Be No Love)

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केंद्रीय मंत्री को झूठा साबित करने के लिए रवीश ने फैलाई फेक न्यूज: NDTV की घटिया पत्रकारिता के लिए सरकार ने लगाई लताड़

पत्र में लिखा गया कि ऐसे संवेदनशील समय में जब किसान दिल्ली के पास विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, उस समय रवीश कुमार ने महत्वपूर्ण तथ्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया है, जो किसानों को भ्रमित करता है और समाज में नकारात्मक भावनाओं को उकसाता है।

अजीत भारती छोड़ रहे हैं ऑपइंडिया, ऑक्सफोर्ड से आया बुलावा | Ajeet Bharti roasts Nidhi Razdan

आज जब श्री भारती जी के पास यह खबर आई कि उन्हें ऑक्सफोर्ड से प्रोफेसरी का बुलावा आया है तो उन्होंने भारी हृदय से सीईओ को त्यागपत्र सौंप दिया।

श्री अजीत भारती जी को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने असोसिएट प्रोफेसर नियुक्त किया, ऑपइंडिया से विदाई तय

श्री अजीत भारती को उनके मित्र अलख सुंदरम् ने बताया कि गोरों की जमीन पर जाते ही मुँह पर मुल्तानी मिट्टी लगा कर घूमें ताकि ऑक्सफोर्ड में उन्हें ब्राउन समझ कर कोई दुष्टता न कर दे।

NDTV की निधि ने खरीद लिया था हार्वर्ड का टीशर्ट, लोगों को भेज रही थी बरनॉल… लेकिन ‘शिट हैपेन्स’ हो गया!

पोटेंशियल हार्वर्ड एसोसिएट प्रोफेसर निधि राजदान ने कहा कि प्रोफेसर के तौर पर ज्वाइन करने की बातें हार्वर्ड नहीं बल्कि 'व्हाट्सएप्प यूनिवर्सिटी' से जारी की गईं थीं।

बिलाल ने ‘आश्रम’ वेब सीरीज देखकर जंगल में की युवती की हत्या, धड़ से सिर अलग कर 2 KM दूर गाड़ा

पुलिस का कहना है कि 'आश्रम' वेब सीरीज के पहले भाग की थीम की तरह ही ओरमाँझी में बिलाल ने इस हत्या को भी अंजाम दिया और लाश को ठिकाने लगाया।

जिसने सुशांत के लिए लिखा- नखरे दिखाने वाला, उसने करण जौहर की मेहरबानी के बाद छोड़ी ‘पत्रकारिता’

करण जौहर ने राजीव मसंद को अपने नए वेंचर का सीओओ बनाया है। मसंद ने लेखों के जरिए सुशांत की छवि धूमिल करने की कोशिश की थी।

प्रचलित ख़बरें

MBBS छात्रा पूजा भारती की हत्या, हाथ-पाँव बाँध फेंका डैम में: झारखंड सरकार के खिलाफ गुस्सा

हजारीबाग मेडिकल कालेज की छात्रा पूजा भारती पूर्वे के हाथ-पैर बाँध कर उसे जिंदा ही डैम में फेंक दिया गया। पूजा की लाश पतरातू डैम से बरामद हुई।

मारपीट से रोका तो शाहबाज अंसारी ने भीम आर्मी के नेता रंजीत पासवान को चाकुओं से गोदा, मौत

शाहबाज अंसारी ने भीम आर्मी नेता रंजीत पासवान की चाकू घोंप कर हत्या कर दी, जिसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने आरोपित के घर को जला दिया।

दुकान में घुस कर मोहम्मद आदिल, दाउद, मेहरबान अली ने हिंदू महिला को लाठी, बेल्ट, हंटर से पीटा: देखें Video

वीडियो में देख सकते हैं कि आरोपित युवक महिला को घेर कर पहले उसके कपड़े खींचते हैं, उसके साथ लाठी-डंडों, बेल्ट और हंटरों से मारपीट करते है।

चोटी गुहल कनिया रहिए गेल: NDTV में रहीं निधि राजदान को हार्वर्ड ने कभी नहीं बुलाया, बताई ठगे जाने की व्यथा

वह महामारी के कारण सब चीजों को नजर अंदाज करती रहीं लेकिन हाल ही में उन्हें इन चीजों को लेकर शक गहराया और उन्होंने यूनिवर्सिटी के शीर्ष प्रशासन से संपर्क किया तो...

UP: मूत्र विसर्जन के बहाने पिस्टल छिनकर भाग रहे ₹1 लाख के इनामी बदमाश को लगी STF की गोली

STF की टीम यमुना एक्सप्रेस-वे के रास्ते अनूप को मथुरा ले जा रही थी, लेकिन इस बीच भागने की कोशिश करने पर वो पुलिस की गोली का शिकार हो गया।

अब्बू करते हैं गंदा काम… मना करने पर चुभाते हैं सेफ्टी पिन: बच्चियों ने रो-रोकर माँ को सुनाई आपबीती, शिकायत दर्ज

माँ कहती हैं कि उन्होंने इस संबंध में अपने शौहर से बात की थी लेकिन जवाब में उसने कहा कि अगर ये सब किसी को पता चली तो वह जान से मार देगा।

दिल्ली दंगों के आरोपितों को बचाने वाले महमूद प्राचा को दिल्ली पुलिस ने किया एक्सपोज़, प्रशांत भूषण के आरोपों का भी दिया जवाब

प्रशांत भूषण द्वारा दिल्ली पुलिस की छापेमारी पर सवाल खड़े किए जाने के बाद पुलिस ने बिन्दुवार तरीके से हर प्रश्न का जवाब दिया है। भूषण ने यह सवाल ISIS पोस्टर बॉय के वकील महमूद प्राचा के विरुद्ध की गई पुलिस की रेड पर खड़े किए थे।

‘BJP वैक्सीन नहीं, नपुंसक बनाने की दवा के बाद अब जानलेवा टीका’: कोविड-19 को लेकर सपा की घटिया राजनीति जारी

अपने मास्टर अखिलेश यादव की तरह सपा नेता आईपी सिंह ने बर्ड फ्लू के बाद अब कोविड-19 वैक्सीन को लेकर एक विवादित बयान दिया है।

केंद्रीय मंत्री को झूठा साबित करने के लिए रवीश ने फैलाई फेक न्यूज: NDTV की घटिया पत्रकारिता के लिए सरकार ने लगाई लताड़

पत्र में लिखा गया कि ऐसे संवेदनशील समय में जब किसान दिल्ली के पास विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, उस समय रवीश कुमार ने महत्वपूर्ण तथ्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया है, जो किसानों को भ्रमित करता है और समाज में नकारात्मक भावनाओं को उकसाता है।

राम मंदिर के लिए इकबाल अंसारी भी करेंगे निधि समर्पण, कहा- यह श्रद्धा का सवाल है, इससे पुण्य मिलता है

बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी भी भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए समर्पण निधि देंगे। श्रीराम जन्मभूमि समर्पण निधि अभियान पर इकबाल अंसारी ने कहा कि बात राम मंदिर की है।

केंद्र सरकार ने पंजाब से सबसे ज्यादा कपास और धान खरीदने का बनाया रिकॉर्ड: आंदोलन में शामिल ‘किसानों’ ने भी जताई खुशी

किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल हो चुके गोल्टा ने सरकार के फैसले पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि समय पर एमएसपी रेट के अनुसार हुई बिक्री से उन्हें काफी मदद मिली है।

13 साल के नाबालिग का जबरन लिंग परिवर्तन करवाकर होता रहा बलात्कार, स्टेशन पर मँगवाई गई भीख: केस दर्ज

शुभम का लिंग परिवर्तन करवाने के बाद आरोपितों ने मिलकर उसका सामूहिक बलात्कार किया और पैसे के बदले दूसरे लोगों से भी उसका बलात्कार करवाया।
00:06:17

अजीत भारती छोड़ रहे हैं ऑपइंडिया, ऑक्सफोर्ड से आया बुलावा | Ajeet Bharti roasts Nidhi Razdan

आज जब श्री भारती जी के पास यह खबर आई कि उन्हें ऑक्सफोर्ड से प्रोफेसरी का बुलावा आया है तो उन्होंने भारी हृदय से सीईओ को त्यागपत्र सौंप दिया।

कॉन्ग्रेस नेता ने दिया ममता बनर्जी को विलय का सुझाव, कहा- BJP को हराने का नहीं है कोई दूसरा विकल्प

कॉन्ग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आगामी चुनावों में अकेली बीजेपी के खिलाफ नहीं लड़ सकती हैं।

श्री अजीत भारती जी को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने असोसिएट प्रोफेसर नियुक्त किया, ऑपइंडिया से विदाई तय

श्री अजीत भारती को उनके मित्र अलख सुंदरम् ने बताया कि गोरों की जमीन पर जाते ही मुँह पर मुल्तानी मिट्टी लगा कर घूमें ताकि ऑक्सफोर्ड में उन्हें ब्राउन समझ कर कोई दुष्टता न कर दे।

मलेशिया ने कर्ज न चुका पाने पर जब्त किया पाकिस्तान का विमान: यात्री और चालक दल दोनों को बेइज्‍जत करके उतारा

मलेशिया ने पाकिस्तान को उसकी औकात दिखाते हुए PIA (पाकिस्‍तान इंटरनेशनल एयरलाइन्‍स) के एक बोईंग 777 यात्री विमान को जब्त कर लिया है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
380,000SubscribersSubscribe