Wednesday, July 24, 2024
Homeराजनीतिराष्ट्रपति चुनाव में यशवंत सिन्हा को मिला AAP का साथ, 60% से ज्यादा समर्थन...

राष्ट्रपति चुनाव में यशवंत सिन्हा को मिला AAP का साथ, 60% से ज्यादा समर्थन द्रौपदी मुर्मू के पास: अंबेडकर के पोते ने दी सलाह- ‘रेस से हट जाओ’

राष्ट्रपति चुनावों से पहले आम आदमी पार्टी ने यशवंत सिन्हा को समर्थन देने का निर्णय लिया है जबकि प्रकाश अंबेडकर ने उन्हें सलाह दी है कि वो अपना नाम वापस ले लें क्योंकि अधिकतर समर्थन मुर्मू के पास है।

आम आदमी पार्टी (AAP) ने शनिवार (16 जुलाई 2022) को ऐलान किया कि वो आगामी राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) का समर्थन करेगी। 18 जुलाई को राष्ट्रपति के लिए चुनाव होना है। AAP सासंद संजय सिंह (Sanjay Singh) ने कहा, “द्रौपदी मुर्मू का सम्मान करते हैं, लेकिन आम आदमी पार्टी यशवंत सिन्हा का समर्थन करेगी।”

रिपोर्ट के मुताबिक, पार्टी ने ये फैसला महत्वपूर्ण राजनीतिक मामलों की समिति (PAC) की बैठक के बाद लिया। बैठक में आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, संजय सिंह, पंजाब के सांसद राघव चड्ढा, विधायक आतिशी और PAC के अन्य सदस्य शामिल थे। आम आदमी पार्टी के अलावा तेलंगाना के TRS ने भी सिन्हा को समर्थन देने का ऐलान किया है।

गौरतलब है कि आप का यह फैसला एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार मुर्मू के बढ़ते समर्थन के बीच आया है। शिवसेना द्वारा मुर्मू को समर्थन देने की घोषणा के मद्देनजर सिन्हा ने शनिवार को होने वाला अपना मुंबई दौरा रद्द कर दिया। BJD, YSR-CP, BSP, अन्नाद्रमुक, TDP, JDS, शिरोमणि अकाली दल (SAD) और शिवसेना जैसे कुछ क्षेत्रीय दलों का समर्थन मिलने के बाद मुर्मू का वोट शेयर पहले ही 60 प्रतिशत को पार कर चुका है। उनके नामांकन के समय यह लगभग 50 प्रतिशत था।

राष्ट्रपति से अपना नाम वापस लें यशवंत सिन्हा

इस बीच महाराष्ट्र की क्षेत्रीय पार्टी वंचित बहुजन आघाड़ी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बीआर अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर (Prakash Ambedkar) ने यशवंत सिन्हा से राष्ट्रपति पद की दौड़ से हटने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में वोट देने के लिए पार्टियों के कई अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के सदस्य शामिल हो रहे हैं।

वहीं एकनाथ शिंदे गुट के प्रवक्ता दीपक केसरकर (Deepak Kesarkar) ने प्रकाश अंबेडकर के इस बयान का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि द्रौपदी मुर्मू एक बड़ी उम्मीदवार हैं और हर कोई उनके समर्थन में है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -