Saturday, April 20, 2024
Homeबड़ी ख़बर'भारत के बेटे' की हत्या पर राजनीति न करे कॉन्ग्रेस: अजय पंडिता की बेटी...

‘भारत के बेटे’ की हत्या पर राजनीति न करे कॉन्ग्रेस: अजय पंडिता की बेटी ने शशि थरूर को लताड़ा

अजय पंडिता की हत्या के बाद कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर ने इस पूरे मामले को कॉन्ग्रेस पर हमला करार दिया था। थरूर ने लिखा था, "धर्मनिरपेक्षता और लोकतंत्र के लिए खड़े होने के लिए कश्मीर से केरल तक कॉन्ग्रेसियों की हत्या की जा रही है। संदेश साफ है- कॉन्ग्रेस मुक्त भारत।"

कश्मीर में पिछले दिनों सरपंच अजय पंडिता की आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी। इस मामले को सियासी रंग देने की कोशिश करने पर पंडिता के परिजनों ने कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर को जमकर सुनाया है।

दिवंगत अजय पंडिता की बेटी नियंता ने शुक्रवार (जून 12, 2020) को कहा कि कॉन्ग्रेस को भारत के बेटे (son of India) की हत्या पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उनके पिता की हत्या पर राजनीति करने की जरूरत नहीं है। उनका परिवार किसी से कुछ नहीं माँग रहा। उन्हें बस इंसाफ चाहिए।

रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए नियंता ने कहा, “मैं इस मामले का राजनीतिकरण करने की आवश्यकता समझ नहीं पाई। उन्होंने अपने नाम के साथ भारती शब्द इसलिए जोड़ा था क्योंकि वह देश के साथ जुड़ना चाहते थे, न कि किसी राजनीतिक दल के साथ।”

उन्होंने आगे कहा, “मैं राजनीति को लेकर अभी अनजान हूँ। लेकिन मुझे जो पता है वो यह कि मेरे पिता ने जो कुछ भी किया वह राजनीति के लिए नहीं था। हम न्याय चाहते हैं और कुछ नहीं।”

अजय पंडिता की बेटी के अलावा उनके पिता ने भी बेवजह मामले का राजनीतिकरण करने के आरोप में कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर की निंदा की। उन्होंने कहा, “शशि थरूर क्या जानते हैं? अजय ने इस देश के लिए सबसे बड़ा बलिदान दिया है। उनका बयान पूर्ण रूप से गलत है। हम न्याय चाहते हैं। राजनीतिक नेतृत्व इस घटना को तोड़-मरोड़कर पेश करेगा, लेकिन हम न्याय चाहते हैं।”

क्या बोला था शशि थरूर ने?

अजय पंडिता की हत्या के बाद कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर ने इस पूरे मामले को कॉन्ग्रेस पर हमला करार दिया था। थरूर ने लिखा था, “धर्मनिरपेक्षता और लोकतंत्र के लिए खड़े होने के लिए कश्मीर से केरल तक कॉन्ग्रेसियों की हत्या की जा रही है। संदेश साफ है- कॉन्ग्रेस मुक्त भारत।”

अनुपम खेर ने दिया शशि थरूर को जवाब

इस ट्वीट के बाद बॉलीवुड कलाकार अनुपम खेर ने भी उन्हें आड़े हाथों लिया और पूछा कि आखिर उनकी सोच के साथ क्या हो गया है। उन्होंने लिखा, “प्रिय, शशि थरूर!! आप एक शिक्षित व्यक्ति हैं। आपकी सोच को क्या हो गया है? इस परिदृश्य में जब एक आतंकवादी कश्मीर से कन्याकुमारी तक किसी को मारता है, तो वह एक भारतीय को मार देता है। राजनीतिक दल का सदस्य नहीं होता। घुमा फिराकर बात करने का क्‍या तरीका है!! संगत का इतना बुरा असर!!”

बता दें, 8 जून को जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के लोकभवन लरकीपोरा में सरपंच अजय पंडिता की गोली मारकर हत्या की गई थी। पुलिस ने बताया था कि सोमवार (08 जून, 2020) की शाम करीब 6 बजे कुछ आतंकवादियों ने 40 वर्षीय सरपंच अजय पंडिता उर्फ भारती को गोली मार दी। घटना को अंजाम देकर आतंकवादी मौके से फरार हो गए थे। घटना को उस समय अंजाम दिया गया था कि जब सरपंच अपने बागान में थे।

उनकी हत्या के बाद आतंकवादियों को चेतावनी देते हुए नियंता ने कहा था, “तुझे क्या लगता है, तूने अजय भारती को मारा है। उनका शेर अभी जिंदा है। जिंदा नहीं छोड़ूँगी तुम्हें। एक गोली तो मारुँगी मैं उसे, सिर्फ एक गोली जाएगी मेरी तरफ से उसे। मेरे पापा मुझे शेरा बुलाते थे और मैं हूँ वो। मैं किसी से नहीं डरती। सामने बोल रही हूँ कि जिसने भी मेरे पापा के साथ ऐसा किया है, उसकी गर्दन हाथ में पकड़कर ऐसे तोड़ूँगी न कि उसकी रुह तक काँपनी चाहिए।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘PM मोदी की गारंटी पर देश को भरोसा, संविधान में बदलाव का कोई इरादा नहीं’: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- ‘सेक्युलर’ शब्द हटाने...

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने जीएसटी लागू की, 370 खत्म की, राममंदिर का उद्घाटन हुआ, ट्रिपल तलाक खत्म हुआ, वन रैंक वन पेंशन लागू की।

लोकसभा चुनाव 2024: पहले चरण में 60+ प्रतिशत मतदान, हिंसा के बीच सबसे अधिक 77.57% बंगाल में वोटिंग, 1625 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में...

पहले चरण के मतदान में राज्यों के हिसाब से 102 सीटों पर शाम 7 बजे तक कुल 60.03% मतदान हुआ। इसमें उत्तर प्रदेश में 57.61 प्रतिशत, उत्तराखंड में 53.64 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe