Friday, December 3, 2021
Homeराजनीतिबोले गहलोत- डेढ़ साल से सचिन पायलट से नहीं हुई बात, लौट आए तो...

बोले गहलोत- डेढ़ साल से सचिन पायलट से नहीं हुई बात, लौट आए तो गले लगा लूँगा: BJP ने कहा- ऑडियो टेप की हो CBI जाँच

संबित पात्रा ने CBI से राजस्थान में कॉन्ग्रेस द्वारा लगाए गए आरोपों की जाँच की भी माँग की है, जिसमें ऑडियो टेप के जरिए यह साबित करने का प्रयास किया जा रहा है कि भाजपा गहलोत सरकार को गिराने के लिए कॉन्ग्रेस के बागी नेताओं के साथ मिलीभगत कर रही थी।

राजस्थान में जारी सियासी घमासान के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बताया है कि उनकी सचिन पायलट से बीते डेढ़ साल से बात नहीं हुई है। साथ ही दावा किया है कि पायलट सरकार गिराने की साजिश बहुत दिनों से कर रहे थे।

गहलोत की सरकार में पायलट उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष थे। उन्हें हाल ही में दोनों पदों से हटाया गया है। गहलोत ने कहा, “कोई मंत्री अपने सीएम से बात नहीं करता, न ही उसकी सलाह लेता है और न ही कोई बातचीत करता है। लोकतंत्र में, कट्टर प्रतिद्वंद्वी भी बात करते हैं। लोकतंत्र की खूबसूरती संवाद ही है।”

साथ ही गहलोत ने यह भी कहा कि अगर सचिन पायलट उनके पास वापस आते हैं तो वे उन्हें गले लगाने को भी तैयार हैं।

दूसरी ओर, शनिवार (जुलाई 18, 2020) को भारतीय जनता पार्टी ने कॉन्ग्रेस पर जमकर निशाना साधा और यह सवाल उठाया कि क्या राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार को गिराने की कथित साजिश के बीच राज्य के नेताओं के फोन टैप किए जा रहे हैं?

पार्टी ने केंद्रीय जाँच ब्यूरो (CBI) से राजस्थान में कॉन्ग्रेस द्वारा लगाए गए आरोपों की जाँच की भी माँग की है, जिसमें ऑडियो टेप के जरिए यह साबित करने का प्रयास किया जा रहा है कि भाजपा गहलोत सरकार को गिराने के लिए कॉन्ग्रेस के बागी नेताओं के साथ मिलीभगत कर रही थी।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, “क्या फोन टैपिंग कोई कानूनी मुद्दा नहीं है? फ़ोन टैपिंग के लिए निर्धारित मानक प्रक्रियाएँ पूरी की गईं? मुख्यमंत्री को जवाब देना चाहिए कि क्या राज्य की मशीनरी का दुरुपयोग हुआ है और राज्य में कोई आपात स्थिति है?”

कॉन्ग्रेस पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शुक्रवार (जुलाई 17, 2020) को मीडिया को उन ऑडियो टेप्स के बारे में जानकारी दी थी, जिनमें कथित तौर पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत सहित भाजपा नेताओं को राज्य सरकार को गिराने के लिए सचिन पायलट खेमे के बागी विधायकों के साथ साजिश के बारे में सुना जाने का दावा किया गया है।

सुरजेवाला के आरोपों को भाजपा के साथ-साथ शेखावत ने भी खारिज कर दिया, जिन्होंने दावा किया था कि कथित ऑडियो टेप पर आवाज उनकी नहीं थी। उन्होंने कहा है कि वो सीबीआई जाँच के लिए तैयार हैं।

वहीं, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि कॉन्ग्रेस पार्टी के भीतर ही साजिश चल रही है और इसका दोष भाजपा पर मढ़ा जा रहा है। उन्होंने कहा, “हमारी नैतिकता स्पष्ट है और हम संविधान के अनुसार काम करते हैं। इसलिए हम सीबीआई जाँच चाहते हैं।”

भाजपा ने प्रेस वार्ता में सीबीआई जाँच की माँग करते हुए कहा, “क्या एसओपी फॉलो हुआ, फोन टेपिंग इत्यादि किया गया? क्या सभी राजनीतिक पार्टी के सभी लोगों के साथ इस प्रकार का व्यवहार किया जा रहा है?”

उन्होंने कहा, “राजस्थान के लोग जानना चाहते हैं कि क्या उनकी निजता से समझौता किया गया है? क्या राजस्थान में कॉन्ग्रेस सरकार ने खुद को बचाने के लिए असंवैधानिक तरीकों का इस्तेमाल किया? क्या राजनीति से संबंधित किसी व्यक्ति का फोन टैप किया जा रहा है?”

बीजेपी ने ट्वीट कर कहा कि ये गंभीर सवाल हैं, जिसका जवाब हम राजस्थान कॉन्ग्रेस और अशोक गहलोत से चाहते हैं। पार्टी प्रवक्ता पात्रा ने कहा, “राजस्थान की सरकार 2018 में बनी। अशोक गहलोत मुख्यमंत्री बने। उसके बाद एक कोल्ड वॉर की स्थिति कॉन्ग्रेस पार्टी की सरकार में बनी रही। कल अशोक गहलोत जी ने स्वयं मीडिया के सामने आकर कहा है कि 18 महीने से मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के बीच में वार्तालाप नहीं हो रही थी। राजस्थान में कॉन्ग्रेस का राजनीतिक ड्रामा हम देख रहे हैं। ये षड्यंत्र, झूठ-फरेब और कानून को ताक पर रखकर कैसे काम किया जाता है, उसका मिश्रण है।”

राजस्थान पुलिस के विशेष ऑपरेशन समूह (एसओजी) ने शुक्रवार (जुलाई 17, 2020) को राज्य में कॉन्ग्रेस सरकार को गिराने की साजिश रचने के आरोप में दो एफआईआर दर्ज की थी। FIR कॉन्ग्रेस पार्टी के मुख्य सचेतक (व्हिप) महेश जोशी की शिकायतों के आधार पर दर्ज की गई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस में खालिस्तान समर्थक सिंगर मूसेवाला: सिद्धू ने बताया ‘यूथ आइकॉन’, कैप्टन सरकार में हुआ था आर्म्स एक्ट का केस

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला कॉन्ग्रेस में शामिल हो गए हैं। वो खालिस्तान समर्थक और आतंकी भिंडरावाले का प्रशंसक रहे हैं।

2 साल तक के बच्चों का यौन शोषण, बच्चियों के खरीदे अश्लील वीडियो: सब कुछ जानकर भी चुप रही CIA, ‘गोपनीयता’ बनी बहाना

अमेरिका की सीक्रेट सर्विस एजेंसी सीआईए को अपने कम-से-कम 10 कर्मचारियों द्वारा बच्चों के यौन शोषण से संबंधित मामलों की जानकारी मिली है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,299FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe