Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिगहलोत के घर रची गई ऑडियो टेप की साजिश: सुरजेवाला सहित कई कॉन्ग्रेस नेताओं...

गहलोत के घर रची गई ऑडियो टेप की साजिश: सुरजेवाला सहित कई कॉन्ग्रेस नेताओं के खिलाफ BJP ने की शिकायत

बीजेपी नेता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने जयपुर के अशोक नगर थाने में कॉन्ग्रेस नेताओं के खिलाफ शिकायत की है। उन्होंने विधायकों की खरीद-फरोख्त के फर्जी ऑडियो बनाकर बीजेपी को बदनाम करने का आरोप कॉन्ग्रेस नेताओं पर लगाया है।

महेश जोशी, रणदीप सुरजेवाला सहित कई कॉन्ग्रेस नेताओं के खिलाफ बीजेपी ने पुलिस से शिकायत की है। इसमें कहा गया है कि पार्टी को बदनाम करने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर साजिश रची गई।

बीजेपी नेता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने जयपुर के अशोक नगर थाने में कॉन्ग्रेस नेताओं के खिलाफ शिकायत की है। उन्होंने विधायकों की खरीद-फरोख्त के फर्जी ऑडियो बनाकर बीजेपी को बदनाम करने का आरोप कॉन्ग्रेस नेताओं पर लगाया है।

इससे पहले ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, कॉन्ग्रेस से निलंबित विधायक भँवरलाल शर्मा और संजय जैन पर राजद्रोह के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। एडीजी (एटीएस और एसओजी) अशोक राठौड़ बताया था कि कॉन्ग्रेस नेता महेश जोशी से मिली शिकायतों के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

अब राजस्थान भाजपा प्रवक्ता लक्ष्मीकान्त भारद्वाज ने महेश जोशी, रणदीप सुरजेवाला और अन्य के विरुद्ध अशोक नगर थाने, जयपुर में मामला दर्ज शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में आरोप लगाया है कि कॉन्ग्रेस के नेता फर्ज़ी ऑडियो क्लिप के सहारे भाजपा की छवि खराब करने में लगे हुए हैं।

भारद्वाज ने शिकायत में कहा है कि महेश जोशी, रणदीप सुरजेवाला और भॅंवरलाल शर्मा भाजपा की छवि को नुकसान पहुॅंचाने के इरादे से आपराधिक षड्यंत्र रच रहे हैं। कॉन्ग्रेस अंदरूनी विवाद से ध्यान हटाने के लिए ऐसा कर रही है। ऑडियो में मंत्री और विधायक की आवाज़ होने का दावा भाजपा के विरुद्ध पूर्णतः मिथ्या प्रचार है। साथ ही विधायकों को खरीदने की बात भी झूठ है, पूरे प्रकरण में अधिकारियों का दुरुपयोग केवल षड्यंत्र रचने के लिए किया गया है।

शिकायत में कहा गया है कि लोकेश शर्मा नाम का व्यक्ति जो खुद को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का ओएसडी बताता है, ने 16 जुलाई के दिन सभी मीडियाकर्मियों को फर्ज़ी ऑडियो क्लिप भेजा जिससे भाजपा की छवि को नुकसान पहुॅंचाने का आपराधिक उद्देश्य पूरा हो सके। इस घटनाक्रम का ब्यौरा अगले दिन 17 जुलाई को समाचार समूह दैनिक भास्कर में प्रकाशित भी हुआ है। इसके बाद कॉन्ग्रेस प्रवक्ता ने प्रेस वार्ता करके ऑडियो क्लिप के अंश सार्वजनिक रूप से सभी का सामने पढ़े जिनकी कोई विश्वसनीयता नहीं है।   

भारद्वाज ने कहा है कि साज़िश के माध्यम से भाजपा और उसके समर्थकों के खिलाफ घृणा फैलाने और उनका अपमान करने का प्रयास किया गया है। फर्ज़ी ऑडियो क्लिप के आधार पर ही भाजपा नेता पर दंड संहिता की धारा 124 (ए) के तहत झूठा मामला दर्ज कराया गया है। निजी वैमनस्य के तहत एसओजी का इस्तेमाल किया जा रहा है।

उन्होंने मामले की निष्पक्ष जॉंच की मॉंग करते हुए महेश जोशी, लोकेश शर्मा, रणदीप सुरजेवाला और अन्य के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 469, 471, 195, 500, 504, 505 और 120बी, 166ए के तहत मामला दर्ज करने की मॉंग की है। 

गौरतलब है कि राजस्थान में सियासी उठापटक सरकार गिराने की कथित साजिशों को लेकर सचिन पायलट को बयान दर्ज कराने के लिए भेजे गए नोटिस के बाद हुई थी। पायलट के आक्रामक रुख को देखते हुए उनसे पार्टी के प्रदेश ईकाई की कमान के साथ-साथ उप मुख्यमंत्री का पद भी छीन लिया गया था। इस विवाद में ऑडियो क्लिप भी सामने आने के बाद कॉन्ग्रेस ने भाजपा पर विधायकों को खरीदने का आरोप लगाया।

पायलट सहित 19 कॉन्ग्रेस विधायकों को विधानसभा स्पीकर ने सदन की सदस्यता से अयोग्य घोषित करने को लेकर नोटिस भी दिया था। इसके खिलाफ हाई कोर्ट में अपील की गई थी। कोर्ट ने 20 जुलाई तक सुनवाई टालते हुए स्पीकर से इस नोटिस पर मंगलवार तक कार्रवाई नहीं करने को कहा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -