Monday, September 27, 2021
Homeदेश-समाजबंगाल में भारत माता पूजा के लिए पोस्टर लगा रहे लोगों पर हमला, वाहनों...

बंगाल में भारत माता पूजा के लिए पोस्टर लगा रहे लोगों पर हमला, वाहनों में तोड़फोड़: TMC के गुंडों पर बमबारी का भी आरोप

तृणमूल कॉन्ग्रेस नेता तपन चटर्जी के इशारे पर भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले का आरोप है। दरअसल रविवार रात राजारहाट इलाके में भाजपा की तरफ से भारत माता की पूजा का आयोजन होने वाला था। इसी के प्रचार के लिए भाजपा कार्यकर्ता पोस्टर लगा रहे थे।

पश्चिम बंगाल में रविवार (दिसंबर 6, 2020) को एक बार फिर से हिंसक वारदात की खबर सामने आई है। राजारहाट इलाके में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला किया गया। हमला का आरोप टीएमसी समर्थित गुंडों पर लगा है। बीजेपी कार्यकर्ताओं पर उस वक्त हमला किया गया जब वो डिरेजियो मेमोरियल कॉलेज के पास पोस्टर लगा रहे थे। 

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक तृणमूल कॉन्ग्रेस नेता तपन चटर्जी के इशारे पर भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले का आरोप है। दरअसल रविवार रात राजारहाट इलाके में भाजपा की तरफ से भारत माता की पूजा का आयोजन होने वाला था। इसी के प्रचार के लिए भाजपा कार्यकर्ता पोस्टर लगा रहे थे। 

उसी समय कुछ बदमाश वहाँ पहुँचे और भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला कर दिया। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा, उनके लगाए पोस्टर फाड़ दिए और उनके वाहनों में भी तोड़फोड़ की। भाजपा नेता अर्जुन सिंह ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है।  

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “नैहाटी विधानसभा नैहाटी मंडल-1 गोरुफाड़ी कार्यालय में TMC के गुंडों ने बम फेंके। TMC को BJP से डर लग रहा है, ये डर अच्छा है।” पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा का चुनाव होना है, लेकिन उससे पहले लगातार बीजेपी से जुड़े लोगों को निशाना बनाने के आरोप और राज्य की सत्ताधारी टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर लग रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि एक दिन पहले ही शनिवार (दिसंबर 5, 2020) को राज्य के आसनसोल में बीजेपी की बाइक रैली पर हमला हुआ था। बीजेपी कार्यकर्ताओं पर फायरिंग की गई और पत्थरबाजी भी की गई। इस दौरान बम भी फेंके गए। स्थानीय बीजेपी नेता लखन घोरुई ने जानकारी देते हुए बताया था, “टीएमसी के गुंडों ने गोलीबारी की और बम विस्फोट कर 5-7 लोगों को घायल कर दिया। हम अभी अस्पताल जा रहे हैं। पुलिस से मदद माँगने के बावजूद कोई कदम नहीं उठाया गया है।”

गौरतलब है कि पिछले दिनों पश्चिम बंगाल के कूच बिहार में बीजेपी के कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या का मामला सामने आया था। मृतक कार्यकर्ता का नाम कलाचंद कर्मकार (kalachand Karmakar) था और उनकी उम्र 55 साल थी। वह बीजेपी के बूथ कमेटी के सचिव भी थे।

आरोप था कि पाँचों टीएमसी कार्यकर्ताओं ने बेरहमी से बीजेपी नेता की पिटाई की, जिसमें उन्हें गंभीर चोटें आई। जब इलाज के लिए उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मृतक बीजेपी नेता के परिवार वालों ने टीएमसी के गुंडों पर हत्या का आरोप लगाया था। परिवार ने पुलिस को दी शिकायत में पाँच टीएमसी कार्यकर्ता का नाम लिया था। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कन्हैया कुमार वामपंथी ऑफिस से AC निकाल कर ले गए, खुद CPI के नेता ने बताया: कॉन्ग्रेस से हाथ मिलाने के पहले की ‘हरकत’

कन्हैया कुमार पटना स्थित सीपीआई (CPI) कार्यालय के जिस कमरे में बैठते थे, उससे AC निकालकर ले जाने के कारण सुर्ख़ियों में हैं।

टिहरी डैम की सरकारी जमीन पर अवैध मस्जिद: शुक्रवार को नमाज बाद छेड़छाड़ से परेशान स्थानीय, प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन

विहिप, बजरंग दल और स्थानीय भाजपा नेता सहित कई हिंदू संगठनों ने मस्जिद को हटाने की कोशिश की। इसके बाद भी प्रशासन ने कोई ठोस कार्रवाई नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,737FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe