AAP की विफलताओं को बेनक़ाब करने के लिए BJP ने शुरू किया ढोल आंदोलन

BJP के अनुसार, अस्पतालों की स्थिति ख़राब है, मुहल्ला क्लीनिकों में कोई डॉक्टर नहीं हैं, सरकारी स्कूलों में छात्रों के नामांकन में गिरावट दर्ज़ की गई है और प्रदूषण का स्तर भी काफ़ी बढ़ गया है।

आम चुनावों के लिए अपने अभियान को तेज करते हुए, भारतीय जनता पार्टी ने रविवार (27-01-2019) को राजधानी में आम आदमी पार्टी के ख़राब शासन को बेनक़ाब करने के लिए ढोल आन्दोलन शुरू कर दिया।

अशोक रोड स्थित अपने आधिकारिक आवास से अभियान की शुरुआत करते हुए, केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने आरोप लगाया कि अरविंद केजरीवाल सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है।

अपने बयान में उन्होंने कहा कि अस्पतालों की स्थिति ख़राब है, मुहल्ला क्लीनिकों में कोई डॉक्टर नहीं हैं, सरकारी स्कूलों में छात्रों के नामांकन में गिरावट दर्ज़ की गई है और प्रदूषण का स्तर भी काफ़ी बढ़ गया है। टैंकरों के माध्यम से मलिन बस्तियों और पुनर्वास कॉलोनियों में दूषित पानी वितरित किया जा रहा है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि न्यूनतम बिजली शुल्क में वृद्धि की गई है। दिल्ली में AAP सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता हर पार्क और इलाक़े में जाएँगे और दिल्लीवासियों को इस बारे में सूचित करेंगे।

दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली में सात सांसदों ने लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए ज़बरदस्त काम किया है, जिसे हर दिल्ली की जनता को बताया जाना चाहिए था। तिवारी ने कहा, “दिल्ली में सड़क नेटवर्क को बेहतर बनाने के लिए हमें केंद्र से अतिरिक्त 55,000 करोड़ रुपए मिले।”

AAP के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मोदी के ख़िलाफ़ अपनी पार्टी के राष्ट्रव्यापी अभियान ने बीजेपी को केजरीवाल के ख़िलाफ़ अभियान शुरू करने के लिए प्रेरित किया है। “मतदाताओं के हित के लिए दिल्ली में एक ठोस बहस के लिए मैं तिवारी और गोयल जी को आमंत्रित करता हूँ। आइए एक-एक करके मोदी जी और केजरीवाल के चुनावी वादों की चर्चा करें।”

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

महाराष्ट्र ओपिनियन पोल
देवेंद्र फडणवीस को 39% लोगों ने मुख्यमंत्री के लिए पहली पसंद माना है जबकि 6% लोग उद्धव ठाकरे के पक्ष में थे। बता दें कि उद्धव की शिवसेना भी राजग का हिस्सा है।

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

92,030फैंसलाइक करें
15,511फॉलोवर्सफॉलो करें
98,500सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: