Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतितुम्हारी शेरनियाँ ₹500 लेकर रोड पर बैठती हैं, शेर नपुंसक हैं क्या?: भाजपा MLA...

तुम्हारी शेरनियाँ ₹500 लेकर रोड पर बैठती हैं, शेर नपुंसक हैं क्या?: भाजपा MLA ने वारिस पठान को चेताया

"इस देश के युवा देभभक्त हैं और बीजेपी का प्रत्येक युवा वारिस पठान को उसी भाषा में जवाब दे सकता है जैसा कि उन्होंने इस्तेमाल किया है। हम बहुत सहिष्णु और धैर्यवान हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम इससे निपट नहीं सकते हैं।"

सीएए के ख़िलाफ गुलबर्ग में आयोजित रैली में AIMIM के नेता वारिश पठान द्वारा हिंदुओं के खिलाफ उगला गया ज़हर अब उनके गले की फाँस बनता जा रहा है। पहले औवेसी ने पठान के मीडिया में बयान देने से रोक लगाई। फिर हिंदुओं के साथ मुस्लिम संगठनों ने भी पठान के ख़िलाफ विरोध प्रदर्शन करना शरू कर दिया। यहाँ तक कि एक मुस्लिम संगठन ने तो पठान का सिर कलम करने पर 11 लाख रुपए का इनाम भी रख दिया। अब पठान को
महाराष्ट्र के बीजेपी विधान पार्षद गिरिश व्यास ने गुजरात की याद दिला दी है, साथ ही उसे कभी न भूलने की सलाह भी दी है।

गिरीश व्यास ने शुक्रवार को एक पत्रकार से बात करते हुए कहा, “इस देश के युवा देभभक्त हैं और बीजेपी का प्रत्येक युवा वारिस पठान को उसी भाषा में जवाब दे सकता है जैसा कि उन्होंने इस्तेमाल किया है। हम बहुत सहिष्णु और धैर्यवान हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम इससे निपट नहीं सकते हैं। क्या गुजरात के कालुपुर में जो हुआ था, वह याद है। अगर उसे याद रखें। तो मेरा विश्वास है कि मुस्लिम आज उठने की कोशिश का साहस नहीं करेंगे।”

नागपुर के रहने वाले व्यास ने पठान को शहर आने की चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि हम आपके लिए सही व्यवस्था करेंगे कि क्या आप यह समझते हैं कि हमने चूड़ियाँ पहन रखी हैं? हम आप से निपटने के लिए तैयार हैं, लेकिन हम यह चाहते हैं कि समाज में आपसी भाईचारा बना रहे। व्यास ने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को पठान के खिलाफ राजद्रोह की कार्रवाई करनी चाहिए और भारत सरकार को उसे पाकिस्तान भेज देना चाहिए।

वहीं तेलंगाना के गोशामहल से बीजेपी विधायक टाइगर राजा सिंह ने वारिस पठान के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि वारिस पठान कहता है कि 15 करोड़ मुस्लिम 100 करोड़ पर भारी पड़ेंगे। उन्होंने कहा-

“ये किस भाषा का उपयोग कर रहे हो। क्या तुम लोग हम पर भारी पड़ोगे? उन्होंने कहा है कि वो वारिस है या लावारिस है। कहता है कि इनकी शेरनियाँ सड़कों पर बैठी है तो हमें पसीने आ गए। इनकी शेरनियाँ 500 रुपये देकर रोड पर बैठती है। इनकी शेरनियाँ अगर रोड पर आ गईं तो शेर क्या जंगल में झक मारने गए हैं और क्या इनके शेर नपुंसक हैं। अगर हमारे हिंदुस्तानी शेर घर से निकल गए तो किन-किन शेरनियों का शिकार करेंगे। खुला चैलेंज देता हूँ कि आ जा।”

बीते दिनों सीएए के ख़िलाफ गुलबर्ग में रैली आयोजित करते हुए ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के पूर्व MLA वारिस पठान के भाषण का एक वीडियो सामना आया था। भाषण में वारिस पठान ने सीएए के ख़िलाफ़ बोलते हुए कहा था, “उनकी संख्या अभी 15 करोड़ है, लेकिन ये 15 करोड़ 100 करोड़ पर भारी है। अगर ये 15 करोड़ साथ में आ गए, तो सोच लो उन 100 करोड़ हिंदुओं का क्या होगा?”

आपको बता दें कि वारिस पठान वही नेता हैं, जिनकी 2016 में महाराष्ट्र विधानसभा से सदस्यता इसलिए खत्म कर दी गई थी, क्योंकि उन्होंने सदन में भारत माता की जय बोलने से इनकार कर दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,544FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe