Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिभारतीय सेना में शामिल होंगी BJP सांसद रवि किशन की बेटी इशिता: 'अग्निपथ योजना'...

भारतीय सेना में शामिल होंगी BJP सांसद रवि किशन की बेटी इशिता: ‘अग्निपथ योजना’ के तहत बनेंगी ‘अग्निवीर’, बतौर कैडेट 3 साल लिया है कड़ा प्रशिक्षण

इशिता शुक्ला ने भी इंस्टाग्राम कई कई तस्वीरें पोस्ट कर के बताया था कि कैसे बतौर कैडेट उन्हें काम करना होता था।

भोजपुरी सुपरस्टार और भाजपा सांसद रवि किशन की बेटी इशिता शुक्ला ‘अग्निपथ योजना’ के तहत भारतीय सेना का हिस्सा बनेंगी। जून 2022 में ही रवि किशन ने ट्वीट कर के बताया था कि उनकी बेटी ने उनसे कहा कि वो ‘अग्निवीर’ बनना चाहती हैं, जिसके बाद उन्होंने उसका उत्साहवर्धन किया। इशिता फ़िलहाल दिल्ली डायरेक्ट्रेट की 7 गर्ल्स बटालियन का हिस्सा हैं। वो पिछले 3 वर्षों से यहाँ सेवा दे रही हैं। रवि किशन ने ट्वीट कर के बताया था कि वो पिछले 3 वर्षों से कड़ी मेहनत कर रही हैं।

इस साल गणतंत्र दिवस से पहले अपनी बेटी की तस्वीरें शेयर करते हुए गोरखपुर के सांसद ने बताया था कि इशिता देश की सेवा करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं। उन्होंने बताया था कि कैसे उनकी बेटी गणतंत्र दिवस परेड से पहले प्रशिक्षण के दौरान कड़े ठंड का सामना कर रही हैं और कोहरे के बावजूद लगी हुई हैं। इशिता शुक्ला ने भी इंस्टाग्राम कई कई तस्वीरें पोस्ट कर के बताया था कि कैसे बतौर कैडेट उन्हें काम करना होता था। इन तस्वीरों में वो यूनिफॉर्म में दिखाई देती हैं।

कई भाजपा नेताओं ने भी इस खबर के बाद तस्वीरें ट्वीट कर के रवि किशन को बधाई दी है, कइयों का रवि किशन ने जवाब भी दिया। इस खबर को रवि किशन ने खुद शेयर नहीं किया, लेकिन उन्होंने शुभकामनाओं का धन्यवाद दिया। रवि किशन की बड़ी बेटी रीवा किशन पिता के नक्शेकदम पर ही चल रही हैं और उन्होंने ‘सब कुशल मंगल (2020)’ से फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा था। इन दोनों के अलावा रवि किशन के दो बेटे भी हैं, जिनके नाम हैं तनिष्क और सक्षम।

रवि किशन गोरखपुर से सांसद हैं। साथ ही वो भोजपुरी के शीर्ष अभिनेता भी रहे हैं। उन्होंने बॉलीवुड में भी नाम कमाया है। जहाँ तक ‘अग्निपथ योजना’ का सवाल है, नए नियमों के तहत अभ्यर्थियों को पहले ‘कॉमन इंटरेस्ट एग्जामिनेशन (CEE)’ देना होता है, जिसके बाद उनका फिजिकल फिटनेस व मेडिकल टेस्ट होता है। अग्निवीरों में से हर साल 25% को स्थायी नियुक्ति दी जाएगी, जबकि बाकियों को सरकारी से लेकर प्राइवेट सेक्टर तक नौकरियाँ मिलेंगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -