Monday, July 26, 2021
Homeराजनीतिकेंद्रीय मंत्री की गाड़ी पर कॉन्ग्रेसियों का पथराव: राजस्थान के मंत्री का करप्शन उजागर...

केंद्रीय मंत्री की गाड़ी पर कॉन्ग्रेसियों का पथराव: राजस्थान के मंत्री का करप्शन उजागर करने से थे नाराज

बेनीवाल के साथ केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी जागरण में भाग लेने पहुॅंचे थे जब यह घटना हुई। जिस इलाके में पथराव हुआ वह राजस्थान के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी का ही विधानसभा क्षेत्र है।

राजस्थान के बाड़मेर जिले में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंगलवार (नवंबर 12, 2019) की रात केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी के वाहन पर पथराव किया। हालाँकि इस पथराव में किसी को चोट नहीं आई, लेकिन मंत्री के वाहन और पुलिस की जीप को खासा नुकसान पहुँचा।

इस दौरान कैलाश चौधरी के साथ राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक तथा सांसद हनुमान बेनीवाल भी थे। कहा जा रहा है कि कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं के निशाने पर बेनीवाल ही थे। उन्होंने हाल ही में राज्य के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे।

बेनीवाल ने मंगलवार को एक प्रेस वार्ता में मंत्री हरीश चौधरी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे। जिसके बाद से ही कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता उनसे नाराज चल रहे थे। बेनीवाल के बयान के बाद कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने कार्यालय में बैठक भी बुलाई थी और लगभग सौ लोग उनका विरोध करने फलसूंड चौराहे पर भी पहुँचे थे। यहाँ करीब आधे घंटे तक इन लोगों ने बेनीवाल के ख़िलाफ़ नारेबाजी की थी।

ऐसे में जब कैलाश चौधरी के साथ बेनीवाल बाड़मेर में बायतु के उपखंड मुख्यालय पर आयोजित वीर तेजाजी और खेमाबाबा की जागरण में भाग लेने पहुँचे, तो वहाँ मौजूद कॉन्ग्रेसी कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला कर दिया। बता दें बायतू राजस्व मंत्री हरीश चौधरी का ही विधानसभा क्षेत्र है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस मामले में पुलिस अधीक्षक शदर चौधरी ने कहा, “कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं में नाराजगी थी, वे बीती रात बायतू के पास इकट्ठा हुए और कहा कि सांसद को कार्यक्रम में शामिल नहीं होने दिया जाएगा।”

पुलिस के अनुसार मौक़े पर मौजूद आला अधिकारियों ने उनकों समझा-बुझाकर शांत करवाया, लेकिन जैसे ही कैलाश चौधरी की गाड़ी वहाँ पहुँची तो उनमें से कुछ लोगों ने वाहन पर पथराव किया। पुलिस ने हालात को काबू में कर लिया और दोनों नेताओं ने जागरण में भाग लिया। इस घटना पर हनुमान बेनीवाल ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “मैं भी इनकी तरह कर सकता हूँ, लेकिन यहाँ सभी मेरे अपने हैं, इसलिए मैं ऐसा नहीं कर रहा हूँ। “

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe