Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिस्टालिन के मंत्री बेटे ने सनातन धर्म को बताया था डेंगू-मलेरिया, अब उनके MP...

स्टालिन के मंत्री बेटे ने सनातन धर्म को बताया था डेंगू-मलेरिया, अब उनके MP ने उत्तर भारत को कहा ‘गौमूत्र राज्य’: BJP की जीत से संसद में बौखलाए

भाजपा नेताओं ने कॉन्ग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी से पूछा है कि क्या वो I.N.D.I. गठबंधन के अपने साथी द्वारा उत्तर भारतीयों को लेकर दिए गए इस बयान से सहमत हैं?

तमिलनाडु की सत्ताधारी पार्टी DMK के सांसद DNV सेंथिलकुमार S ने मंगलवार (5 दिसंबर, 2023) को कुछ ऐसा कह दिया, जिससे बड़ा विवाद खड़ा हो गया। उन्होंने हिंदीभाषी क्षेत्रों पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर डाली। संसद के शीतकालीन सत्र में लोकसभा में बोलते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा केवल ‘गौमूत्र राज्यों’ में ही जीत सकती है, दक्षिण भारत में नहीं। उन्होंने ‘हिंदी हार्टलैंड’ कहे जा रहे राज्यों पर ये टिप्पणी की। बता दें कि भाजपा ने ताज़ा विधानसभा चुनावों में मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बड़ी जीत दर्ज की है।

इसके बाद भाजपा नेताओं ने कॉन्ग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी से पूछा है कि क्या वो I.N.D.I. गठबंधन के अपने साथी द्वारा उत्तर भारतीयों को लेकर दिए गए इस बयान से सहमत हैं? जम्मू कश्मीर से जुड़े 2 बिलों पर चर्चा करते हुए DNV सेंथिलकुमार S ने ये टिप्पणी की। याद दिला दें कि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री MK स्टालिन के बेटे और राज्य के खेल मंत्री उदयनिधि स्टालिन भी सनातन धर्म को डेंगू-मलेरिया बता कर इसे खत्म करने की बातें कर चुके हैं, जिसके बाद उनका खासा विरोध हुआ था।

अब उनकी पार्टी के सांसद ने कहा है, “जनता को सोचना चाहिए कि भाजपा की ताकत केवल हिंदी हार्टलैंड में चुनाव जीतना है, जिसे हम सामान्य तौर पर ‘गौमूत्र राज्यों’ के नाम से जानते हैं।” बता दें कि तेलंगाना में कॉन्ग्रेस की जीत के बाद भाजपा विरोधी तत्व उत्तर-दक्षिण का विभाजन पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं और सोशल मीडिया पर आपको बहुतेरे ऐसे पोस्ट्स मिल जाएँगे जिनमें दक्षिण भारत को अच्छा और उत्तर भारत को इस आधार पर ख़राब बताया जा रहा है कि दक्षिण के किसी भी राज्य में भाजपा की सरकार नहीं है।

इसी साल कर्नाटक में भी कॉन्ग्रेस ने जीत दर्ज की है। वहीं तमिलनाडु में कॉन्ग्रेस सत्ता की साझीदार है। DNV सेंथिलकुमार S ने कहा, “आप (भाजपा) दक्षिण भारत में नहीं आ सकते। आपने सभी परिणाम देखे हैं कि केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में क्या हुआ। हम वहाँ काफी मजबूत हैं। हमें कोई आश्चर्य नहीं होगा अगर आप इन राज्यों को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने का फैसला ले लें ताकि आप वहाँ अप्रत्यक्ष रूप से शासन कर सकें, क्योंकि आप कभी वहाँ अपने पाँव जमाने और नियंत्रण स्थापित करने का सपना भी नहीं देख सकते।”

तमिलनाडु में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष K अन्नामलाई ने इस बयान को संवेदनहीन करार देते हुए कहा कि DMK नेताओं के बयानों का स्तर गिरता ही जा रहा है और उनका घमंड पार्टी के धरातल में जाने का एक मुख्य कारण होगा। उन्होंने याद दिलाया कि कैसे उत्तर भारतीयों को डीएमके नेताओं ने पानी-पूरी बेचने वाला से लेकर शौचालय बनाने वाला तक कहा। उन्होंने ध्यान दिलाया कि कैसे DMK के कुशासन की वजह से चेन्नई डूब रही है। उन्होंने कहा कि शायद डीएमके सांसद ये भूल गए हैं कि पुडुचेरी में भाजपा शासन में है और कर्नाटक में हाल तक उसका शासन था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -