Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री बने एकनाथ शिंदे, BJP के देवेंद्र फडणवीस ने भी ली...

महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री बने एकनाथ शिंदे, BJP के देवेंद्र फडणवीस ने भी ली डिप्टी सीएम पद की शपथ

इससे पहले मीडिया में रिपोर्ट आई थी कि देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री और एकनाथ शिंदे उप-मुख्यमंत्री होंगे। हालाँकि, भाजपा ने सबको चौंका दिया। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने घोषणा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे होंगे और वे सरकार में शामिल नहीं होंगे।

महाराष्ट्र में सियासी संकट का आज गुरुवार (30 जून 2022) को पटाक्षेप हो गया। उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने मुख्यमंत्री की शपथ ली। वहीं, भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने उप-मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Governor Bhagat Singh Koshyari) ने गुरुवार को शाम 7:30 बजे एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस को उनके पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।

इससे पहले मीडिया में रिपोर्ट आई थी कि देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री और एकनाथ शिंदे उप-मुख्यमंत्री होंगे। हालाँकि, भाजपा ने सबको चौंका दिया। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने घोषणा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे होंगे और वे सरकार में शामिल नहीं होंगे। हालाँकि, केंद्रीय गृहमंत्री अमित और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर कहा कि देवेंद्र फडणवीस भी सरकार में शामिल होंगे।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, “भाजपा अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा जी के कहने पर श्री देवेंद्र फडणवीस जी ने बड़ा मन दिखाते हुए महाराष्ट्र राज्य और जनता के हित में सरकार में शामिल होने का निर्णय लिया है। यह निर्णय महाराष्ट्र के प्रति उनकी सच्ची निष्ठा व सेवाभाव का परिचायक है। इसके लिए मैं उन्होंने हृदय से बधाई देता हूँ।”

वहीं, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर कहा, “भाजपा ने महाराष्ट्र की जनता की भलाई के लिए बड़े मन का परिचय देते हुए एकनाथ शिंदे जी का समर्थन करने का निर्णय किया। श्री देवेन्द्र फडणवीस जी ने भी बड़े मन दिखाते हुए मंत्रिमंडल में शामिल होने का निर्णय किया है, जो महाराष्ट्र की जनता के प्रति उनके लगाव को दर्शाता है।”

बता दें कि एकनाथ शिंदे और उनके समर्थकों के बगावत के बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उद्धव ठाकरे को बहुमत साबित करने के लिए कहा था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के निर्णय बाद ठाकरे ने इस्तीफा दे दिया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

खालिस्तानी अमृतपाल के लिए संसद में पूर्व CM चन्नी की बैटिंग, सिख किसान नेताओं के साथ राहुल गाँधी की बैठक: क्या पका रही है...

बकौल चरणजीत सिंह चन्नी, अमृतपाल पर NSA लगाना 'अभिव्यक्ति की आज़ादी' के खिलाफ है। वो खालिस्तानी अमृतपाल सिंह की गिरफ़्तारी को आपातकाल बता रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -