Sunday, July 21, 2024
Homeराजनीतिधर्म बदलो, शादी कर युवती का धर्मांतरण करो, फिर आतंकवाद के दलदल में धकेलो…...

धर्म बदलो, शादी कर युवती का धर्मांतरण करो, फिर आतंकवाद के दलदल में धकेलो… ‘हिज्ब-उत-तहरीर’ का पैटर्न बता बोले CM शिवराज- MP को केरल नहीं बनने देंगे

'हिज्ब-उत-तहरीर' के आतंकी गिरफ्तार होने के बाद हिंदुओं के धर्मांतरण का नया खेल सामने आया है। ऐसे में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, "मध्य प्रदेश की धरती पर धर्म परिवर्तन और आतंकवाद का कुचक्र नहीं चलेगा, इनको जड़ से नेस्तनाबूद कर देंगे।"

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने धर्म परिवर्तन और आतंकवाद को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा, “मध्य प्रदेश की धरती पर धर्म परिवर्तन और आतंकवाद का कुचक्र नहीं चलेगा, इनको जड़ से नेस्तनाबूद कर देंगे।” उनका यह बयान एटीएस द्वारा आतंकी इस्लामी संगठन हिज्ब-उत-तहरीर (HUT) के 16 सदस्यों को पकड़ने के बाद आया है। पूछताछ में खुलासा हुआ है कि इस संगठन के कुछ सदस्यों ने हिंदू लड़कियों से निकाह कर उन्हें इस्लाम कबूल करवाया है।

मुख्यमंत्री ने रविवार (14 मई 2023) को अपने आ​धिकारिक ट्विटर हैंडल पर वीडियो साझा किया। इसमें वह कह रहे हैं, “मध्य प्रदेश की धरती पर आतंक की कोई जगह नहीं है। हमने पहले भी सिमी के नेटवर्क को ध्वस्त किया है। चंबल से डकैतों के आतंक को समाप्त किया है। नक्सलवाद छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश की सीमा तक सीमित रह गया है। पिछले साल ही 8 नक्सलवादी मुठभेड़ में ढेर किए गए। लेकिन मुझे जैसे ही जानकारी मिली आतंकी संगठन, कट्टरपंथी, इस्लामिक संगठन हिज्ब-उत-तहरीर हमारे प्रदेश में सक्रिय हो रहा है। एटीएस ने तुरंत कार्रवाई प्रारंभ की। एटीएस को निर्देश भी दिए गए कि ऐसे गतिविधियाँ किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इन्हें जड़ से समाप्त करना है।”

शिवराज सिंह चौहान ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा कि इनका नेटवर्क ऐसा है, जो कई लोगों की जिंदगी भी तबाह करता है। इनका पैटर्न है पहले धर्मांतरण करो, धर्मांतरण करके फिर बेटी से शादी करो, फिर उसे भी धर्मांतरित करो और उसके बाद उन्हें आतंकवाद के दलदल में धकेल दो। मध्य प्रदेश को किसी भी कीमत पर हम ‘केरल स्टोरी’ नहीं बनने देंगे।

सीएम ने यह भी कहा कि लव जिहाद और धर्मांतरण का कुचक्र नहीं चलेगा। मध्य प्रदेश की एटीएस की टीम और केंद्रीय एजेंसियों ने संयुक्त रूप से 10 लोग भोपाल से पकड़े, एक छिंदवाड़ा से पकड़ा, सभी पुलिस रिमांड पर हैं। उनसे पूछताछ जारी है। 6 आतंकी हैदराबाद से तेलंगाना पुलिस ने गिरफ्तार किए हैं। एक बड़े नेटवर्क का खुलासा हुआ है।

उन्होंने आगे कहा कि इनमें भोपाल से एक हिंदू धर्मांतरित होकर गया हुआ है। इन सब के तार हिज्ब-उत-तहरीर से जुड़े हुए हैं, जो कट्टरपंथी संगठन है। इनसे पूछताछ में पता चला है कि ये रायसेन से सटे जंगल में ट्रेनिंग कैंप लगाते थे। समाज में घुलने मिलने के लिए इनमें से कोई ट्रेनर होता था। कोई कंप्यूटर टेक्निशियन होता था, कोई दर्जी, कोई ऑटो ड्राइवर इत्यादि का काम कर रहे थे। गिरफ्तार सदस्यों में से एक भोपाल के कोहेफिजा में ऑडिटोरियम ट्यूटोरियल के नाम से कोचिंग सेंटर भी चला रहा था। यह समाज की भोली-भाली बेटियों को फँसाकर शादी करना, उनकी जिंदगी बर्बाद करना और धर्म परिवर्तन जैसे गैर कानूनी काम कर रहे थे। मध्य प्रदेश की धरती पर यह बर्दाश्त नहीं होगा। अभी पूछताछ जारी है। इनको जड़ से नेस्तनाबूद करेंगे।

बता दें कि ATS द्वारा पकड़े गए आतंकी इस्लामी संगठन हिज्ब-उत-तहरीर (HUT) के कुल 16 सदस्यों में से 8 सदस्य ऐसे हैं, जो पहले हिंदू थे। इनका ब्रेनवाश कर उन्हें मुस्लिम बना दिया गया। इस संगठन के कुछ सदस्यों ने हिंदू लड़कियों से शादी कर के उन्हें भी इस्लाम कबूल करवाया है। HUT का प्रमुख मोहम्मद सलीम हैदराबाद से गिरफ्तार किया गया और दूसरा जिम ट्रेनर यासिर खान भोपाल से पकड़ा गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -