Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीतिविपक्षी गठबंधन ने UPA से छुड़ाया पीछा, 26 दलों ने मिल कर बनाया 'INDIA':...

विपक्षी गठबंधन ने UPA से छुड़ाया पीछा, 26 दलों ने मिल कर बनाया ‘INDIA’: मुंबई में होगी अगली बैठक, 11 नेताओं की समिति भी बनेगी

मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया कि भाजपा संविधान को खत्म करना चाहती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी 'टुकड़ों' को जोड़ने में लगे हुए हैं।

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में हुई 26 दलों की बैठक के बाद विपक्षी एकता गठबंधन का नया नामकरण किया गया है – ‘INDIA (Indian National Democratic Inclusive Alliance)’। अब UPA नहीं, बल्कि नए विपक्षी गठबंधन का नाम ‘इंडियन नेशनल डेमोक्रेटिक इंक्लूसिव अलायन्स’ होगा। इसका नेता कौन है, इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। राजद ने इसे ‘देश बचाने की विपक्षी एकता के महाअभियान की शुरुआत’ करार दिया है।

विपक्षी दलों की अगली बैठक मुंबई में होगी। कॉन्ग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने बताया कि मुंबई में होने वाली ‘INDIA’ की बैठक के लिए तारीख़ का ऐलान जल्द कर दिया जाएगा। साथ ही एक 11 सदस्यीय समन्वयक समिति का गठन किया जाएगा, जिसके सदस्यों के नामों की घोषणा मुंबई में ही होगी। हिंदी में विपक्षी एकता गठबंधन का नाम होगा – ‘भारतीय राष्ट्रीय लोकतांत्रिक समावेशी गठबंधन’। खड़गे ने कहा कि देश में लोकतंत्र को बचाने के लिए ये बैठक बहुत महत्वपूर्ण है।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया कि भाजपा संविधान को खत्म करना चाहती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी ‘टुकड़ों’ को जोड़ने में लगे हुए हैं। वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि नए नामकरण के साथ चुनौती की शुरुआत हो गई है। उन्होंने पूछा, “NDA, क्या तुम INDIA को चुनौती दे सकते हो? हम देशभक्त लोग हैं, अपनी मातृभूमि से प्यार करते हैं।” वहीं अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय इतिहास आज के दिन को देशभक्ति और सकारात्मक राजनीति के ‘बेंगलुरु आंदोलन’ के दिन के रूप में याद रखेगा।

वहीं AAP के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि युवा, किसान, कारोबारी और उद्योगपति – सभी NDA सरकार से परेशान हैं। उन्होंने दावा किया कि पिछले 9 वर्षों में भाजपा की सरकार ने सभी सभी क्षेत्रों को बर्बाद कर दिया है, सब कुछ सबसे ऊँची बोली लगाने वालों को बेच दिया गया है। वहीं राहुल गाँधी ने कहा कि भारत की सारी संपत्ति चंद लोगों के हाथ में हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुना है। खड़गे ने मीडिया पर पीएम मोदी का कब्ज़ा होने का दावा करते हुए कहा कि अपने 52 वर्षों के करियर में विपक्ष की आवाज इस तरह से दबाए जाते हुए उन्होंने कभी नहीं देखा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -