Monday, July 26, 2021
Homeराजनीतिनेहरू BJP के थे और जिन्ना RSS के, यही कह रहे हैं राहुल गाँधी

नेहरू BJP के थे और जिन्ना RSS के, यही कह रहे हैं राहुल गाँधी

इससे पहले राहुल गाँधी कुख्यात आतंकी मसूद अज़हर को, 'मसूद अज़हर जी' कहकर सेल्फ गोल कर चुके हैं।

राहुल गाँधी को जो रटा जाए, उसे ही रिपीट मोड में हर जगह दोहराते रहें हैं। फिर चाहे कोई कितना भी तथ्य दे या पूरा का पूरा सच ही सामने क्यों न आ जाए। एक तरफ राहुल का रा-फेल राग अभी भी जहाँ-तहाँ सुनने को मिल ही जाता है। पर अब जब उन्हें लगने लगा है कि इससे मामला बन नहीं रहा तो उन्होंने एक नया राग छेड़ा कि बीजेपी और RSS ने देश को बाँटा।

तो लगे हाथ भाजपा सांसद परेश रावल ने उनसे पूछ ही लिया कि ठीक है बीजेपी और RSS ने देश को बाँटा तो ये तो बता दीजिए कि नेहरू और जिन्ना में से कौन बीजेपी का था और कौन RSS का?

इससे पहले राहुल गाँधी कुख्यात आतंकी मसूद अज़हर को, ‘मसूद अज़हर जी’ कहकर सेल्फ गोल कर चुके हैं। यही राहुल गाँधी प्रधानमंत्री के प्रति अवसाद की हद तक जाकर एक से एक अपमानजनक शब्दों का प्रयोग कर चुके हैं। उनके कल के ‘मसूद अज़हर जी’ वाले बयान पर भी परेश रावल ने चुटकी लेते हुए इसे ‘संस्कार’ की संज्ञा दी है।

कॉन्ग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ‘हाफिज सईद साहब’ तो वहीं ख़ुद सोनिया गाँधी नरेंद्र मोदी को ‘मौत का सौदागर’ कह चुकी हैं।

अभी तो बस चुनाव अभियान शुरू ही हुए हैं, अब देखना ये है कि राहुल गाँधी या कॉन्ग्रेस के अन्य नेता भाषाई मर्यादा का कितना उल्लंघन करते हैं, तथा चुनाव प्रचार के स्तर को और कितना नीचे ले जाते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेगासस पर भड़के उदित राज, नंगी तस्वीरें वायरल होने की चिंता: लोगों ने पूछा – ‘फोन में ये सब रखते ही क्यों हैं?’

पूर्व सांसद और खुद को 'सबसे बड़ा दलित नेता' बताने वाले उदित राज ने आशंका जताई कि पेगासस ने कितनों की नंगी तस्वीर भेजी होगी या निजता का उल्लंघन किया होगा।

कारगिल के 22 साल: 16 की उम्र में सेना में हुए शामिल, 20 की उम्र में देश पर मर मिटे

सुनील जंग ने छलनी सीने के बावजूद युद्धभूमि में अपने हाथ से बंदूक नहीं गिरने दी और लगातार दुश्मनों पर वार करते रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,222FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe