Saturday, July 13, 2024
Homeराजनीतिइंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च होंगे ₹100 लाख करोड़, $5 ट्रिलियन इकॉनमी का बड़ा लक्ष्य: ग्लोबल...

इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च होंगे ₹100 लाख करोड़, $5 ट्रिलियन इकॉनमी का बड़ा लक्ष्य: ग्लोबल बिजनेस फोरम में PM मोदी

PM मोदी ने यह भी कहा कि आज 4 कारक हैं जो भारत को निवेशकों के लिए विश्वसनीय बनाते हैं और भारत को सबसे अलग बनाते हैं- जनतंत्र (Democracy), जनसांख्यिकी (Demography), माँग (Demand) और निर्णायकता (Decisiveness)।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूयॉर्क में ग्लोबल बिजनस फोरम-2019 को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज भारत में फिर वही सरकार है जो अपने पिछले पाँच साल के कार्यकाल में किए गए कामों को लेकर जनता के बीच गई और फिर पहले से ज्यादा सीटों पर जीतकर सत्ता में आई है। अमेरिका में वैश्विक कारोबारियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर आप निवेश करना चाहते हैं तो आपको भारत आना चाहिए। मोदी ने कहा कि हमने इन्सोल्वेंम्सी और बैंकरप्सी से निपटने के लिए सख्त कानून बनाया है। हमने टैक्स रिफॉर्म किए, साथ ही पिछले करीब 370 मिलियन लोगों को बीते चार-पाँच सालों में बैंकिंग से पहली बार जोड़ा गया है।

प्रधानंमत्री मोदी ने कहा कि आज भारत के हर नागरिक के पास यूनीक आईडी और मोबाइल है। इससे योजनाओं का फायदा बिना किसी भ्रष्टाचार के सीधे लोगों तक पहुँच पाया। पीएम ने कहा कि लॉजिस्टिक्स परफॉर्म इंडेक्स में 10 नंबर का उछाल आया है। वर्ल्ड बैंक ईज ऑफ़ डूइंग इंडेक्स में 63 रैकिंग का सुधार हुआ है।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में एक ऐसी सरकार है जो बिजनस वर्ल्ड का और वेल्थ क्रिएशन का सम्मान करती है। पीएम मोदी ने वैश्विक कारोबारियों को भारत में आमंत्रित करते हुए कहा कि यदि आप एक ऐसे बाजार में निवेश करना चाहते हैं जहाँ विकास पैमाना है, तो आप भारत आइए। यदि आप सबसे बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर, इकोसिस्टम और शहरीकरण में से एक में निवेश करना चाहते हैं, तो आप भारत आइए।

ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस फोरम में मोदी ने कहा कि भारत ने देश में सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके उपयोग को बंद करने के लिए एक बड़ा आंदोलन चलाया गया है। 2 अक्टूबर को महात्मा गाँधी की जयंती पर सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ एक राष्ट्रव्यापी अभियान चलाया जाएगा।

पीएम मोदी ने बिजनेस फोरम में बताया कि भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा कोयला भंडार है। हम दुनिया को भारत में कोयला गैसीकरण के लिए अपनी तकनीक लाने के लिए आमंत्रित करते हैं, जो स्वच्छ ऊर्जा का उत्पादन करेगा। जिसे बाद में गैस ऊर्जा के स्रोत के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

पीएम मोदी ने कहा कि बीते 5 सालों में भारत में 286 बिलियन FDI हुआ है। ये बीते 20 साल में भारत के कुल FDI Inflow का आधा है। अमेरिका ने भी जितना FDI बीते दशकों में भारत में किया है, उसका 50% सिर्फ पिछले 4 वर्षों में हुआ है। करीब 90 फीसदी एफडीआई ऑटोमेटिक रूट से हुआ है और 40 फीसदी ग्रीनफील्ड इनवेस्टमेंट है यानी आज इनवेस्टर का भारत पर भरोसा बढ़ा है और वो लंबे समय के लिए आ रहा है।

फोरम में कारोबारियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने कॉरपोरेट सेक्टर में भारी टैक्स कटौती करने का क्रांतिकारी फैसला लिया है। हमने नई सरकार बनने के बाद 50 से ज्यादा उन कानूनों को खत्म कर दिया है, जो कारोबार के मार्ग में बाधा पैदा कर रही थी।

फोरम में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत लगातार देश में बिजनेस का सही माहौल तैयार करने की कोशिश कर रहा है। सड़क, रेल और हवाई सुविधाएँ बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। मॉडर्न इंफ्रास्ट्रक्चर पर हम 1.3 ट्रिलियन डॉलर खर्च करने वाले हैं। सोशल पर 100 लाख करोड़ रुपए होंगे खर्च।

5 ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने 5 ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी बनाने का बड़ा लक्ष्य रखा है। हमने जब सत्ता संभाली तो देश की इकॉनमी 2 ट्रिलियन डॉलर की थी, हमने पिछले 5 सालों में इसमें 1 ट्रिलियन डॉलर और जोड़ा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में ऐसा मौका, ऐसी स्थिति कई दशकों के बाद आई है। जब डेमोक्रेसी हो, राजनीतिक स्थिरता हो, पॉलिसी प्रीडिक्टेबल हो, न्यायिक स्वतंत्रता हो, तो इनवेस्टमेंट की सेफ्टी, सिक्युरिटी और ग्रोथ का भरोसा अपने आप मिलता है।

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि आज 4 कारक हैं जो भारत को निवेशकों के लिए विश्वसनीय बनाते हैं और भारत को सबसे अलग बनाते हैं- जनतंत्र (Democracy), जनसांख्यिकी (Demography), माँग (Demand) और निर्णायकता (Decisiveness)।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

‘आपातकाल तो उत्तर भारत का मुद्दा है, दक्षिण में तो इंदिरा गाँधी जीत गई थीं’: राजदीप सरदेसाई ने ‘संविधान की हत्या’ को ठहराया जायज

सरदेसाई ने कहा कि आपातकाल के काले दौर में पूरे देश पर अत्याचार करने के बाद भी कॉन्ग्रेस चुनावों में विजयी हुई, जिसका मतलब है कि लोग आगे बढ़ चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -